Saturday, Dec 7 2019 | Time 07:34 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अमेरिकी सरकार लगा सकती है बोइंग कंपनी पर चार अरब का जुर्माना
  • झारखंड में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच दूसरे चरण का मतदान शुरू
  • ईरान ने जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका पर साधा निशाना
  • किंग सलमान ने अमेरिका के साथ सहयोग का दिया निर्देश
  • ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया समाप्त की जाय: व्हाइट हाउस
  • बगदाद में प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी, 16 की मौत, 47 घायल
  • बगदाद में गोलीबारी में पांच प्रदर्शनकारियों की मौत
राज्य » राजस्थान


चिकित्सकों के 737 पदों पर भर्ती के लिए मिली वित्तीय स्वीकृति-शर्मा

चिकित्सकों के 737 पदों पर भर्ती के लिए मिली वित्तीय स्वीकृति-शर्मा

जयपुर 17 जुलाई (वार्ता) राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि 737 चिकित्सकों की नई भर्ती के लिए वित्तीय स्वीकृति मिली है तथा इन पदों पर भर्ती के लिए राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय को पत्र लिख दिया गया है।

डॉ. शर्मा ने आज विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान विधायकों की ओर से पूछे गए पूरक प्रश्नों के उत्तर में बताया कि पैरामेडिकल संवर्ग के 15 हजार पदों पर भर्ती प्रक्रियाधीन है। भर्ती प्रक्रिया के पूरी होने के उपरांत आदिवासी क्षेत्र में खाली पैरामेडिकल के रिक्त पदों को भी भरने की कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र झाड़ोल में ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी के दो पद स्वीकृत हैं और दोनों पदों पर चिकित्सक कार्यरत हैं। कनिष्ठ विशेषज्ञ के 11 पद स्वीकृत हैं, जिनमें से एक पद भरा हुआ है और 10 पद रिक्त हैं।

उन्होंने बताया कि वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी के दो पद स्वीकृत और दोनों पद भरे हुए हैं। चिकित्सा अधिकारी के 28 पद स्वीकृत हैं, जिनमें से 17 चिकित्सक पदस्थापित हैं और इनमें से दो चिकित्सक पीजी करने गए हुए हैं। चिकित्सा अधिकारी दंत के तीन पद स्वीकृत हैं और यह पद रिक्त हैं। इस तरह यहां कुल 46 पद स्वीकृत हैं, जिनमें से 22 पद भरे हुए हैं और 24 पद खाली हैं।

More News
पोक्सो एक्ट के तहत आरोपियों को दया याचिका से वंचित करना चाहिए-कोविंद

पोक्सो एक्ट के तहत आरोपियों को दया याचिका से वंचित करना चाहिए-कोविंद

06 Dec 2019 | 4:19 PM

सिराेही, 06 दिसंबर (वार्ता) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महिला सुरक्षा पर गंभीर चिंता जताते हुए कहा है कि पोस्को एक्ट के तहत दुष्कर्म के आरोपियों को दया याचिका से वंचित कर देना चाहिए।

see more..
image