Thursday, Nov 14 2019 | Time 23:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • राफेल सौदे पर उ न्या के फैसले के बाद राहुल और कांग्रेस मांगे माफी : रघुवर
  • कमल ने रजनीकांत के बयान का किया समर्थन
  • इंडोनेशिया में 7 4 तीव्रता के भूकंप के जोरदार झटके
  • आजसू के उम्मीदवारों की दूसरी सूची कल होगी जारी
  • एम्स के ‘अमृत ’ में डेंटल हेल्थ के प्रोडक्ट भी उपलब्ध
  • झामुमो ने महुआ मांझी को रांची में उतारा
  • झारखंड कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप बालमुचू आजसू में शामिल
  • ब्रिक्स व्यापार पांच खरब डॉलर तक पहुंचाने का रोडमैप बने :मोदी
  • केंद्रीय टीम ने असम बाढ़ में नुकसान का लिया जाएजा
  • राफेल पर अदालती फैसला सरकार की गंभीरता दर्शाता है : लक्ष्मण
  • सोनीपत में मिट्टी में दबकर किसान, महिला की मौत
  • कुशीनगर मस्जिद घटना का पुलिस जल्द खुलासा कर देगी : जयनारायण सिंह
  • निशंक ने विभिन्न देशों के शिक्षा मंत्रियों से की वार्ता
  • मौर्य ने छात्रा की शिकायत की जांच के दिये आदेश
  • पलामू की पांच सीटों पर 12 नामांकन रद्द, 89 उम्मीदवार मैदान में
राज्य » अन्य राज्य


उत्तराखंड सरकार को बकाया धनराशि के भुगतान के आदेश

नैनीताल, 22 अक्टूबर (वार्ता) उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने मंगलवार को प्रदेश सरकार को राज्य परिवहन निगम के कर्मचारियों की बकाया धनराशि का भुगतान दीपावली तक सुनिश्चित रूप से किये जाने के आदेश दिए।
मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन और न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की युगलपीठ ने उत्तराखंड परिवहन कर्मचारी यूनियन की ओर से दायर जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद सचिव(वित्त) तथा सचिव (परिवहन) को दीपावली तक बकाया धनराशि का भुगतान करने पर विचार करने को कहा है।
न्यायालय ने सरकार की निशुल्क योजनाओं के संचालन से उस पर आर्थिक बोझ पड़ना स्वाभाविक है, लेकिन सरकार को निशुल्क योजनाओं के बदले उसका भुगतान किया जाना चाहिए।
याचिकाकर्ता की ओर से न्यायालय को बताया गया कि परिवहन निगम के कर्मचारियों को सितम्बर महीने के वेतन का भुगतान नहीं किया गया है। सरकार की ओर से विभिन्न योजनाओं के तहत 85 करोड़ की बकाया धनराशि का का भुगतान किया जाना है। इसमें से सरकार ने लगभग 17 करोड़ की धनराशि का भुगतान कर दिया है। लगभग 69 करोड़ की धनराशि का भुगतान किया जाना शेष है।
सुनवाई के दौरान निगम की ओर से न्यायालय को बताया गया कि पर्वतीय क्षेत्रों के घाटे के मार्गों पर बसों का संचालन करने से निगम को घाटा उठाना पड़ रहा है। इसके अलावा सरकार द्वारा वरिष्ठ नागरिकों, महिलाओें, छात्रों, दिव्यांगों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, पंडित दीनदयाल योजना के तहत मेरे बुजुर्ग मेरे तीर्थ योजना के अंतर्गत प्रदेश के बुजुर्गों के लिये धार्मिक स्थलों का भ्रमण कराने और मान्यता प्राप्त पत्रकारों के लिये परिवहन निगम की बसों में निशुल्क यात्रा संचालित की जा रही है। साथ ही रूद्रप्रयाग जिले में आयी आपदा के दौरान भी परिवहन निगम की बसों को उपयोग में लाया गया था।
इस बीच न्यायालय के आदेश के परिप्रेक्ष्य में कर्मचारी यूनियन ने आज रात से होने वाली हड़ताल स्थगित कर दी।
रवीन्द्र टंडन
वार्ता
More News
जद (एस) को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता: कुमारस्वामी

जद (एस) को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता: कुमारस्वामी

14 Nov 2019 | 9:29 PM

बेंगलुरु, 14 नवंबर (वार्ता) जनता दल (सेक्यूलर) जद(एस) के नेता एवं कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने गुरुवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस उनकी पार्टी को कतई नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं।

see more..
image