Monday, Jul 13 2020 | Time 06:00 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • निकारागुआ के विला एल कारमेन पर भूकंप के तेज झटके
  • अमेरिका की नौसेना के सैन डिएगो बेस पर आग लगने से 21 लोग घायल
  • ब्राजील में कोरोना मृतकों की संख्या 72100 पहुंची
  • तुर्की में कोरोना के 1012 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 212,993 हुई
  • यमन में हवाई हमले में 10 नागरिकों की मौत-हाउती टीवी
  • चीन में बाढ़ से 141 लोगों की मौत
  • महाराष्ट्र के प्रत्येक जिले में होगी कोरोना प्रयोगशाला- ठाकरे
लोकरुचि


इटावा सफारी के लिए शेरों को एयरलिफ्ट कराने की तैयारी

इटावा सफारी के लिए शेरों को एयरलिफ्ट कराने की तैयारी

इटावा , 04 मई (वार्ता) इटावा सफारी पार्क में गुजरात से शेरों को हवाई मार्ग से लाने की तैयारी चल रही है। जूनागढ़ से आठ शेरों को एयर लिफ्ट कराने के लिये वन विभाग ने सेना से अनुमति मांगी है।


      सफारी पार्क के निदेशक वी.के.सिंह ने शनिवार को बताया कि जूनागढ़ से शेरों को एयरलिफ्ट कराए जाने के लिए सेना से अनुमति मांगी गई है। अनुमति मिलने पर मालवाहक विमानों से उन्हें लाया जाएगा। इसके लिए वजन आदि भी करा लिया गया है ।

      उन्होने बताया कि गर्मी के कारण फिलहाल शेरों को सड़क मार्ग से लाने से बचा जा रहा है ताकि शेरों को कोई कठिनाई न हो। उत्तर प्रदेश और गुजरात की सरकारों में जूनागढ़ से पांच मादा और तीन नर शेर लेने की सहमति बन गई है। इस पर चुनाव आयोग की अनुमति भी मिल गई है लेकिन भीषण गर्मी को देखते हुए अब इन शेरों को हवाई मार्ग से लाने की तैयारी चल रही है ।

      श्री सिंह ने बताया कि इस संबंध में प्रदेश की प्रमुख सचिव वन कल्पना अवस्थी ने वन सेना को पत्र लिखा है और अनुमति मांगी है । शेरों को माल वाहक विमानों से गुजरात से सैफई तक लाया जाएगा । सैफई हवाई पट्टी पर विमान से शेरों को उतारकर फिर सड़क मार्ग से इटावा सफारी लाया जाएगा । इनमें से कुछ शेर गोरखपुर में निर्माणाधीन चिड़ियाघर में भेजे जाएंगे और कुछ इटावा में ही रह जाएंगे ।

 श्री सिंह ने बताया कि फिलहाल सेना की अनुमति का इंतजार किया जा रहा है । यह अनुमति मिल गई तो शेरों को एयरलिफ्ट कराने का रास्ता साफ हो जाएगा। शेरों को लाए जाने की प्रक्रिया काफी समय से चल रही है । पहले इन्हें नवरात्र में लाए जाने की तैयारी थी, लेकिन उस समय तक चुनाव आयोग की परमीशन नहीं मिल सकी थी। बाद में चुनाव आयोग की हरी झंडी मिल गई, लेकिन तब गर्मी की अधिकता के कारण सड़क मार्ग से शेरों को लाने का कार्य स्थगित कर दिया गया ।

       उन्होने बताया कि शेरों को एयरलिफ्ट कराने का यह कोई पहला मामला नहीं होगा इससे पहले भी वन्यजीवों को हवाई मार्ग से लाया जा चुका है । वर्ष 1984 में दुधवा पार्क में गुवाहटी से गेंडा हवाई मार्ग से लाए गए थे। पारीक्षा में भी कुछ वन्यजीवों को हवाई मार्ग से लाया गया था। अब सफारी के लिए शेरों के एयरलिफ्ट होने का इंतजार है।

      निदेशक ने बताया कि जूनागढ़ से इटावा शेरों को राजस्थान के रास्ते लाए जाने का कार्यक्रम था । उदयपुर,अजमेर के रास्ते इन शेरों को इटावा लाया जाना था लेकिन गुजरात, राजस्थान तथा उत्तर प्रदेश में भीषण गर्मी के चलते शेरों की सेहत को देखते हुए इन्हें सड़क मार्ग से लाने का कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया । हालांकि इसके लिए पिंजड़े तथा वाहन भी तैयार कर लिए गए थे ।

More News
कोरोना ने छीनी ब्रज की पावन भूमि की रौनक

कोरोना ने छीनी ब्रज की पावन भूमि की रौनक

12 Jul 2020 | 4:07 PM

मथुरा 12 जुलाई (वार्ता) ब्रजभूमि के मंदिरों में तड़के चार बजे से घंटे घड़ियाल बजने की प्रतिध्वनि गूंजने लगती थी तथा धार्मिक आयोजनों की होड़ लग जाती थी, कोरोना संक्रमण ने उस पावन भूमि की रौनक छीन ली है।

see more..
विदेशी फल लौंगन की नई किस्म का विकास

विदेशी फल लौंगन की नई किस्म का विकास

12 Jul 2020 | 2:20 PM

नयी दिल्ली 12 जुलाई ( वार्ता) वैज्ञानिकों ने देश में पहली बार लीची जैसे स्वादिष्ट विदेशी फल लौंगन की एक किस्म का विकास कर लिया है जो न केवल रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है बल्कि कैंसर रोधी के साथ-साथ विटामिन सी और प्रोटीन से भरपूर भी है ।

see more..

कचौड़ी की दीवानगी कोरोना को दे रही है दावत

11 Jul 2020 | 4:13 PM

मथुरा 11 जुलाई (वार्ता) उत्तर प्रदेश में कान्हा नगरी मथुरा की मशहूर कचौड़ी के दीवाने ब्रजवासी अंजाने में ही कोरोना वायरस के संक्रमण को निमंत्रण दे रहे हैं।

see more..
भोजपुरी के शेक्सपियर भिखारी ठाकुर : उस्तरे से उस्ताद तक का सफर

भोजपुरी के शेक्सपियर भिखारी ठाकुर : उस्तरे से उस्ताद तक का सफर

10 Jul 2020 | 5:45 PM

पटना 10 जुलाई (वार्ता) अपने नाटकों और गीत-नृत्यों के माध्यम से भोजपुरी समाज की समस्याओं और कुरीतियों को सहज तरीके से नाच के मंच पर प्रस्तुत करने वाले भोजपुरी के ‘शेक्सपियर’ महान साहित्यकार भिखारी ठाकुर ने भोजपुरी भाषा को लोकप्रिय बनाकर पूरी दुनिया में उसका प्रसार किया।

see more..
मनमोहक आम हैं अम्बिका और अरुणिका

मनमोहक आम हैं अम्बिका और अरुणिका

10 Jul 2020 | 4:16 PM

नयी दिल्ली 10 जुलाई (वार्ता) वैज्ञानिकों ने फलों के राजा आम की दो ऐसी किस्में विकसित की है जो न केवल मनमोहक है बल्कि इसमें हर वर्ष फलने की क्षमता है तथा यह कैंसर रोधी गुणों के अलावा विटामिन-ए से भरपूर है जिसके कारण बाज़ार और किसानों में इसकी भारी मांग है।

see more..
image