Wednesday, Nov 20 2019 | Time 12:22 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • राजनाथ ने सिंगापुर में शहीदों को दी श्रद्धांजलि
  • सेंसेक्स पहली बार 40,800 अंक के पार
  • खाड़ी क्षेत्र में और जवानों की तैनाती के ट्रंप के आदेश
  • गिर वन में मालधारी पर हमला करने वाली शेरनी का शव मिला
  • चिदम्बरम की जमानत याचिका पर ईडी को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस
  • मोदी सरकार किसानों को लेकर गंभीर : तोमर
  • अर्जेंटीना में भूकंप के जोरदार झटके
  • आईएनएक्स मामला: चिदम्बरम की याचिका पर ईडी को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस
  • एक्सपेरिमेंटल मूवीज नहीं कर सकते हैं ऋषि कपूर
  • एक्सपेरिमेंटल मूवीज नहीं कर सकते हैं ऋषि कपूर
  • एक्सपेरिमेंटल मूवीज नहीं कर सकते हैं ऋषि कपूर
  • फुटबॅाल खेलने की शौकीन हैं सनी लियोनी
  • फुटबॅाल खेलने की शौकीन हैं सनी लियोनी
  • फुटबॅाल खेलने की शौकीन हैं सनी लियोनी
भारत


आरे कॉलोनी मामले में अगली सुनवाई तक यथास्थिति बरकरार

आरे कॉलोनी मामले में अगली सुनवाई तक यथास्थिति बरकरार

नयी दिल्ली 21 अक्टूबर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने मुंबई की आरे कॉलोनी में पेड़ों की कटाई के मामले में यथास्थिति बरकरार रखने का आदेश दिया है।

न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ ने सोमवार को इस मामले की सुनवाई के दौरान यह आदेश दिया।

इस मामले की अगली सुनवाई अब 15 नवंबर को होगी और तब तक न ही कोई पेड़ काटा जाएगा और न ही निर्माण कार्य रूकेगा।

शीर्ष न्यायालय ने मुंबई मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एमएमआरसीएल) से आरे कॉलोनी इलाके में वृक्षारोपण, ट्रांसप्‍लांटेशन और पेड़ों की कटाई पर तस्‍वीरों के साथ स्थिति रिपोर्ट मांगी है। न्यायालय ने यह भी कहा कि मेट्रो कार शेड के निर्माण कार्य पर कोई रोक नहीं लगेगी।

शीर्ष न्यायालय ने एमएमआरसीएल और मुंबई कॉरपोरेशन से पूछा है कि क्या इस इलाके में कोई व्यावसायिक परियोजना भी प्रस्तावित है? न्यायालय ने कहा कि हम केवल इतने ही क्षेत्र से नहीं बल्कि पूरे इलाके को देखना चाहते हैं।

मुंबई मेट्रो की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने पीठ को बताया कि दिल्ली में मेट्रो के कारण ही सात लाख गाड़ियां सड़क से नदारद हैं, जिससे वायु प्रदूषण कम होता है।

कानून के छात्रों के संगठनों ने मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को पत्र लिखकर इस मामले में हस्तक्षेप करने के लिए कहा था। उच्चतम न्यायालय ने इस मामले में स्वत: संज्ञान लेेते हुए मामले की सुनवाई के लिए विशेष पीठ गठित की है।

दरअसल, चार अक्‍टूबर को बंबई उच्च न्यायालय ने आरे कॉलोनी को वन क्षेत्र घोषित करने से इनकार कर दिया था और पेड़ों की कटाई पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। इसके बाद एमएमआरसीएल की ओर से बड़ी संख्‍या में पेड़ों के काटे जाने की रिपोर्टें आईं। पेड़ों की कटाई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गयी थी। सात अक्‍टूबर को उच्चतम न्यायालय ने आदेश जारी किया था कि आरे कॉलोनी में मेट्रो कारशेड के निर्माण कार्य में आगे कोई पेड़ नहीं काटे जाएंगे।

रवि टंडन

वार्ता

More News
चिदम्बरम की जमानत याचिका पर ईडी को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस

चिदम्बरम की जमानत याचिका पर ईडी को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस

20 Nov 2019 | 11:17 AM

नई दिल्ली, 20 नवंबर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने आईएनएक्स मीडिया धनशोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम की जमानत याचिका पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को बुधवार को नोटिस जारी किए।

see more..
जम्मू-कश्मीर में संचार साधनों पर प्रतिबंध के खिलाफ सुनवाई गुरुवार तक के लिए स्थगित

जम्मू-कश्मीर में संचार साधनों पर प्रतिबंध के खिलाफ सुनवाई गुरुवार तक के लिए स्थगित

19 Nov 2019 | 11:56 PM

नयी दिल्ली, 19 नवंबर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के बाद राज्य में इंटरनेट और संचार के अन्य साधनों पर प्रतिबंध लगाने के खिलाफ कश्मीर टाइम्स की कार्यकारी संपादक अनुराधा भसीन और अन्य की तरफ से दायर जनहित याचिका की सुनवाई गुरुवार तक के लिए स्थगित कर दी है।

see more..
सुरक्षित घर और पड़ोस बनाने की आवश्यकता:ईरानी

सुरक्षित घर और पड़ोस बनाने की आवश्यकता:ईरानी

19 Nov 2019 | 11:53 PM

नयी दिल्ली 19 नवंबर (वार्ता) केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने मंगलवार को कहा कि महिलाओं और बच्चों को हिंसा और दुर्व्यवहार से बचाने के लिए उनके घरों और पास पड़ोस में सुरक्षा सुनिश्चित करना तात्कालिक आवश्यकता है।

see more..
पर्यावरण संरक्षण के इंदिरा के सपने को आगे बढाएंगे : सोनिया

पर्यावरण संरक्षण के इंदिरा के सपने को आगे बढाएंगे : सोनिया

19 Nov 2019 | 11:53 PM

नयी दिल्ली, 19 नवंबर (वार्ता) कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने पर्यावरण, वन्य जीव तथा वन भूमि संरक्षण के लिए असाधारण योगदान दिया और उनके काम को आगे बढ़ाने के वास्ते निरंतर काम किया जाएगा।

see more..
image