Friday, Jul 3 2020 | Time 14:50 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तमिलनाडु में हमले में दो की मौत, दो घायल
  • कारखाना मजदूर यूनियन ने लुधियाना में किया प्रदर्शन
  • विंडीज टीम से जुड़े तेज गेंदबाज शैनन गेब्रियल
  • विंडीज टीम से जुड़े तेज गेंदबाज शैनन गेब्रियल
  • मेघालय में कोरोना मरीजों की रिकवरी दर 72 88 फीसदी
  • कोरोना के साथ मोटापा हो सकता है घातक : डब्ल्यूएचओ
  • ममता ने ब्रिगेडियर विकास समयाल के निधन पर शोक जताया
  • सिंधिया ने आपातकाल का किया विरोध, लॉकडाउन को बताया देशहित में
  • दक्षिण कोरिया में कोरोना संक्रमितों की संख्या 12,967 हुई
  • ओडिशा में सड़क हादसे में चार लड़कों की मौत
  • राज्यों को केंद्र ने दिये 2 02 करोड़ एन95 मास्क और 1 18 करोड़ पीपीई किट
  • आलोक मित्तल अपराध जांच विभाग में ओएसडी नियुक्त
  • बीमार पड़ने के बाद आइसोलेशन में गए सैम करेन
  • बीमार पड़ने के बाद आइसोलेशन में गए सैम करेन
  • परिवारों के झगड़े ने ली प्रेमी युगल की जान
लोकरुचि


छठमय हुयी राजधानी पटना

छठमय हुयी राजधानी पटना

पटना 02 नवंबर (वार्ता) लोक आस्था के महापर्व छठ को लेकर राजधानी पटना भक्तिमय हो गयी है।

छठ को लेकर राजधानी पटना समेत पूरे बिहार के घर-घर में छठ के गीत गूंजने लगे हैं। “ केलवा जे फरेला घवद से, ओह पर सुगा मेड़राय, आदित लिहो मोर अरगिया., दरस देखाव ए दीनानाथ., उगी है सुरुजदेव., हे छठी मइया तोहर महिमा अपार., कांच ही बास के बहंगिया बहंगी लचकत जाय ..... , गीत सुनने को मिल रहे हैं।

राजधानी पटना के लोग आज अस्ताचल सूर्य को अर्ध्य देंगे जिसके लिये जहां साफ-सफाई से लेकर सुरक्षा और अन्य तैयारियां पूरी कर ली गयी है वहीं छठ व्रतियों में उत्साह और रौनक देखते ही बन रही है । छठ की छटा आजपूरी राजधानी में छाई हुयी है। घर से लेकर घाट तक, गलियों से लेकर सड़कों तक... हर तरफ आकर्षक सजावट दिख रही है। पुलिस प्रशासन भी अलर्ट है।

पटना में गंगा घाटों पर छठ पूजा करने के लिए जिला प्रशासन की तरफ से कई सुविधाएं मुहैया करायी गयीं हैं। सूर्योपासना के इस महापर्व को लेकर हर तरफ स्वच्छता और शुचिता का ध्यान रखा जा रहा है। छठ महापर्व पर आज दोपहर 12 बजे से शहर की यातायात व्यवस्था बदली रहेगी। तीन नवंबर की सुबह आठ बजे तक शहर में छोटे—बड़े मालवाहक वाहनों के परिचालन पर रोक लगा दी गयी है। वहीं, गांधी सेतु पर वाहनों का परिचालन पहले की तरह जारी रहेगा। न्यू बाईपास, करमलीचक मोड़ से पटना सिटी की ओर जाने वाले सभी प्रकार के वाहनों के प्रवेश पर रोक रहेगी। कारगिल चौक से दीदारगंज के बीच कोई वाहन नहीं चलेंगे। घाटों के नजदीक बनी पार्किंग से व्रती पैदल जाएंगे।

प्रेम सूरज

जारी वार्ता

More News
लाॅकडाउन ने गिराये लहसुन के भाव

लाॅकडाउन ने गिराये लहसुन के भाव

28 Jun 2020 | 7:27 PM

इटावा, 28 जून (वार्ता) व्यजंनो का स्वाद बढ़ाने के अलावा तमाम बीमारियों में आर्युवेदिक दवा के तौर पर इस्तेमाल किये जाने वाले लहसुन के दाम लाकडाउन के चलते औंधे मुंह आ गिरे है। बंपर पैदावार के बावजूद कोरोना वायरस के डर से लोगों के होटल,रेस्तरां में जाने से परहेज करने और शादी बारातों के टलने से कभी 21 हजार रुपये प्रति कुंतल बिकने वाला लहसुन आज थोक मंडियों में तीन हजार रूपये प्रति क्विंटल उपलब्ध है।

see more..
तेंदुओ की कत्लगाह बनती जा रही है चंबल घाटी

तेंदुओ की कत्लगाह बनती जा रही है चंबल घाटी

27 Jun 2020 | 8:16 PM

इटावा, 27 जून (वार्ता) एक जमाने में दस्यु गिरोह की पनाहगार के कारण कुख्यात चंबल घाटी तेंदुआ समेत अन्य वन्य जीवों के लिये मुफीद शरणस्थली के तौर पर जानी जाती थी लेकिन डाकुओं के सफाये के बाद रिहायशी क्षेत्र में बढ़ोत्तरी होने के बीच तेंदुआ समेत अन्य जीव हादसों का शिकार होकर अपनी जान गंवाते रहे हैं।

see more..
देश के सर्वाधिक घड़ियाल और मगरमच्छ चम्बल में मौजूद

देश के सर्वाधिक घड़ियाल और मगरमच्छ चम्बल में मौजूद

25 Jun 2020 | 6:57 PM

औरैया, 25 जून (वार्ता) उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश के ठेठ बीहड़ों के बीच विचरण करने वाली स्वच्छ नदी चंबल में भारी संख्या में घड़ियालों और मगरमच्छों ने अपना आशियाना बना लिया है।

see more..
मिठास के जैैसी ही रोचक है लंगड़ा आम की जन्मकथा

मिठास के जैैसी ही रोचक है लंगड़ा आम की जन्मकथा

22 Jun 2020 | 2:27 PM

देवरिया,20 जून (वार्ता) यूं तो उत्तर भारत खासकर उत्तर प्रदेश में दशहरी आम के स्वाद का कोई जोड़ नहीं है लेकिन बड़े आकार के गदराये लंगड़ा आम की मिठास के भी दीवानों की यहां कोई कमी नहीं है।

see more..
प्रजनन के लिए घड़ियालों की पंसदीदा नदी बनी यमुना

प्रजनन के लिए घड़ियालों की पंसदीदा नदी बनी यमुना

21 Jun 2020 | 2:12 PM

इटावा , 21 जून (वार्ता) देश की सबसे प्रदूषित नदियों मे शुमार यमुना नदी में सैकड़ों नन्हे घड़ियालों की मौजूदगी इस बात का संकेत दे रही है कि डायनासोर प्रजाति के जलीय जीव प्रजनन के लिये चंबल नदी को छोड़कर यमुना को अपना नया आशियाना बना रहे है।

see more..
image