Tuesday, Jul 16 2019 | Time 13:33 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मुंबई में चारमंजिला इमारत गिरी, 40 से अधिक लोगों के फंसे होने की आशंका
  • वाहनों की खुदरा बिक्री 5 4 प्रतिशत घटी
  • बाक्सिंग लीजेंड पेर्नेल की कार दुर्घटना में मौत
  • सरकार गिरने के भय से अध्यक्ष इस्तीफा स्वीकार नहीं कर रहे: याचिकाकर्ता
  • छत्तीसगढ़ में 24 करोड़ खर्च करने के बाद भी होटल प्रबंध संस्थान नही हो सका है शुरू
  • ‘जीरो बजट खेती’ का उद्देश्य किसानों की आय बढ़ाना : रूपाला
  • दिल्ली में सुबह का मौसम सुहाना
  • चीन द्वारा घुसपैठ के मुद्दे पर कांग्रेस का लोकसभा से बहिर्गमन
  • मोदी ने ‘गुरु पूर्णिमा’ पर गुरुओं के प्रति श्रद्धा जतायी
  • मार्क एस्पर अमेरिका के नया रक्षा मंत्री मनोनीत
  • डाक विभाग की परीक्षा रद्द करने की मांग को लेकर राज्यसभा में कागज फाड़े गये
  • हंगामें के कारण राज्यसभा की कार्यवाही दो बजे तक स्थगित
  • दुतीचंद को राज्यसभा में बधाई
  • नीरज शेखर का राज्यसभा से इस्तीफा
राज्य » अन्य राज्य


कैलाश मानसरोवर यात्रा का पहला दल पहुंचा चीन

नैनीताल, 20 जून (वार्ता) ऐतिहासिक कैलाश मानसरोवर यात्रा का पहला दल गुरूवार को चीन अधिकृत तिब्बत की सीमा में प्रवेश कर गया है जबकि दूसरा दल गूंजी से नाभि के लिये रवाना हुआ है। दल आज नाभि में होम स्टे करेगा। जबकि तीसरा दल देवभूमि उत्तराखंड पहुंचा गया है। इस दल की खास बात यह है कि इस दल में रिकार्ड 20 महिला श्रद्धालु हैं।
पहले दल में कुल 58 सदस्य में नौ महिलायें शामिल है। यह दल 12 जून को दिल्ली से रवाना हुआ था। इसी दिन उत्तराखंड में प्रवेश किया था। दल एक सप्ताह की दुर्गम पैदल यात्रा के बाद नौवें दिन गुरुवार को चीन की सीमा में प्रवेश कर गया।
पिथौरागढ़ जिला प्रशासन की ओर से दी गयी जानकारी के अनुसार यात्रा का दूसरा दल कल गूंजी पहुंचा था।
53 सदस्यों वाले इस दल में 8 महिलायें हैं। इस दल को दो दिन तक गूंजी में रूकना है। दल के सदस्य आज कुमाऊं मंडल विकास निगम (केएमवीएन) के नाभि गांव के होम स्टे के लिये लिये रवाना हुए हैं। इस दौरान श्रद्धालुओं को ठेठ पहाड़ी व्यंजन और उत्तराखंडी संस्कृति से रूबरू कराया जायेगा।
कैलाश मानसरोवर यात्रा के नोडल अधिकारी जीएस मनराल ने बताया कि यात्रा का तीसरा दल आज दिल्ली से रवाना हुआ। दल दोपहर बाद हल्द्वानी के काठगोदाम पहुंचा और निगम की ओर से काठगोदाम स्थित पर्यटक आवास गृह में यात्रियों का भव्य स्वागत किया गया। इस 56 सदस्यीय दल में 20 महिला श्रद्धालु शामिल हैं। यह अभी तक का सबसे बड़ा रिकार्ड है। इस दौरान सभी महिलाओं में यात्रा को लेकर काफी उत्साह दिखाई दिया। यह दल दोपहर भोजन और अल्प विश्राम के बाद अपने पहले पड़ाव अल्मोड़ा के लिये रवाना हो गया।
श्री मनराल ने कहा कि यह दल शुक्रवार को पहले आधार शिविर धारचूला के लिये रवाना होगा। अगले दिन यहां से दल अपने पैदल सफर के लिये रवाना होगा।
सं राम
(वार्ता)
image