Monday, Feb 17 2020 | Time 19:17 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गांवों में 1562 मिट्टी जांच प्रयोगशालाओं को मंजूरी
  • रक्षा, रेलवे में शून्य आयात की ओर बढ़े इस्पात उद्योग: प्रधान
  • रुपया पांच पैसे चढ़ा
  • वनवासी रक्षा कुंभ का आयोजन 23 को होगा
  • ओडिशा में घने कोहरे के आसार
  • अनियंत्रित वाहन खाई में गिरने से छह मरे, बचाव अभियान जारी
  • ठाकरे अपनी राजनीतिक उपलब्धियों का श्रेय शिवनेरी किले की रेत को देते हैं
  • श्री बंसल ने एयर इंडिया सीएमडी का पदभार संभाला
  • जामिया छात्राें की याचिकाओं पर केन्द्र, दिल्ली सरकार, दिल्ली पुलिस को नोटिस
  • बदायूं में ट्रक से 463 पेटी शराब बरामद,दो गिरफ्तार
  • बदायूं में ट्रक से 463 पेटी शराब बरामद,दो गिरफ्तार
  • श्री मुक्तसर साहिब में किया गया 73 स्कूल वाहनों का चालान, पांच वाहन किये गये जब्त
  • रबादा और डू प्लेसिस की टी-20 में वापसी
  • नेतृत्व परिवर्तन की खबरें अफवाह: त्रिवेंद्र
  • कुशीनगर हादसे में मोटरसाइकिल सवार तीन युवकों की मृत्यु
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


चेक बाऊंस मामले में : भाजपा विधायक की पत्नी को नोटिस देने आई हैदराबाद पुलिस लौटी खाली हाथ

कैथल, 18 अगस्त (वार्ता) लिये हुए रिण के भुगतान के लिए दिये चेक बाऊंस मामले में हाल में भारतीय जनता पार्टी में शामिल विधायक की पत्नी को जांच में शामिल होने के लिए नोटिस देने आई हैदराबाद पुलिस की टीम आज हरियाणा के कैथल पहुंची पर घर पर कोई न होने के कारण उसे खाली हाथ लौटना पड़ा।
सूत्रों के अनुसार पुंढरी विधायक दिनेश कौशिक की पत्नी संध्या कौशिक ने यह चेक जारी किये थे जो बाऊंस हो गये। हैदराबाद पुलिस यहां श्रीमती कौशिक को जांच में शामिल होने के लिए नोटिस देने आई थी पर उसे खाली हाथ लौटना पड़ा क्योंकि घर पर न तो श्री कौशिक न श्रीमती कौशिक मौजूद थे।
इस बीच हालांकि पुलिस के आने की बात सुनकर विधायक के समर्थक घर के बाहर जमा हो गये। स्थानीय पुलिस हैदराबाद पुलिस टीम और प्रकरण में शिकायतकर्ता को पुंडरी पुलिस थाने ले गई।
शिकायतकर्ता के प्रतिनिधि घनश्याम ने आरोप लगाया कि घर के बाहर विधायक के समर्थकों ने उनसे धक्कामुक्की की।
घनश्याम के अनुसार श्रीमती कौशिक ने उनसे और उनकी पत्नी सरोज बाला से सितंबर 2018 में एक करोड़ का रिण यमुनानगर में स्टोन क्रशर स्थापित करने के लिए रिण लिया था।
सरोज बाला और रेणु कंडोई ने श्रीमती कौशिक के बैंक खाते में आरटीजीएस के जरिये 50 लाख रुपये स्थानांतिरत किये थे और एक करारनामा हुआ था कि हर महीने दस लाख रुपये किश्त के रूप में और ढाई लाख रुपये ब्याज के रूप में भुगतान किया जायेगा। विधायक इस मामले में गारंटर थे।
शिकायतकर्ता के अनुसार तीन महीनों तक थोड़ी रकम का भुगतान किया गया पर फिर भुगतान रोक दिया गया। जिसके बाद वह श्री कौशिक से कई बार मिले। श्रीमती कौशिक ने दस दस लाख रुपये के दो चेक जारी किये पर दोनों चेक बाऊंस हो गये जिसके बाद संध्या कौशिक एंड एसोसिएट्स के खिलाफ रेणु बाला ने बकाया 32़ 50 लाख रुपये के लिए तथा सरोज बाला ने 47़ 50 लाख रुपये के लिए मामला दर्ज करवाया।
श्रीमती कौशिक ने दावा किया है कि उन्होंने रिण का भुगतान कर दिया है और उन्होंने कोई धोखाधड़ी नहीं की तथा कुछ निहित स्वार्थी तत्व इस मामले के पीछे हैं जो हरियाणा विधानसभा चुनावों से पहले उनकी पति की छवि खराब करना चाहते हैं।
सं महेश
वार्ता
image