Saturday, Feb 29 2020 | Time 17:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चेन्नई के एक कारोबारी समूह पर आयकर का छापा
  • राजीव चौक पर उपद्रवी लोगों ने भड़काऊ नारे लगाये
  • जैक्सन का नाबाद अर्धशतक, सौराष्ट्र के 5/217
  • श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग भूस्खलन के कारण बंद
  • कुश्ती का एशियाई ओलम्पिक क्वालिफायर रद्द
  • कोच्चि के अस्पताल में कोरोना वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति की मौत
  • एयरटेल ने दूरसंचार विभाग को आठ हजार करोड़ से अधिक चुकाया
  • चीन से आये लोगों का हुआ कोरोना वायरस परीक्षण, सभी रिपोर्ट नेगेटिव
  • त्रिपुरा में एडीसी चुनाव के लिये भाजपा ने बुलाई बैठक
  • पुलिस मुठभेड़ में दो कुख्यात हथियार के साथ गिरफ्तार
  • हरियाणा पुलिस होगी हाईटैक, अत्याधुनिक नियंत्रण कक्ष बनेगा: डीजीपी
  • हमेशा याद किए जाएंगे सांसद बैद्यनाथ प्रसाद महतो : नीतीश
  • हरियाणा पुलिस होगी हाईटैक, अत्याधुनिक नियंत्रण कक्ष बनेगा: डीजीपी
  • फाइनेंस कंपनी के कार्यालय से तीन लाख की लूट
भारत


एआईयूएमएम समर्थकों ने इमरान खान का पुतला फूंका

एआईयूएमएम समर्थकों ने इमरान खान का पुतला फूंका

नयी दिल्ली, 20 अगस्त (वार्ता) ऑल इंडिया यूनाइटेड मुस्लिम मोर्चा (एआईयूएमएम) ने भारत के आंतरिक मामलों में दखलंदाजी के लिए पाकिस्तान सरकार की भर्त्सना की है और प्रधानमंत्री इमरान खान का पुतला भी दहन किया।

मोर्चा के कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने आज दिल्ली के जंतर-मंतर पर पाकिस्तान सरकार के विरोध में प्रदर्शन किया और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का पुतला फूंका।

मोर्चा के राष्ट्रीय प्रवक्ता हाफिज गुलाम सरवर ने जम्मू-कश्मीर पर पाकिस्तान की कुदृष्टि के लिए तत्कालीन नेहरू सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि यह राज्य भारत का ताज है। यह भारत का अभिन्न अंग था, है और रहेगा भी। उन्होंने राज्य से अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की साहस की सराहना की तथा कहा कि मोदी सरकार ने सत्तर साल के कोढ़ को खत्म किया है।

मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव मो. रियाजुद्दीन ने कहा कि अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को समाप्त किये जाने के बाद जम्मू-कश्मीर भारत से संवैधानिक तौर पर पूरी तरह जुड़ गया है। उन्होंने कहा कि इस कदम से वहां के शासक वर्गों को जरूर तकलीफ हो रही होगी, लेकिन गरीब एवं वंचित कश्मीरियों को इससे फायदा मिलेगा। आम कश्मीरियों को अब सामंती मानसिकता के बहकावे में न आकर पूरी तरह से श्री मोदी का साथ देना चाहिए।

मोर्चा के उपाध्यक्ष मौलाना मुर्तजा अल हुसैनी ने कहा कि पाकिस्तान अपनी हैसियत को समझे और मुस्लिम देश होने के नाते इस्लामिक उपदेशों पर अमल करे। उसे नफरत की सियासत से तौबा करते हुए अब भारत से मेल-मिलाप करने के लिए ईमानदार प्रयास करने चाहिए।

 

image