Thursday, Jan 24 2019 | Time 15:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • असम के तीन व्याख्याता सड़क हादसे के शिकार
  • शोपियां में दूसरे दिन भी रहा जनजीवन प्रभावित
  • सिंधू और श्रीकांत क्वार्टरफाइनल में
  • बॉलीवुड अभिनेता यशपाल शर्मा बनाएंगे कवि पं0 लख्मी चंद की बायोपिक
  • राजकोट में पुलिस ने किये दो फर्जी डॉक्टर गिरफ्तार
  • गैस सिलेंडर विस्फोट से पांच झुलसे
  • 27वां कन्वर्जेंस इंडिया एक्सपो 29जनवरी से दिल्ली में
  • कांग्रेस विधायक आनंद सिंह को नेत्र अस्पताल में कराया गया भर्ती
  • ओसाका और क्वितोवा में होगा खिताबी मुकाबला
  • आतंकियों से लौहा लेने वाले कश्मीर के लांस नायक वानी को अशोक चक्र
  • सरगोधा में पोलियो का ड्राप पिलाने गई दो महिलाओं को ताले में किया बंद
  • मतपत्रों से चुनाव कराना संभव नहीं है: चुनाव आयोग
  • कांग्रेस के प्रस्ताव पर विचार कर रहे हैं गौर
  • लक्ष्मीबाई के किरदार को कंगना ने किया अमर: मनोज कुमार
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी Share

इस्नर ने जीता पहला मियामी ओपन खिताब

मियामी, 02 अप्रैल (वार्ता) अमेरिका के जॉन इस्नर ने जर्मनी के एलेक्सांद्र ज्वेरेव को तीन सेटों के कड़े मुकाबले में हराकर करियर में पहली बार मियामी अोपन टेनिस टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम कर लिया।
पुरूष एकल फाइनल में 32 वर्षीय इस्नर ने 6-7 6-4 6-4 से ज्वेरेव को हराया। अमेरिकी खिलाड़ी पहला सेट हारने के बाद दूसरे सेट में काफी थके हुये दिखाई दिये लेकिन नौवें गेम में उन्होंने ज्वेरेव की सर्विस ब्रेक करते हुये स्कोर 5-4 पहुंचा दिया। इसके बाद इस्नर ने सेट जीता और बराबरी के बाद निर्णायक सेट में विश्व के पांचवें नंबर के खिलाड़ी को 6-4 से हराकर सेट और मैच अपने नाम किया। 14वीं सीड खिलाड़ी ने करियर की सबसे बड़ी जीत के बाद कहा“ मैंने इसके बारे में नहीं सोचा था। मैं जब इस टूर्नामेंंट में आया था तब मैंने पूरे वर्ष केवल एक ही एटीपी मैच जीता था और बाकी में काफी खराब खेला था। मैंने यहां अपना पहला तीन सेट मैच जीता और उसके बाद मेरा आत्मविश्वास बढ़ गया।” इस्नर ने टूर्नामेंट में सभी सर्विस गेम भी जीते।
प्रीति राज
जारी वार्ता
More News
बढ़ रहे हैं ब्रेन ट्यूमर के मामले, बहरे हो रहे हैं ‘हम’: आईआईटी प्रोफेसर

बढ़ रहे हैं ब्रेन ट्यूमर के मामले, बहरे हो रहे हैं ‘हम’: आईआईटी प्रोफेसर

30 Sep 2018 | 12:55 PM

नयी दिल्ली, 30 सितम्बर (वार्ता) मोबाइल फोन ने जहां हमारी जिन्दगी को आसान बनाया है वहीं इसके प्रयोग संबंधी उचित जानकारियों के अभाव और मोबाइल टावरों से निकालने वाले खतरनाक इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडिएशन का स्तर अंतरराष्ट्रीय मानक से कई गुणा अधिक होने के कारण हर वर्ष सैकड़ों जिन्दगियां ‘तकनीकी तरक्की’ की भेंट चढ़ रही हैं।

 Sharesee more..
कैंसर के बाद सबसे गंभीर बीमारी ‘लिवर सिरोसिस’

कैंसर के बाद सबसे गंभीर बीमारी ‘लिवर सिरोसिस’

16 Sep 2018 | 2:53 PM

(डाॅ़ आशा मिश्रा उपाध्याय से ) नयी दिल्ली 16 सितम्बर (वार्ता) शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथी एवं महत्वपूर्ण अंगों में से एक यकृत में होने वाली सिरोसिस की बीमारी कैंसर के बाद सबसे भंयकर है जिसका अंतिम इलाज ‘लिवर प्रत्यारोपण’है। भारत और पाकिस्तान समेत विकासशील देशों में करीब एक करोड़ लोग इस बीमारी की गिरफ्त में हैं।

 Sharesee more..

अपूर्वी-रवि ने दिलाया एशियाड में पहला पदक

19 Aug 2018 | 12:12 PM

 Sharesee more..
image