Monday, Aug 19 2019 | Time 10:59 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • काबुल में आत्मघाती हमले की अमेरिका ने की निंदा
  • एंटोनियो गुटेरस से मिलेंगे माइक पोम्पियो
  • रामगढ़ के चुट्टुपालु घाटी मे ट्रक पलटा , दो की मौत
  • पश्चिमी प्रशांत महासागर में भूकंप के झटके
  • युगांडा में तेल टैंकर में आग लगने से 20 की मौत, कई घायल
  • हांगकांग में हिंसा का असर अमेरिका-चीन व्यापारिक समझौते पर: ट्रम्प
  • इलाहाबाद में युवक समेत तीन लोगों की गोली मारकर हत्या
  • सीरियाई सेना ने इदलिब के प्रमुख शहर पर किया कब्जा
  • युगांडा में ईंधन से भरे ट्रक में विस्फोट, 10 लोगों की मौत
  • अमेरिकी अर्थव्यवस्था में नहीं आएगी मंदी: कुडलो
  • मोदी 23 अगस्त से यूएई और बहरीन दौरे पर
  • जेटली की हालत बेहद चिंताजनक
भारत


किसानों की आय दोगुना करने के लिए फसल विविधीकरण की योजना बनेगी: मनोहर लाल

नयी दिल्ली 18 जुलाई (वार्ता) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज कहा कि नीति आयोग की मुख्यमंत्रियों की उच्चाधिकार प्राप्त समिति की बैठक में फसलों के विविधीकरण से संबंधित हरियाणा सरकार की 'जल ही जीवन है ' योजना की प्रशंसा की गई और दूसरे राज्यों में भी इस योजना का अनुसरण किए जाने पर विचार-विमर्श किया गया।
नीति आयोग की 'भारतीय कृषि में परिवर्तन' के संदर्भ में यहां आयोजित समिति की पहली बैठक में भाग लेने के बाद श्री मनोहर लाल ने मीडिया से बातचीत में कहा कि फसलों के विविधीकरण के साथ ही सामानांतर रूप से शहरी क्षेत्रों के चारों ओर कृषि क्षेत्रों को आर्थिक रूप से सुदृढ किए जाने की दिशा में देश में ‘परि अर्बन कृषि’ को आधार बनाकर नई योजनाएं तैयार करने पर भी विचार विमर्श हुआ। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में हरियाणा प्रदेश का काफी कृषि क्षेत्र स्थित होने के मद्देनजर ‘पेरि अर्बन कृषि’ हरियाणा के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण है और इसके लिए नई योजनाएं तैयार होने से कृषि क्षेत्र आर्थिक रूप से सुदृढ होने के साथ ही शहरों में लोगों को ताजा कृषि तथा अन्य खाद्य उत्पाद उपलब्ध हो सकेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों की आय दोगुना किए जाने की दिशा में कृषि उत्पादों के विपणन के संदर्भ में किसानों के लिए भंडारण सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए एक विवरण तैयार किया जाएगा। कृषि फसलों की खरीदारी में केंद्र की भागीदारी बढाए जाने के बारे में भी विचार विमर्श हुआ। लघु सिंचाई योजनाओं में केंद्रीय अनुदान बढाए जाने की आवश्यकता पर बैठक में विचार-विमर्श हुआ। हरियाणा सरकार सिंचाई योजनाओं में 85 प्रतिशत तक अनुदान दे रही है। केंद्रीय अनुदान में वृद्धि किए जाने से लघु सिंचाई योजनाओं को और अधिक विस्तार मिल सकेगा।
उल्लेखनीय है कि समिति की प्रथम बैठक महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री तथा समिति के संयोजक देवेन्द्र फडनवीस की अध्यक्षता में हुई। बैठक में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर भी मौजूद थे।
संजीव
वार्ता
More News

मोदी 23 अगस्त से यूएई और बहरीन दौरे पर

19 Aug 2019 | 7:04 AM

नयी दिल्ली 18 अगस्त (वार्ता) विभिन्न देशों के साथ भारत के द्विपक्षीय संबंधों को नयी ऊंचाईंयां प्रदान करने के तहत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 23 अगस्त से संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और बहरीन की यात्रा पर जायेंगे।

see more..
जेटली की हालत बेहद नाजुक

जेटली की हालत बेहद नाजुक

18 Aug 2019 | 11:51 PM

नयी दिल्ली, 18 अगस्त (वार्ता) पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिग्गज नेता अरुण जेटली की हालत चिंताजनक बनी हुयी है।

see more..
जयशंकर 21 अगस्त से नेपाल के दो दिवसीय प्रवास पर

जयशंकर 21 अगस्त से नेपाल के दो दिवसीय प्रवास पर

18 Aug 2019 | 11:33 PM

नयी दिल्ली 18 अगस्त (वार्ता) विदेश मंत्री एस जयशंकर नेपाल-भारत संयुक्त आयोग की पांचवीं बैठक में भाग लेने के लिए 21 अगस्त को नेपाल के दो दिवसीय यात्रा पर रवाना होंगे। वह बैठक की सह अध्यक्षता करेंगे।

see more..
राजधानी में निचले इलाकों में बाढ़ का खतरा

राजधानी में निचले इलाकों में बाढ़ का खतरा

18 Aug 2019 | 11:09 PM

नयी दिल्ली, 18 अगस्त (वार्ता) हरियाणा के हथनीकुंड बैराज से छोड़े गये पानी की वजह से राजधानी दिल्ली के निचले इलाकों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है और इस बाबत राज्य सरकार ने चेतावनी भी जारी कर दी है।

see more..
image