Tuesday, Aug 20 2019 | Time 22:08 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पुरी के व्यापार से कोई संबंध नहीं - कमलनाथ
  • इदलिब में किसी भी आतंकवादी हमले का जबाब हम देंगे- रुस
  • जम्मू-कश्मीर में अनेक हिस्सों में हालत सामान्य
  • उप्र में पर्यटन की 66 योजनाओं के लिए 398 49 करोड़ स्वीकृत
  • किसानों को नई सट्टा नीति के तहत गन्ने की पर्चियां होंगी जारी:चौहान
  • उत्तराखंड में भारी बारिश और बाढ़ से अब तक 59 लोगों की मौत
  • रामबिलास शर्मा ने केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री से बातचीत की
  • ई-वीजा शुल्क को बनाया गया आकर्षक-पटेल
  • चिदम्बरम के घर से बैरंग लौटी सीबीआई और ईडी की टीम
  • सहारनपुर पत्रकार हत्याकाण्ड के मुख्य आरोपी समेत तीन गिरफ्तार
  • जम्मू-कश्मीर के लोगों को विश्वास में लिए बिना अनुच्छेद 370 हटाया गया: मुकुल संगमा
  • भारत के बारे में पर्यटकों की राय पता लगाने का निर्देश
  • वन महोत्सव के तहत कोविंद ने किया पौधारोपण
  • आजाद को जम्मू हवाई अड्डे से वापस किया गया
  • मजदूरी मांगने पर मजदूर की गोली मारकर हत्या
भारत


छपास एवं दिखास के नशे से बचें सांसद : मोदी

छपास एवं दिखास के नशे से बचें सांसद : मोदी

नयी दिल्ली 25 मई (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नये एवं पुराने सांसदों को आज आगाह किया कि वे बड़बोलेपन और मीडिया के माेह से बचें अन्यथा खुद उनके साथ सरकार को भी संकट पेश आ सकता है।

श्री मोदी ने संसद के केन्द्रीय कक्ष में राजग संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद नवनिर्वाचित सांसदों और घटक दलों के नेताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि कई साथी ‘छपास’ एवं ‘दिखास’ के रोग में फंस जाते हैं। पहले आकर्षण लगने वाली यह चीज़ यह एक प्रकार का नशा है और हम इसके शिकार हो जाते हैं।। इससे बच कर चलना है। उन्होंने कहा कि कभी कभी छोटी मोटी बातें बहुत बड़े कामों में व्यवधान डालतीं हैं। हमारा मोह हमें संकट में डालता है। इसलिए हमारे नए और पुराना साथी इन चीजों से बचें क्योंकि अब देश माफ नहीं करेगा। हमारी बहुत बड़ी जिम्मेदारियां है। हमें इन्हें निभाना है। वाणी से, बर्ताव से, आचार से, विचार से हमें अपने आपको बदलना होगा।

प्रधानमंत्री ने अपने नये मंत्रिमंडल के सदस्यों के नामों को लेकर मीडिया की रिपोर्टों एवं अटकलों से खुद को बचा कर रखने की भी सलाह दी और कहा कि उन्हें इसके अलावा भी तमाम बाहरी दलाल भी मंत्री बनाने का झांसा देने की कोशिश कर सकते हैं लेकिन वे किसी के बहकावे में नहीं आये। मंत्रिमंडल जिसको बनाना है, वही बनाएगा और अखबार के पन्नों से मंत्रिमंडल नहीं बना करते हैं। प्रधानमंत्री ने नये सांसदों को अपने स्टाफ के चयन में सतर्कता बरतने और दलालों के चंगुल से बचने की भी सलाह दी।

उन्होंने सांसदों से ज़मीनी और विनम्र व्यवहार की अपेक्षा करते हुए सत्ता-भाव न देश का मतदाता स्वीकार करता है, न पचा पाता है। हम चाहे भाजपा या राजग के प्रतिनिधि बनकर आए हों, जनता ने हमें स्वीकार किया है सेवाभाव के कारण। हमारे अंदर सेवा भाव बढ़ता जाएगा तो उसी के साथ सत्ता भाव कम होता जाएगा और हम देखेंगे कि सेवा भाव बढ़ने के साथ ही हमारे प्रति जनता जनार्दन का आशीर्वाद बढ़ता जाएगा। हमारे लिए और देश के उज्ज्वल भविष्य के लिए सेवा भाव से बड़ा कोई मार्ग नहीं हो सकता है।

उन्होंने कहा, “युग बदल चुका है। वीआईपी संस्कृति से देश को बड़ी नफरत है। हम भी नागरिक हैं तो कतार में क्यों खड़े नहीं रह सकते। हमें जनता को ध्यान में रखकर खुद को बदलना चाहिए। लाल बत्ती हटाने से कोई आर्थिक फायदा नहीं हुए, पर जनता के बीच अच्छा संदेश गया है।”

सचिन टंडन

वार्ता

More News
वन महोत्सव के तहत कोविंद ने किया पौधारोपण

वन महोत्सव के तहत कोविंद ने किया पौधारोपण

20 Aug 2019 | 9:19 PM

नयी दिल्ली, 20 अगस्त (वार्ता) राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ‘वन महोत्सव’ समारोह के तहत मंगलवार को राष्ट्रपति भवन में एक औषधीय पौधा लगाकर पौधारोपण अभियान की शुरुआत की।

see more..
दिल्ली में बाढ़ का खतरा बढ़ा

दिल्ली में बाढ़ का खतरा बढ़ा

20 Aug 2019 | 9:01 PM

नयी दिल्ली 20 अगस्त (वार्ता) हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से पिछले 40 वर्षाें में सबसे अधिक आठ लाख से अधिक क्यूसेक पानी यमुना में छोड़े जाने के बाद दिल्ली और हरियाणा में नदी तट के आस-पास के इलाकों में छह वर्षाें के बाद बाढ़ का खतरा उत्पन्न हो गया है ।

see more..
image