Sunday, Jul 5 2020 | Time 16:44 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जापान में बाढ़-भूस्खलन, मृतकों की संख्या बढ़कर 16 हुई
  • कार खाई में गिरी, एक दम्पति की मौत, दो घायल
  • फोटो कैप्शन पहला सेट
  • पुड्डुचेरी में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ना चिंता का विषय : बेदी
  • पेट्रॉल-डीजल की कीमत कम कराने को लेकर कांग्रेस की ‘साइकिल यात्रा’
  • द अफ्रीका के वर्ष के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर चुने गये क्विंटन डी कॉक
  • द अफ्रीका के वर्ष के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर चुने गये क्विंटन डी कॉक
  • सिख विरोधी दंगा मामले में सजायाफ्ता पूर्व विधायक की मौत
  • पिता-पुत्र मौत मामले में गिरफ्तार पुलिसकर्मियों को मदुरै जेल में भेजा गया
  • ऑस्ट्रेलिया के वित्त मंत्री ने राजनीति छोड़ने का किया एलान
  • बायर्न म्यूनिख ने 20वीं बार जीता जर्मन कप
  • बायर्न म्यूनिख ने 20वीं बार जीता जर्मन कप
  • बाराबंकी में सात और कोरोना संक्रमित,संख्या बढ़कर 319 पहुंची
  • नाइजीरियाई वायुसेना की कार्रवाई में बोको हरम के कई आतंकवादी ढेर
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


ओडिशा सरकार सिख स्मारकों को सुरक्षित रखने के लिए गंभीर हो: भाई लौंगोवाल

अमृतसर, 19 नवंबर (वार्ता) शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक समिति के अध्यक्ष भाई गोविंद सिंह लोंगोवाल ने मंगलवार को कहा कि ओडिशा के जगन्नाथ पुरी में सिखों के पहले गुरु श्री गुरु नानक देव जी से सम्बन्धित ऐतिहासिक स्थानों की सुरक्षा के लिए राज्य सरकार को संजीदा भूमिका निभानी चाहिए और यह सुनिश्चित करना जाना चाहिए कि विकास के नाम पर किसी भी स्मारक को नुकसान नहीं पहुँचे।
भाई लोंगोवाल ने कहा कि शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक समिति इस मामले में पहले भी ओडिशा सरकार और स्थानीय प्रशासन से सम्पर्क कर चुकी है। इसके इलावा केन्द्र सरकार के साथ भी बातचीत की गई है। उन्होंने कहा कि एक बार फिर जगन्नाथ पुरी में गुरुनानक देव के स्मारक में तोड़ फोड़ का अंदेशा सिखों की भावनाओं को ठेस पहुँचाने वाला है। उन्होने कहा कि श्री गुरु नानक देव जी ने दुनिया में धर्म प्रचार यात्राएं की और वह जहाँ भी गये, वहां गुरु साहब की पवित्र स्मृियां सदियों से सुशोभित हैं। गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर उनसे सम्बन्धित स्मारकों के तोड़ फोड़ के संदेह की खबरें दुखदायी हैं।
भाई लोंगोवाल ने कहा कि गुरु नानक देव ने जगन्नाथ पुरी की यात्रा वहाँ के निवासियों के जीवन में सुधार के लिए की थी और इस लिए स्थानीय सरकार और प्रशासन का फ़र्ज़ बनता है कि वह इन ऐतिहासिक स्मारकों की देखरेख करे। उन्होने कहा कि एक तरफ़ सरकार की ओर से एसजीपीसी को गुरुद्वारा बावली मठ साहब के विकास और सेवा सम्बन्धित शिरोमणि समिति की राय अनुसार कार्य करने का भरोसा दिया जा चुका है जबकि दूसरी ओर मंगू मठ और पंजाबी मठ को तोड़ने की साजिश रची जा रही हैं।
सं ठाकुर, यामिनी
वार्ता
More News
हरियाणा में कोरोना के 545 नये मामले, कुल संख्या 16548 पहुंची, 260 मौतें

हरियाणा में कोरोना के 545 नये मामले, कुल संख्या 16548 पहुंची, 260 मौतें

04 Jul 2020 | 10:40 PM

चंडीगढ़, 04 जून(वार्ता) हरियाणा में कोरोना संक्रमण के आज सायं तक 545 नये मामले आने के बाद राज्य में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 16548 पहुंच गई है। वहीं इनमें से 260 लोगों की मौत हो चुकी है और 12257 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। राज्य में कोरोना के सक्रिय मामले अब 4031 हैं।

see more..
image