Saturday, Nov 28 2020 | Time 14:27 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चेन्नई सर्राफा के खुले भाव
  • गोपालगंज में दो लोगों की गोली मारकर हत्या, एक घायल
  • डीडीसी चुनाव : 11 बजे तक 22 12 प्रतिशत मतदान
  • सूरत में बस पलटी, 20 यात्री घायल
  • विश्व में कोरोना संक्रमितों की संख्या 6 16 करोड़ के पार
  • पाकिस्तान टीम का एक और सदस्य कोरोना से संक्रमित
  • अमेरिका ने मुंबई हमले के दोषी साजिद पर 50 लाख डॉलर का ईनाम घोषित किया
  • मोदी ने किया गुजरात में कोरोना टीका विकसित कर रहे प्रयोगशाला का दौरा
  • जैविक बासमती चावल के निर्यात को दिया जाएगा प्रोत्साहन
  • नेपाल के स्पिनर संदीप लैमिछाने कोरोना से संक्रमित
  • नेपाल के स्पिनर संदीप लैमिछाने कोरोना से संक्रमित
  • बेयरस्टो की विस्फोटक पारी से इंग्लैंड ने द अफ्रीका के हराया
  • बेयरस्टो की विस्फोटक पारी से इंग्लैंड ने द अफ्रीका के हराया
  • खगड़िया में 80 कार्टन विदेशी शराब जब्त
राज्य » अन्य राज्य


गंगा आरती में शामिल हुए डोभाल

ऋषिकेश, 24 अक्टूबर (वार्ता) नवरात्रि के महाअष्टमी के अवसर पर आज परमार्थ निकेतन की गंगा आरती में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकर अजीत डोभाल ने सपरिवार शामिल हुए।
स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी ने कहा कि कीर्ति चक्र से सम्मनित श्री डोभाल ने अनेक कीर्तिमान स्थापित किये हैं। आज भारत को ऐसे ही समर्पित व्यक्तित्व की आवश्यकता है जो कि देश की गरिमा, मर्यादा, प्रतिष्ठा और समरसता को बनाये रखे।
श्री डोभाल ने माँ गंगा के तट से अपने संस्कारों और धर्म को आगे ले जाने वाले ऋषिकुमारों और देशवासियों को सम्बोधित करते हुये कहा कि हम राष्ट्र की सुरक्षा नहीं बल्कि राज्य की सुरक्षा करते है। राष्ट्र की सुरक्षा तो पूज्य संत करते है। पूज्य संत हमारे राष्ट्र की संस्कृति, संस्कार और आत्मा है। भारत की संस्कृति और संस्कारों का निर्माण पूज्य संतों ने किया है। उन्होंने कहा कि किसी भी राष्ट्र का निर्माण आत्मशक्ति से होता है। राष्ट्र निर्माण के लिये पूज्य स्वामी जी का महत्वपूर्ण योगदान है। स्वामी विवेकानन्द जी और संतों ने हमारे राष्ट्र और राष्ट्रभक्ति को जीवंत बनाये रखा। उन्होंने कहा कि माँ गंगा हमारी धरोहर है। गंगा तो पहले से ही भारत की पहचान है, परन्तु स्वामी जी ने गंगा और भारतीय संस्कृति को एक नयी पहचान दी है। उन्होंने कहा कि हमारी युद्धनीति स्वार्थ के लिये नहीं, बल्कि परमार्थ के लिये है।
श्री डोभाल ने साध्वी भगवती सरस्वती को हिन्दूधर्म विश्वकोश के 11 खंडों के प्रकाशन के लिये धन्यवाद देते हुये कहा कि इस महाग्रंथ में हिन्दू धर्म और संस्कृति की जो वैज्ञानिक व्याख्या की गयी है वह अद्भुत है। महाअष्टमी और नवमी के पावन अवसर पर माँ गंगा के पावन तट पर स्वामी जी ने महाग्रंथ हिन्दूधर्म विश्वकोश की प्रति श्री डोभाल जी को भेंट स्वरूप प्रदान की। इस अवसर पर श्रीमती अनु डोभाल जी, पुत्र शौर्य डोभाल और दोनों बेटियाँ भी उपस्थित थी।
सं. संतोष
वार्ता
More News
कर्नाटक में कोरोना के सक्रिय मामलों में फिर से वृद्धि

कर्नाटक में कोरोना के सक्रिय मामलों में फिर से वृद्धि

27 Nov 2020 | 8:56 PM

बेंगलुरु 27 नवंबर (वार्ता) कर्नाटक में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 1,526 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या शुक्रवार रात जहां 8.82 लाख के करीब पहुंच गयी। वहीं स्वस्थ होने वाले मरीजो की संख्या में कमी से सक्रिय मामलों में वृद्धि देखी गयी जो चिंता की बात है।

see more..
नड्डा ने की सर्वांगीण विकास के लिए वोट करने की अपील

नड्डा ने की सर्वांगीण विकास के लिए वोट करने की अपील

27 Nov 2020 | 8:56 PM

हैदराबाद 27 नवम्बर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष जे पी नड्डा ने एक दिसंबर को हाेने वाले ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव (जीएचमसी) चुनाव में लोगों से पार्टी को सर्वांगीण विकास के लिए समर्थन करने और भ्रष्टाचार को समाप्त करने की अपील की है।

see more..
image