Wednesday, Jun 3 2020 | Time 18:02 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इंग्लैंड दौरे के लिए विंडीज टीम का ऐलान, 11 रिजर्व भी शामिल
  • चंडी मंदिर अधिग्रहण के फैसले से ब्राह्मण समाज में रोष, फैसला वापिस लेने की मांग
  • जालंधर में की गई 20459 लोगों की कोरोना जांच
  • ‘मिशन फतेह’ के तहत उर्वरकों, कीटनाशकों और बीज डीलरों का निरीक्षण
  • जालंधर में कोरोना संक्रमण से एक और की मौत
  • बिहार में कोविड की चपेट में 177, कुल कोरोना पॉजिटिव 4273
  • रसायन कंपनी में लगी भीषण आग, दो की मौत, 20 झुलसे
  • सब्जी बेचने को मजबूर तीरंदाज को हेमंत सरकार ने दिए 20 हजार
  • हिंदुस्तान यूनिलीवर ने दी 74,000 कोरोना टेस्टिंग किट
  • गेंदबाजों को चोटिल होने से बचने की जरुरत : पठान
  • कौशांबी में 47 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ,मात्र दो संक्रमित
  • ठाकरे ने चक्रवाती तूफान निसर्ग की स्थिति का जायजा लिया
  • पाकिस्तान ने पुंछ में किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, सेना ने की जवाबी कार्रवाई
  • विंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट से बाहर रह सकते हैं रुट
  • ‘पीआरसी और प्रवासी कार्ड को आवासीय प्रमाण के रूप में स्वीकारा जाये’
दुनिया


कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 2345

बीजिंग 22 फरवरी (वार्ता) चीन में कोरोना वायरस से शुक्रवार को 109 और लोगों की मौत के साथ ही इस जानलेवा बीमारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 2345 हो गयी है जबकि 397 नये मामले आने के साथ अबतक कुल 76,288 मरीजों में इस वायरस से संक्रमण की पुष्टि हुई है।
चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने शनिवार को कहा कि हुबेई प्रांत में कोरोना वायरस की चपेट में आकर सबसे अधिक 106 लोगों की मौत हुई जबकि झेजियांग, शंघाई, कंस्ट्रक्शन कॉर्पस और हेबेई में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई। ये सभी नये मामले हैं और इसके साथ ही मरने वालों की संख्या बढ़कर 2345 हो गयी है।
आयोग ने कहा,“देश के 31 प्रांतों से मिली सूचना के अनुसार लगभग 76,288 मरीजों में अब तक कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। इनमें से 53,284 लोग अभी भी बीमार हैं, जिसमें से 11,477 मरीजों की हालत नाजुक है। वहीं 20,659 लोगों को उपचार के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गयी है।”
उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस का पहला मामला चीन के हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान में गत वर्ष दिसंबर के आखिर में सामने आया था और अब यह देश के 31 प्रांतों में फैल गया है। मौजूदा समय में यह संक्रमण भारत सहित दुनिया के 25 से अधिक देशों में फैल चुका है। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जनवरी के आखिर में इस घातक विषाणु के प्रकोप को देखते हुए वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा की थी।
शुभम.संजय
शिन्हुआ
image