Friday, Dec 6 2019 | Time 18:09 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जैविक कृषि उत्पाद के निर्यात में सतत वृद्धि: तोमर
  • नेरोका ने आइजॉल को हराया
  • खाद्य तेल, दालें स्थिर, गेहूँ, चीनी नरम
  • सोना 130 रुपये टूटा, चांदी 100 रुपये उतरी
  • ओड़िशा और बेंगलुरु को पहली जीत की दरकार
  • मानवाधिकार आयोग का हैदराबाद पुलिस मुठभेड़ की जांच का आदेश
  • पायस की बदौलत दिल्ली ने जीता जूनियर राष्ट्रीय टेबल टेनिस खिताब
  • पायस की बदौलत दिल्ली ने जीता जूनियर राष्ट्रीय टेबल टेनिस खिताब
  • समुद्री लुटेरों के चंगुल में फंसे तिवारी दंपत्ति को छुड़ाने का होगा सभी संभव प्रयास- भूपेश
  • कैबिनेट मंत्री के सदन में नहीं होने पर कार्यवाही 10 मिनट के लिए स्थगित
  • बिहार में रेडीमेड कपड़ा इकाई लगाये गुजरात के निवेशक:-रजक
  • दिशा दुष्कर्म मामले के आरोपी पुलिस की जवाबी कार्रवाई में मारे गए: पुलिस आयुक्त
  • खेल मंत्री ने खो-खो टीम को किया सम्मानित
  • खेल मंत्री ने खो-खो टीम को किया सम्मानित
भारत


कांग्रेस ने 70 वर्षों तक की आदिवासी समाज की उपेक्षा : शाह

कांग्रेस ने 70 वर्षों तक की आदिवासी समाज की उपेक्षा : शाह

नयी दिल्ली 16 नवंबर (वार्ता) केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर 70 वर्षों तक आदिवासी समाज की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार देश के वन धन और सांस्कृतिक धरोहर को संजो कर रखने वाले इस समुदाय के कल्याण के प्रति वचनबद्ध है।

श्री शाह ने शनिवार को यहां दिल्ली हाट में आदि महोत्सव का उद्घाटन करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज ने देश के प्राकृतिक संसाधनों और सांस्कृतिक धरोहर तथा परंपराओं को सहेज कर रखा है लेकिन कांग्रेस ने 70 वर्षों तक इस समुदाय की उपेक्षा की और इसका इस्तेमाल केवल वोट बैंक की तरह किया। कांग्रेस ने अपने शासनकाल में आदिवासी समाज को अंधकार में ही रखा और उनके जीवन में उजाला नहीं आने दिया।

उन्होंने कहा कि यह समाज लंबे समय से देश की सांस्कृतिक विविधता का वाहक बना हुआ है और उसने प्रतिकूल परिस्थितियों में रहते हुए देश के वन धन का संरक्षण किया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार आदिवासी समाज की संस्कृति और परंपराओं के साथ छेड़छाड़ के बिना उसके कल्याण के प्रति संकल्पित है और उसके साथ चट्टान की तरह खड़ी है।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि इतने बड़े समाज की कांग्रेस द्वारा उपेक्षा का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उनके लिए कभी अलग से मंत्रालय का गठन नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में पहली बार आदिवासी कल्याण मंत्रालय बनाया गया। मोदी सरकार ने इस काम को आगे बढ़ाते हुए आदिवासी क्षेत्रों में व्यक्ति, गांव और समूचे क्षेत्र के विकास की तीन स्तरीय योजना बनाई है। आदिवासी समाज के कल्याण की योजनाओं को आगे बढ़ाते हुए इसके लिए बजट की राशि 6800 करोड़ रुपये कर दी गयी है। आदिवासी छात्रों को दी जाने वाली छात्रवृति की राशि भी बढ़ाई गयी है।

संजीव, रवि

जारी वार्ता

More News
महिला सुरक्षा को लेकर आक्रोश, राष्ट्रपति ने दया याचिका की समीक्षा पर बल दिया

महिला सुरक्षा को लेकर आक्रोश, राष्ट्रपति ने दया याचिका की समीक्षा पर बल दिया

06 Dec 2019 | 5:40 PM

नयी दिल्ली, 06 दिसंबर (वार्ता) महिलाओं के खिलाफ यौन अपराध की नृशंस घटनाओं के खिलाफ देश भर में फैले आक्रोश के बीच यह मुद्दा शुक्रवार को संसद से सड़क तक छाया रहा और राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने भी इस पर गंभीर चिंता जताते हुए पाेक्सो एक्ट के तहत दुष्कर्म के दोषियों की दया याचिका के अधिकार की समीक्षा किये जाने की जरूरत बतायी।

see more..
नागरिकता संशोधन विधेयक देश में एक और त्रासदी लाएगा: तृणमूल कांग्रेस

नागरिकता संशोधन विधेयक देश में एक और त्रासदी लाएगा: तृणमूल कांग्रेस

06 Dec 2019 | 5:08 PM

नयी दिल्ली, 06 दिसंबर (वार्ता) अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस ने नागरिकता संशोधन विधेयक एवं राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर को एक ही सिक्के के दो पहलू बताते हुए कहा कि यह देश में नोटबंदी की तरह एक और भीषण त्रासदी लेकर आएगा।

see more..
अयोध्या फैसले के खिलाफ मुस्लिम पक्ष ने दायर की चार और पुनर्विचार याचिकाएं

अयोध्या फैसले के खिलाफ मुस्लिम पक्ष ने दायर की चार और पुनर्विचार याचिकाएं

06 Dec 2019 | 4:15 PM

नयी दिल्ली, 06 दिसंबर (वार्ता) अयोध्या विवाद में उच्चतम न्यायालय के गत नौ नवंबर के फैसले के खिलाफ शुक्रवार को कुल पांच पुनर्विचार याचिकाएं दायर की, जिनमें चार याचिकाएं मुस्लिम पक्ष की ओर से दायर की गयी हैं।

see more..
image