Monday, Dec 16 2019 | Time 12:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • राजकोट में तेजाब पीकर किशोरी ने की खुदकुशी
  • समुद्र में डूबी तीन नौकाएं, तीन मछुआरों के शव मिले, एक लापता
  • नवंबर में 0 58 प्रतिशत रही थोक मुद्रास्फीति की दर
  • पायल रोहतगी को जेल भेजा
  • मोदी ने बंगलादेश की आजादी की लड़ाई में शहीद हुए जवानों को किया नमन
  • स्टालिन ने की जामिया छात्रों पर पुलिस हमले की निंदा
  • नवंबर 2019 में थोक मुद्रास्फीति की दर 0 58 प्रतिशत पर
  • सीएए के खिलाफ याचिकाओं की सुनवाई बुधवार को
  • पाकिस्तान में अमाल की मौत को लेकर विरोधाभास
  • झारखंड में 15 सीटों के लिए जारी मतदान में पड़े 28 56 प्रतिशत वोट
  • झारखंड में 15 सीटों के लिए जारी मतदान में पड़े 28 56 प्रतिशत वोट
  • माचो मैन के तौर पर पहचान बनायी जॉन अब्राहम ने
  • माचो मैन के तौर पर पहचान बनायी जॉन अब्राहम ने
  • माचो मैन के तौर पर पहचान बनायी जॉन अब्राहम ने
  • कॉमेडी फिल्म में काम करेंगे राजकुमार राव
दुनिया


अमेरिका ने म्यांमार के शीर्ष सैन्य अधिकारी पर लगाया प्रतिबंध

वाशिंगटन 17 जुलाई (वार्ता) अमेरिका ने मानवाधिकार के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए म्यांमार सेना के कमांडर इन-चीफ ए हलींग और तीन शीर्ष अधिकारियों पर प्रतिबंध लगा दिया है। म्यांमार सरकार और सेना ने अमेरिका के इस कदम की कड़ी निंदा की है।
बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार शीर्ष सैन्य अधिकारी और उनके परिजनों की अमेरिकी यात्रा पर पाबंदी लगा दी गयी है।
अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा है कि इसका पूरा सबूत है कि 2017 में रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा में प्रतिबंधित किये गये म्यांमार के सैन्य अधिकारियों की संलिप्तता थी और इन अधिकारियों की उनके विरुद्ध क्रूरता जारी रही।
श्री पोम्पियो ने कहा कि वर्ष 2017 में इन दिल गांव में फर्जी मुठभेड़ में लोगों की हत्या के दोषी सेना के जवानों को रिहा करने के आदेश देने के कारण कमांडर इन-चीफ पर प्रतिबंध लगाया गया है। उन्होंने कहा कि दोषी जवानों को बहुत ही कम समय के लिए जेल में रखा गया था जबकि नरसंहार की जांच करने वाले समाचार एजेंसी रायटर के पत्रकार वा लोन और केएसओए को 16 माह से अधिक समय तक जेल में कैद करके रखा गया था। पत्रकारों पर गुप्त सरकारी दस्तावेज प्राप्त करने का आरोप था।
म्यांमार सरकार और सेना ने अमेरिकी प्रतिबंधों की कड़ी निंदा की है। ब्रिगेडियर जनरल जेड मिन ने एक समाचार एजेंसी से कहा कि सेना की वर्ष 2017 हिंसा की जांच जारी है।
उल्लेखनीय है कि 2017 में हिंसक घटनाओं के कारण सात लाख रोहिंग्या मुसलमानों ने देश से पलायन किया था।
आशा.श्रवण
वार्ता
More News
लेबनान में हिंसक झड़पों में 77 घायल

लेबनान में हिंसक झड़पों में 77 घायल

16 Dec 2019 | 10:40 AM

बेरूत 16 दिसंबर (शिन्हुआ) लेबनान की राजधानी बेरूत में सेना और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई हिंसक झड़पों में 54 प्रदर्शनकारियों के अलावा 23 सैनिक घायल हो गए।

see more..
बीजिंग में हिमपात के कारण 40 से अधिक उड़ानें रद्द

बीजिंग में हिमपात के कारण 40 से अधिक उड़ानें रद्द

16 Dec 2019 | 9:24 AM

बीजिंग 16 दिसंबर (स्पूतनिक) चीन की राजधानी बीजिंग में रविवार से हो रही हिमपात के कारण सोमवार को अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 40 से अधिक उड़ानों को रद्द कर दिया गया।

see more..
इराक में इस्लामिक स्टेट के हमले में दो पुलिसकर्मियों की मौत

इराक में इस्लामिक स्टेट के हमले में दो पुलिसकर्मियों की मौत

16 Dec 2019 | 9:05 AM

बगदाद 16 दिसंबर (वार्ता) इराक के उत्तरी प्रांत किरकुक में रविवार को इस्लामिक स्टेट (आईएस) के आतंकवादियों ने हमला कर दो पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी।

see more..
हांगकांग में प्रदर्शन, पुलिस ने किया आंसू गैस का इस्तेमाल

हांगकांग में प्रदर्शन, पुलिस ने किया आंसू गैस का इस्तेमाल

16 Dec 2019 | 8:45 AM

हांगकांग 16 दिसंबर (स्पूतनिक) हांगकांग पुलिस ने रविवार रात सड़कों पर मौजूद प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गाेले छोड़े और मिर्ची वाले धुंए का इस्तेमाल किया।

see more..
image