Friday, Mar 5 2021 | Time 13:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों के वाहन पर हथगोला फेंका
  • अफगानिस्तान में हिमस्खलन से 14 लोगों की मौत, पांच घायल
  • विश्व में कोरोना संक्रमितों की संख्या 11 56 करोड़ के पार
  • महाराष्ट्र में कोरोना के सक्रिय मामलों में लगातार वृद्धि, केरल में घटे
  • मोदी ने बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की
  • बारामूला में तलाश एवं घेराबंदी अभियान शुरू
  • कोरोना के सक्रिय मामले और मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी
  • शिवराज को मोदी समेत वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने दीं जन्मदिन की शुभकामनाएं
  • नायडू ने की देश दुनिया में शांति समृद्धि की कामना
  • विदेशों में उबाल, देश में छठवें दिन ईंधन की कीमतों में टिकाव
  • अमेरिका में अर्थव्यवस्था के लिए 1 9 ट्रिलियन डॉलर का राहत पैकेज
  • ब्राजील में कोविड-19 से 2 60 लाख से अधिक लोगों की मौत
  • ताइवान को हथियारों की आपूर्ति करना आवश्यक : एडमिरल डैविडसन
  • न्यूजीलैंड में तेज भूकंप के बाद सुनामी की चेतावनी
भारत


किसानों और सरकार के बीच 11वें दौर में कोई सहमति नहीं

नयी दिल्ली, 22 जनवरी (वार्ता) किसान संगठनों और सरकार के बीच शुक्रवार को हुई 11वें दौर की बैठक में कृषि सुधार कानूनों को लेकर दोनों पक्षों के अपने-अपने रुख पर अड़े रहने के कारण कोई सहमति नहीं बन सकी।
केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि बैठक में कोई सहमति नहीं बन पायी।
श्री तोमर ने कहा कि सरकार के विकल्प प्रस्तुत किये जाने के बावजूद किसान संगठन केवल तीनों कानूनों को वापस लेने मांग पर अड़े रहे। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों के कल्याण के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है।
श्री तोमर ने कहा कि सरकार ने किसानों से सरकार के प्रस्तावों पर पुन: विचार करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि किसान संगठन कल तक अपने निर्णय से सरकार को अवगत करा सकते हैं।
गौरतलब है कि सरकार ने तीनों कृषि कानूनों को एक से डेढ़ वर्ष तक स्थगित रखने का प्रस्ताव किसान संगठनों को दिया हुआ है।
उन्होंने कहा कि कुछ ताकतें हैं जो चाहती हैं कि किसानों का आंदोलन जारी रहे और कोई बातचीत का कोई बेहतर नतीजा न निकले।
भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बैठक के बाद कहा कि प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली 26 जनवरी को निकलेगी। राजधानी की सीमा से सटे इलाकों में किसानों का विरोध प्रदर्शन शुक्रवार को 58 वें दिन भी जारी रहा। पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और अन्य प्रदेशों से आये हजारों किसान दिल्ली के प्रवेश द्वारों पर धरना दे रहे हैं।
यह प्रदर्शन 26 नवंबर को शुरू हुआ था। किसान तीनों कृषि सुधार कानूनों को वापस लेने और न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानूनी दर्जा देने की मांग कर रहे हैं।
श्रवण.संजय
वार्ता
More News
मोदी ने बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की

मोदी ने बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की

05 Mar 2021 | 11:57 AM

नयी दिल्ली 05 मार्च (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की है।

see more..

05 Mar 2021 | 10:54 AM

see more..
कोरोना के सक्रिय मामले और मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी

कोरोना के सक्रिय मामले और मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी

05 Mar 2021 | 10:25 AM

नयी दिल्ली 05 मार्च (वार्ता) देश के कुछ राज्यों में कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण में पिछले कुछ समय से अचानक आयी तेजी के बीच सक्रिय मामलों में बढ़ोतरी जारी है और इस महामारी से मरने वाले लोगों की संख्या फिर 100 से अधिक हो गई है।

see more..
नायडू ने की देश दुनिया में शांति समृद्धि की कामना

नायडू ने की देश दुनिया में शांति समृद्धि की कामना

05 Mar 2021 | 10:15 AM

नयी दिल्ली 05 मार्च (वार्ता) उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने शुक्रवार को तिरुमाला में प्रभु वेंकटेश्वर के दर्शन किये और देश दुनिया के लिए समृद्धि और खुशहाली की कामना की।

see more..
image