Monday, Jun 17 2019 | Time 10:39 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गुटेरेस ने की केन्या,सोमालिया आतंकी हमलों की निंदा
  • फिल्म जगत की ब्यूटी क्वीन थीं नसीम बानो
  • दक्षिण एशिया में नये आतंकवाद का खतरा : नेपाल
  • ट्रंप ने बस्ती का नाम अपने नाम पर रखने पर नेतन्याहू को दिया धन्यवाद
  • वेनेजुएला में सड़क हादसे में 16 लोगों की मौत
  • हाउती विद्रोहियों का सऊदी हवाई अड्डे पर फिर हमला
  • जापान में 5 2 तीव्रता वाले भूकंप के झटके
  • बागपत पंचायत में फायरिंग,एक की मृत्यु ,तीन घायल
  • बलरामपुर में ट्रैक्टर-ट्राली पलटने से चार लोगों की मृत्यु,19 घायल
  • इजरायल ने गोलन पहाड़ी क्षेत्र में ट्रम्प के नाम पर बस्ती का किया शिलान्यास
  • सीरिया के अलेप्पो प्रांत में आतंकवादी हमले में 12 लोगों की मौत
  • सीरिया के अलेप्पो प्रांत में आतंकवादी हमले में 10 लोगों की मौत
  • तेल टैंकरों पर हमले के लिए ईरान जिम्मेदार: मोहम्मद बिन सलमान
  • रूस में सड़क दुर्घटना में एक की मौत, सात घायल
  • सूडान की सेना ‘टेक्नोक्रेटिक सरकार’ को ही सत्ता की बागडोर सौंपेगी
लोकरुचि


अक्षय तृतीया पर कान्हा को अलंकरित पोशाक धारण कराने की होड़

अक्षय तृतीया पर कान्हा को अलंकरित पोशाक धारण कराने की होड़

मथुरा, 5 मई (वार्ता) अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर ब्रज के मंदिरों में ठाकुर को चंदन की अलंकरित पोशाक धारण कराने की मंदिर सेवायतों में होड़ सी लग जाती है। इस बार अक्षय तृतीया का पर्व सात मई को मनाया जाएगा।

मंदन मोहन मंदिर जतीपुरा (गोवर्धन) के महन्त ब्रजेश मुखिया ने रविवार को यूनीवार्ता को बताया कि ब्रज के मंदिरों में ठाकुर की सेवा यशोदा भाव या वात्सल्य भाव अथवा दास भाव या भक्त भाव या साख्य भाव से की जाती है। गर्मी बढ़ने के साथ मां यशोदा को लाला को गर्मी से बचाने की चिंता हो जाती है इसीलिए वे उसके शरीर में चन्दन लेप कर गर्मी के प्रभाव को कम करने का प्रयास करती हैं।

सप्त देवालयों में राधारमण मंदिर में इस दिन से राजभेाग आरती पहले बत्ती से फिर फूलों से होती है। इसके बाद शरद उत्सव तक फूलों की ही आरती होती है। मंदिर के सेवायत आचार्य दिनेशचन्द्र गोस्वामी ने बताया कि इस दिन चूंकि बहुत अधिक चंदन की आवश्यकता होती है इसलिए एक पखवारा पहले ही चन्दन का घिसना शुरू हो जाता है।

बालस्वरूप में सेवा होने के कारण ठाकुर को गर्मी से बचाने के लिए अक्षय तृतीया के दिन चन्दन में कपूर, केसर मिलाकर और फिर ठाकुर का चंदन के पैजामा, अंगरखी, पगड़ी, पटका बनाकर अद्भुत रूप श्रंगार किया जाता है। लाला को नजर लगने से बचाने के लिए इस दिन झांकी दर्शन होते हैं। इस दिन मंदिर में सतुआ के लड्डू और फलों का भोग लगता है। अक्षय तृतीया का पर्व नजदीक आने के कारण इस पोशाक के लिए ही मंदिरों में चन्दन की लुगदी बनाई जा रही है जहां अन्य मंदिरों में यह लुगदी मंदिर के किसी भाग में चन्दन घिस कर एकत्र की जाती है

सं प्रदीप

जारी वार्ता

More News
असीम संभावानाओं वाला पचनद स्थल उपेक्षा का है शिकार

असीम संभावानाओं वाला पचनद स्थल उपेक्षा का है शिकार

15 Jun 2019 | 11:38 PM

जालौन 15 जून (वार्ता) उत्तर प्रदेश की सूखाग्रस्त बुंदेलखंड की धरती पर जालौन जिला मुख्यालय से महज 55 किलोमीटर की दूरी पर हरे भरे जंगलों और ग्रामीण अंचल के बीच एक ऐसा मनोहारी दर्शनीय स्थल मौजूद है जो एकबार बुंदेलखंड में होने का एहसास ही भुला देता है और वह स्थान है पांच नदियों के संगम से बना “ पचनद स्थल ” ।

see more..
निखिल संग परिणय सूत्र में बंधने जा रही नुसरत

निखिल संग परिणय सूत्र में बंधने जा रही नुसरत

14 Jun 2019 | 6:37 PM

कोलकाता 14 जून (वार्ता ) तृणमूल कांग्रेस सांसद एवं लोकप्रिय बंगाली अभिनेत्री नुसरत जहां शीघ्र ही बिजनेसमैन निखिल जैन के साथ परिणयसूत्र में आबद्ध होने जा रही हैं।

see more..
‘धोपाप’ में श्रीराम को मिली थी ब्रह्मदोष से मुक्ति

‘धोपाप’ में श्रीराम को मिली थी ब्रह्मदोष से मुक्ति

11 Jun 2019 | 12:03 PM

सुलतानपुर, 11 जून (वार्ता) उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले में आदिगंगा गोमती के तट पर स्थित तीर्थ स्थल ‘धोपाप’ के बारे में मान्यता है कि लंका में रावण का वध करने के बाद श्रीराम ने इसी स्थान पर गंगा में डुबकी लगायी थी और उन्हे ब्रह्मदोष से मुक्ति मिली थी।

see more..
मथुरा में 11 जून से होगी निकुंज महोत्सव की शुरूआत

मथुरा में 11 जून से होगी निकुंज महोत्सव की शुरूआत

09 Jun 2019 | 1:15 PM

मथुरा, 09 जून (वार्ता) वृन्दावन के सप्त देवालयों में 11 जून से ग्रीष्मकालीन निकुंज सेवा महोत्सव की शुरूआत होगी। इस दौरान विभिन्न धार्मिक अनुष्ठानों एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।

see more..
सरसईनावर वैटलैंड के सूखने से सारसों का पलायन

सरसईनावर वैटलैंड के सूखने से सारसों का पलायन

08 Jun 2019 | 5:13 PM

इटावा, 08 जून (वार्ता) भीषण गर्मी का प्रकोप झेल रहे उत्तर प्रदेश में इटावा जिले का विख्यात सरसईनावर वैटलैंड सूखने से सारस समेत अन्य पंक्षी पानी की तलाश में यहां से कूच कर गये हैं।

see more..
image