Tuesday, Jul 7 2020 | Time 08:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ब्राजील के राष्ट्रपति बोल्सोनारो में कोरोना के लक्षण
  • पुलवामा में मुठभेड़, आतंकवादी ढेर
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 08 जुलाई)
  • ब्राजील में कोरोना से 65 हजार से अधिक लोगों की मौत
  • अटलांटा की मेयर किशा लांस कोरोना से संक्रमित
  • बलूचिस्तान में जहरीली गैस के रिसाव से सात लोगों की मौत
  • अमेरिका में कोरोना से अबतक 29 लाख से अधिक लोग संक्रमित
  • बंगलादेश में कोरोना से दो हजार से अधिक लोगों की मौत
  • इंडोनेशिया में भूकंप के जबरदस्त झटके
  • जापान में बाढ़ और भूस्खलन से 44 लोगों की मौत,कई लापता
  • बलूचिस्तान में जहरीली गैस के रिवास से सात लोगों की मौत
  • काबुल में 4 6 तीव्रता के भूकंप के झटके
  • ऑस्ट्रेलिया में कोरोना से अबतक 106 संक्रमितों की मौत
  • अरुणाचल में कोरोना वायरस से दूसरी मौत
  • जापान में बाढ़ और भूस्खलन से 44 लोगों की मौत,कई लापता
राज्य » उत्तर प्रदेश


अखाड़ा परिषद ने कहा योगी हों ट्रस्ट के सदस्य

अखाड़ा परिषद ने कहा योगी हों ट्रस्ट के सदस्य

प्रयागराज,13 नवंबर (वार्ता) साधु संतो की जानी मानी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेन्द्र गिरी ने राम मंदिर के बनने वाले ट्रस्ट में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और गोरक्ष पीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ को शामिल करने की मांग की है।

मंहत ने बुधवार को कहा कि अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि पर उच्चतम न्यायालय का दशकों पुराने मामले का सौहार्दपूर्ण तरीके से समाधान करना स्वागत योगय है। न्यायालय ने तीन महीने के अन्दर केन्द्र सरकार को मंदिर निर्माण प्रक्रिया के लिए कमेटी गठित करने का आदेश दिया है।

परिषद के अध्यक्ष ने कहा कि राम मंदिर आंदोलन में गोरक्ष पीठ के महंत और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गुरू अवैद्यनाथ का बहुत बड़ा योगदान रहा है। उन्होने कहा कि योगी आदित्यनाथ को सूबे के मुख्यमंत्री के अधिकार से नहीं अपितु गोरक्ष पीठ के पीठाधीश्वर की हैसियत से मंदिर ट्रस्ट में शामिल किया जाना चाहिये ।

राम मंदिर ट्रस्ट में सनातन धर्म के अलावा किसी दूसरे धर्मावलम्बी को सदस्य बनाए जाने पर एतराज करते हुए श्री गिरी ने कहा कि सैकडों वर्षों से अधिक लंबे संघर्ष के बाद अयोध्या में रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद का पटाक्षेप हुआ है। ट्रस्ट में किसी मुस्लिम या दूसरे धर्म के लोगों को शामिल करना भविष्य में किसी प्रकार के विवाद को जन्म दे सकता है। परिषद ऐसे किसी भी कदम का पुरजोर विरोध करेगा।

दिनेश विनोद

वार्ता

image