Saturday, May 30 2020 | Time 21:15 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • होम क्वारंटाइन लोगों की भी हो नियमित निगरानी : नीतीश
  • सुपौल में सड़क दुर्घटना में महिला की मौत
  • जनधन योजना का खाता खुलवाने के लिए रिश्वत ले रहा बैंक एजेंट गिरफ्तार
  • प्रयास ने मूर्तरूप लिया, श्रमिक भाई मेरा जोहार स्वीकार करें: हेमन्त
  • कश्मीर के बेमिना में रिकार्ड 200 मरीज ठीक हुए
  • स्कूली छात्रा को जलाने के आरोप में अन्नाद्रमुक के पूर्व कार्यकर्ता गिरफ्तार
  • कोरोना गुजरात मामले दो अंतिम गांधीनगर
  • 27 और मरे, कुल मौतों का आंकड़ा 1000 के पार, मामलों की संख्या 16 हजार के ऊपर
  • भाजपा नेताओं के बीच कोई गलतफहमी नहीं: कटील
  • मणिनगर,साबरमती स्टेशनों पर नहीं रुकेंगी स्पेशल ट्रेंने
  • दिल्ली मेट्रो की सेवाएं यात्रियों के लिए अगले नोटिस तक बंद
  • पश्चिम बंगाल में 15 जून तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, शर्तों के साथ मिलेंगी कुछ रियायतें
  • जुलाई में तय होगा तलाकशुदा महिला स्वतंत्रता सेनानी फैमिली पेंशन की हकदार या नहीं?
  • मनरेगा में कार्य दिवस दो सौ दिन किए जाएं-गहलोत
दुनिया


इजरायल चुनाव : नेतान्याहू और विपक्षी पार्टी में कांटे की टककर

तेल अवीव, 18 सितंबर (स्पूतनिक) इजरायल में मंगलवार को संपन्न हुए आम चुनावों के बाद बुधवार को जारी वोटों की गिनती लगभग 92 प्रतिशत हो चुकी है और एक्जिट पोल के अनुसार प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू की पार्टी तथा प्रमुख विपक्षी पार्टी के बीच कांटे की टक्कर है।
इजरायल में मंगलवार को देश की 120 सीटों पर चुनाव हुए। एक्जिट पोल के नतीजों में किसी भी पार्टी को बहुमत मिलता दिखाई नहीं दे रहा है।
श्री नेतान्याहू की पार्टी लिकुड को एक्जिट पोल में 31 से 33 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं और बैनी गांट्ज के नेतृत्व में ब्लू और व्हाइट गठबंधन को 32 से 34 सीटें मिलने का अनुमान है जबकि पूर्व रक्षा मंत्री अविगडोर लिए बेर्मन को आठ से 10 सीटें मिल सकती हैं।
चुनावों के नतीजे यदि एक्जिट पोल के अनुरूप आते हैं, जैसे कि कयास लगाए जा रहे हैं तो ब्लू और व्हाइट गठबंधन बेर्मन के साथ मिल कर सरकार बना सकते हैं।
देश में सरकार बनाने के लिए किसी भी दल को कम से कम 61 सीटें चाहिए और एक्जिट पोल में किसी भी दल के अपने दम पर सरकार बनाने के आसार बेहद कम हैं।
प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इन चुनावों को लेकर कहा है कि देश एतिहासिक दौर से गुजर रहा है।
श्री नेतन्याहू ने मंगलवार को अपने समर्थकों काे संबोधित करने के दौरान कहा, “ हम अभी भी चुनाव के नतीजों की प्रतीक्षा कर रहे हैं लेकिन कहीं न कहीं हम अपनी जीत को लेकर आश्वस्त हैं। इजराइल एेतिहासिक दौर से गुजर रहा है।”
उन्होंने कहा, “ देश को अरब की यहूदी विरोधी पार्टियों की जरूरत है नहीं है जो इजराइल में यहूदियों के अस्तित्व के होने से इंकार करती है तथा न ही लोकतंत्र में विशवास रखती है। देश को एक मजबूत सरकार की आवश्यकता है। ”
उल्लेखनीय है कि इस वर्ष अप्रैल में हुए चुनावों में श्री नेतन्याहू के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार के गिर जाने की वजह से देश में फिर से चुनाव कराने की स्थिति बनी है। इजरायल के सबसे ज्यादा समय तक प्रधानमंत्री रहने वाले श्री नेतान्याहू के राजनीतिक भाग्य के लिए यह चुनाव बेहद अहम माना जा रहा है क्योंकि उन पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हुए हैं।
जतिन.श्रवण
स्पूतनिक
image