Wednesday, Jun 3 2020 | Time 05:06 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इजरायल में एक माह बाद कोरोना के सर्वाधिक नये मामले
  • मिस्र में कोविड-19 से एक दिन में रिकाॅर्ड 47 लोगों की मौत
  • फ्रांस में कोविड-19 से करीब 29 हजार लोगों की मौत
  • जेसिका लाल हत्याकांड का दोषी मनु शर्मा रिहा
  • इजरायल ने नयी बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया
  • ओमान में कोरोना के 576 नये मामले, कुल 12,799 संक्रमित
  • विश्व में कोरोना संक्रमितों की संख्या 63 25 लाख हुई, 3 77 लाख की मौत
दुनिया


अमेरिका आईएनएफ प्रतिबंधित मिसाइलों को प्रशांत क्षेत्र में कर सकता है तैनात : रूस

बीजिंग,21 अक्टूबर(वार्ता) रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शिगोऊ ने साेमवार को कहा कि इस बात की आशंका है कि मध्यम दूरी परमाणु शक्ति संधि(आईएनएफ) के तहत प्रतिबंधित कम दूरी और मध्यम दूरी तक मारक क्षमता वाली मिसाइलों को अमेरिका प्रशांत क्षेत्र में तैनात कर सकता है और इस कदम से क्षेत्र में तनाव और बढ़ सकता है।
गौरतलब है कि अमेरिका दो अगस्त को इस संधि से पीछे हट गया था और इसका कारण उसने रूसी उल्लंघन बताया था तथा यह भी कहा था कि चीन इसमें शामिल हाेने की मजबूरी दर्शा रहा है। अमेरिका के इस फैसले की रूस और अनेेक देशों ने जोरदार निंदा की थी।
श्री शिगाेऊ ने सुरक्षा मामलों पर नौंवी जियांगशान फाेरम को संंबोधित करते हुए कहा,“ इस बात की आशंकाएं है कि उस संधि के तहत पहले जिन मिसाइलों को प्रतिबंधित किया गया था उन्हें अब अमेरिका प्रशांत क्षेत्र में तैनात कर सकता है और इससे तनाव में इजाफा हो सकता है। ऐसे किसी भी फैसले से हथियारों की दौड़ को अनावश्यक रूप से बढावा मिलेगा और किसी भी तरह की विवाद को बढ़ावा देने वाली घटना से इनकार नहीं किया जा सकता है।”
उन्होंने कहा कि जो देश अपनी सीमाओं पर अमेरिकी मिसाइलों को तैनात करने की अनुमति देंगी वे अमेरिकी विदेश नीति की बंधक बन जाएंगे और रूस को इस पर आपत्ति है।
रक्षा मंत्री ने कहा कि हम क्षेत्रीय स्थिरता और सभी पक्षों में सहयोग तथा विश्वास को बढ़ावा देने के लिए बातचीत के लिए तैयार हैं।
जितेन्द्र आशा
वार्ता
image