Thursday, Jan 23 2020 | Time 23:51 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ‘जय हिंद’ केवल नारा नहीं, सर्वोच्च सम्मान का प्रतीक : हेमंत
  • ट्रक ने साइकिल में मारी ठोकर, वृद्ध की मौत
  • हत्या कर चौर में फेंका गया शव बरामद
  • मोदी प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित बच्चों से करेंगे बातचीत
  • सुभाषचंद्र बोस है युवाओं के प्रेरणा स्रोत : कुलपति
  • बिहार में भारी मात्रा में शराब बरामद, 11 गिरफ्तार
  • सुरक्षा बल और हौसी विद्रोहियों के बीच संघर्ष में 10 मरे
  • बुरुगुलीकेरा हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, पांच दिन में सौंपेगी पहली रिपोर्ट
  • शाह ने मटियाला विस से भाजपा प्रचार अभियान शुरू किया
  • बुरुगुलीकेरा हत्याकांड से दुखी हेमंत ने मंत्रिमंडल विस्तार की तिथि बढ़ाने का राज्यपाल से किया आग्रह
  • सेना प्रमुख ने जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल से की मुलाकात
  • शांतिपूर्ण आंदोलनों की मौजूदा लहर लोकतंत्र की जड़ों को बनाएगी मज़बूत: प्रणव
  • मथुरा में यमुना एक्सप्रेस-वे पर बदमाशों ने की दो कार सवारों से लूटपाट
  • गुजरात के नाराज भाजपा विधायक केतन इनामदार ने इस्तीफा वापस लेने की घोषणा की
  • एटीएम कार्ड के क्लोनिंग करने वाले गिरोह के चार सदस्य लखनऊ से गिरफ्तार
भारत


आईआईएफसीएल की अधिकृत पूंजी 25 हजार करोड़ रुपए

आईआईएफसीएल की अधिकृत पूंजी 25 हजार करोड़ रुपए

नयी दिल्ली 11 दिसंबर (वार्ता) केंद्रीय मंत्रिमंडल ने सार्वजनिक क्षेत्र की वित्त कंपनी इंडिया इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर फाइनेंस कंपनी लिमिटेड (आईआईएफसीएल) को इक्विटी सहायता देने और अधिकृत पूंजी को 6000 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 25 हजार करोड़ करने के प्रस्‍ताव को मंजूरी दी है।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में आईआईएफसीएल की अधिकृत पूंजी को 6,000 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 25,000 करोड़ रुपये करने स्‍वीकृति देने के प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया। आईआईएफसीएल को वित्‍त वर्ष 2019-20 में 5,300 करोड़ रुपये और वित्‍त वर्ष 2020-21 में 10,000 करोड़ रुपये की अतिरिक्‍त इक्विटी सहायता देने के प्रस्‍ताव को मंजूरी दे दी है। यह काम नियमित बजटीय सहायता के जरिये और पुनर्पूंजीकरण बांडों को जारी करके पूरा किया जाएगा। आर्थिक मामलों का विभाग इसके समय के साथ-साथ नियमों और शर्तों को तय करेगा।

इससे आईआईएफसीएल को उधारी के लिए अतिरिक्‍त गुंजाइश करने में मदद मिलेगी, जिससे यह अगले पांच वर्षों में बुनियादी क्षेत्र में 100 लाख करोड़ रुपये निवेश करने संबंधी सरकार के लक्ष्‍य के अनुरूप बड़ी बुनियादी ढांचागत परियोजनाओं के वित्‍त पोषण में समर्थ हो जाएगी।

सत्या

वार्ता

More News
ट्रंप के बयान को भारत ने किया खारिज

ट्रंप के बयान को भारत ने किया खारिज

23 Jan 2020 | 11:37 PM

नयी दिल्ली 23 जनवरी (वार्ता) भारत ने जम्मू कश्मीर को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बयान को आज सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि इस मुद्दे पर किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं है और भारत से इस पर द्विपक्षीय बात करने के लिए उचित वातावरण बनाने की जिम्मेदारी पाकिस्तान की है।

see more..
मालदीव में 30 हजार एमआर टीके भेजे भारत ने

मालदीव में 30 हजार एमआर टीके भेजे भारत ने

23 Jan 2020 | 11:17 PM

नयी दिल्ली 23 जनवरी (वार्ता) भारत ने मालदीव में खसरे के प्रकोप के मद्देनज़र वहां की सरकार के अनुरोध पर खसरा एवं रुबेला (एमआर) के 30 हजार टीके तत्काल भेज दिये हैं।

see more..
दुनिया को गुमराह करने से बाज़ नहीं आ रहा पाकिस्तान : भारत

दुनिया को गुमराह करने से बाज़ नहीं आ रहा पाकिस्तान : भारत

23 Jan 2020 | 11:02 PM

नयी दिल्ली 23 जनवरी (वार्ता) भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के दावोस में दिये गये बयान को उनकी हताशा का प्रतीक बताया है और कहा है कि वे अपने देश की इतनी खराब हालत के बावजूद दुनिया को गुमराह करने से बाज़ नहीं आ रहे हैं।

see more..
शाह ने मटियाला विस से भाजपा प्रचार अभियान शुरू किया

शाह ने मटियाला विस से भाजपा प्रचार अभियान शुरू किया

23 Jan 2020 | 10:54 PM

नयी दिल्ली 23 जनवरी (वार्ता) केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को दिल्ली की जनता से पांच साल नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार बनाने की अपील करते हुए कहा कि देश की राजधानी को विश्व की सुंदरतम नगरी में शुमार कर देंगे।

see more..
शांतिपूर्ण आंदोलनों की मौजूदा लहर लोकतंत्र की जड़ों को बनाएगी मज़बूत: प्रणव

शांतिपूर्ण आंदोलनों की मौजूदा लहर लोकतंत्र की जड़ों को बनाएगी मज़बूत: प्रणव

23 Jan 2020 | 11:37 PM

नयी दिल्ली, 23 जनवरी (वार्ता) पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने गुरुवार को कहा कि देश मे शांतिपूर्ण आंदोलनों की मौजूदा लहर एक बार फिर लोकतंत्र की जड़ों को गहरा और मजबूत बनाएगी।

see more..
image