Monday, Jan 27 2020 | Time 10:43 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गया में वृद्ध की पीट-पीट कर हत्या
  • अमेरिका में कोरोनावायरस के पांच मामले सामने आये
  • चीन से सारण आयी लड़की को कोरोना वायरस की आशंका
  • चीन में कोरोना वायरस से 24 और लोगों की मौत, 769 नये मामलों की पुष्टि
  • इराक में अमेरिकी दूतावास पर मिसाइल हमले के बाद अमेरिका सतर्क
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 28 जनवरी)
  • चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप से 80 लोगों की मौत
  • हेलीकॉप्टर हादसे में पूर्व बास्केटबॉल दिग्गज कोबी ब्रयांट की मौत
  • हेलीकॉप्टर हादसे में पूर्व बास्केटबॉल दिग्गज कोबी ब्रयांट की मौत
  • हेलीकॉप्टर हादसे में पूर्व बास्केटबॉल दिग्गज कोबी ब्रयांट की मौत
  • title="हेलिकॉप्टर हादसे में पूर्व बास्केटबॉल दिग्गज कोबी ब्रायंट और बेटी गियाना समेत नौ की मौत">हेलीकॉप्टर हादसे में बास्केटबॉल दिग्गज कोबी ब्रायंट की मौत
  • चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप से 80 लोगों की मौत
  • ब्राजील में भारी बारिश से 37 की मौत, कई लापता
  • वुहान शहर में कोरोना वायरस के कई नए मामलों की आशंका
  • तुर्की भूकंप में मृतकों की संख्या बढ़कर 38 हुई
मनोरंजन


खुद को मिसफिट एक्टर समझता था :अनिल कपूर

खुद को मिसफिट एक्टर समझता था :अनिल कपूर

मुंबई 20 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता अनिल कपूर का कहना है कि अपने शुरूआती दौर में वह खुद को मिसफिट समझते थे।

अनिल को फिल्म इंडस्ट्री में आये हुये चार दशक हो गये हैं और उन्होंने इंडस्ट्री में खास पहचान बनायी है। अनिल का कहना है कि आज ऐक्टर्स साल में एक या दो फिल्में करते हैं, यह उनके लिए ‘कूल’ है, लेकिन जब उन्होंने बॉलीवुड में कदम रखा था, तब ऐसा कुछ नहीं था। अनिल कपूर ने कहा कि शुरू में वह इंडस्ट्री में खुद को मिसफिट की तरह महसूस करते थे क्योंकि वह अपनी सीन की तैयारी किया करते थे।

अनिल ने कहा,“लोग कहते थे कि मेरे पास कला है। कुछ लोग मुझे झोला वाला ऐक्टर कहते थे। वे कहते थे कि मैं एक कैरक्टर के लिए बहुत तैयारी करता हूं। उस समय कड़ी मेहनत को सही नहीं माना जाता था। मुझे लगता है कि हमें ऐसे लोगों की सराहना करनी चाहिए, जो कड़ी मेहनत करते हैं। अब यह ‘कूल’ हो गया है। यदि कोई ऐक्टर कड़ी मेहनत करता है और दो साल में सिर्फ एक फिल्म करता है, तो यह अच्छी बात है। पहले अगर हम एक बार में एक फिल्म करते थे, तब लोग कहते थे कि उसके पास कोई काम नहीं है।”

अनिल ने कई बेहतरीन कैरक्टर्स को परदे पर बखूबी उतारा है क्योंकि उन्होंने हमेशा सहज रूप से फिल्मों को चुना है। उन्होंने कहा,“मैंने कुछ फिल्में उसकी कहानी के कारण की थी। बहुत सारी फिल्में ऐसी थीं, जहां निदेशकों को लगा कि दूसरे ऐक्टर्स और ऐक्ट्रेस के रोल बेहतर थे। मैंने कभी इस तरह से नहीं देखा क्योंकि अगर कोई फिल्म सफल होती है तो मीडिया और ट्रेड इसके चारों ओर एक कास्ट सिस्टम बनाने की कोशिश करेगा। मैं इस बारे में कभी नहीं सोचा। यह पहले मुझे थोड़ा प्रभावित करता था, लेकिन मुझे हमेशा से पता था कि फिल्म को साइन करते समय मैं कितना सहज था। मेरे पास ऐसे कई उदाहरण हैं, जब फिल्में सफल हुईं क्योंकि मैं अपने रोल के बजाय पूरी कहानी पर ध्यान दिया।”

प्रेम.संजय

वर्ता

More News
ग्रे शेड वाले रोल गुस्सैल बना देते हैं: चंकी पांडे

ग्रे शेड वाले रोल गुस्सैल बना देते हैं: चंकी पांडे

26 Jan 2020 | 12:56 PM

मुंबई 26 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता चंकी पांडे का कहना है कि ग्रे शेड वाले किरदार उन्हें गुस्सैल बना देते हैं।

see more..
फौजी का किरदार फिर निभाना चाहते हैं शाहरुख खान

फौजी का किरदार फिर निभाना चाहते हैं शाहरुख खान

26 Jan 2020 | 12:52 PM

मुंबई 26 जनवरी (वार्ता) बॉलीवुड के किंग खान शाहरूख खान एक बार फिर फौजी का किरदार निभाना चाहते हैं

see more..
संघर्ष के बाद अजित ने बनायी बॉलीवुड में पहचान

संघर्ष के बाद अजित ने बनायी बॉलीवुड में पहचान

26 Jan 2020 | 4:59 PM

..जन्मदिवस 27 जनवरी .. मुंबई 26 जनवरी(वार्ता) दर्शकों में अपनी विशिष्ट अदाकारी और संवाद अदायगी के लिए मशहूर अभिनेता अजित को बालीवुड में एक अलग मुकाम हासिल करने के लिए प्रारंभिक दौर में कड़ा संघर्ष करना पड़ा था।

see more..
पचास-साठ के दशक के सुपरस्टार थे भारत भूषण

पचास-साठ के दशक के सुपरस्टार थे भारत भूषण

26 Jan 2020 | 12:36 PM

..पुण्यतिथि 27 जनवरी .. मुंबई 26 जनवरी (वार्ता)बॉलीवुड में भारत भूषण को एक ऐसे अभिनेता के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने पचास-साठ के दशक में अपनी अभिनीत फिल्मों से दर्शको के बीच खास पहचान बनायी।

see more..
“दिल दिया है जान भी देंगे ऐ वतन तेरे लिये”

“दिल दिया है जान भी देंगे ऐ वतन तेरे लिये”

25 Jan 2020 | 2:20 PM

मुंबई, 25 जनवरी (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में देशभक्ति से परिपूर्ण फिल्मों और गीतों की एक अहम भूमिका रही है और इसके माध्यम से फिल्मकार लोगों में देशभक्ति के जज्बे को आज भी बुलंद करते हैं।

see more..
image