Thursday, Feb 27 2020 | Time 23:07 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • उपभोक्ताओं का फैसला सुनाने वालों के 38 फीसदी पद रिक्त
  • उत्तराखंड के अल्मोड़ा में तीन चरस तस्कर गिरफ्तार
  • ईमानदारी से टैक्स देना जरूरी : रविशंकर
  • श्रीलंका उत्तर भारत में व्यापार विस्तार करने को इच्छुक
  • श्रीलंका उत्तर भारत में व्यापार विस्तार करने को इच्छुक
  • फूल छाप कांग्रेसी, पार्टी की पीठ में छुरा घोंप रहे हैं - डॉक्टर साधो
  • आप ने ताहिर हुसैन को पार्टी से निकाला
  • विधि खनिज सलाहकार समेत कई लोगों से की सीबीआइ ने पूछताछ
  • आप के पार्षद ताहिर हुसैन पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित
  • चार दिन से लापता अधेड़ का शव कुएं से बरामद
  • हमीरपुर में सेवानिवृत्त आया की हत्या के मामले में तीन को उम्रकैद
  • प्रयोगशाला सहायकों के चयन में धांधली मामले में हाईकोर्ट सख्त
  • मॉरिशस के राष्ट्रपति पृथ्वीराज सिंह रुपन की विश्वनाथ मंदिर में पूजा
  • उप्र के प्रमुख नगरों का तापमान इस प्रकार रहा
  • योगी एवं टंडन ने किया कोनेश्वर महादेव मन्दिर परिसर का लोकार्पण
राज्य » अन्य राज्य


छात्र ने मोबाइल फोन के लिए की शिक्षक की हत्या

छात्र ने मोबाइल फोन के लिए की शिक्षक की हत्या

संबलपुर 15 सितंबर (वार्ता) ओडिशा में एक छात्र के शिक्षक दिवस के दिन ही अपने पसंदीदा शिक्षक की महज एक मोबाइल फोन के कारण हत्या किये जाने का मामला सामने आया है।

रविवार को इस घटना के सामने आते ही पूरे राज्य में ही नहीं पूरे देश में इस पर चर्चा शुरू हो गयी। देर से प्राप्त रिपोर्ट में पुलिस के हवाले से कहा गया है कि हृदयानंद प्रधान (47), जो डीपीए कॉलेज प्रमाणपुर के राजनीतिक विज्ञान विभाग के शिक्षक थे, अपने आवास पर पांच सितंबर को मृत पाये गये थे। वह उसी गांव में हाई स्कूल के क्वार्टर में रहते थे।

ससान पुलिस ने मौके पर पहुंचकर प्रारंभ में श्री प्रधान से मतभेद रखने वाले शिक्षकों के हत्या में शामिल होने का संदेह जताया। पुलिस जांच के लिए हॉस्टल के मैट्रॉन और कुछ अन्य कर्मचारियों को भी थाने ले गयी। लेकिन उनसे पूछताछ में पुलिस को काेई सफलता हाथ नहीं लगी।

इस बीच जांच के दौरान गत बुधवार की रात काे पुलिस को जानकारी मिली कि श्री प्रधान का चाेरी किया गया मोबाइल फोन का इस्तेमाल नये सिम कॉर्ड के साथ किया जा रहा है। पुलिस ने माजा मोबाइल ट्रैकिंग और साइबर तकनीक को अपनाते हुए मोबाइल का इस्तेमाल करने वाले की पहचान दुखनासन बाग उर्फ राजू (20) के तौर पर की। पुलिस ने अगले ही दिन राजू को गिरफ्तार कर लिया और उसके पास से शिक्षक का मोबाइल फोन भी बरामद कर लिया गया।

पूछताछ के दौरान राजू ने अपराध कबूल कर लिया तथा मोबाइल कवर और शिक्षक के घर की चाबी फेंके गये स्थलों की पहचान भी करायी।

ससान थाना की प्रभारी जयारश्मि सेठी ने कहा कि राजू को स्थानीय अदालत में पेश करने के बाद न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि राजू के अपने शिक्षक के साथ काफी मधुर संबंध थे और वह प्राय: अपने शिक्षक के घर जाया करता था। चूंकि शिक्षक एलआईसी का एजेंट भी था जिसकी किसी योजना में राजू पैसा भी लगाना चाहता था।

गत पांच सितंबर को शिक्षक दिवस के दिन राजू ने शिक्षक के घर पर भोजन पकाया था। राजू शिक्षक के महंगे मोबाइल को लेकर अपने लोभ पर नियंत्रण नहीं रख पाया तथा उसने उस दिन पीछे से शिक्षक पर वार कर दिया जिससे शिक्षक की मौके पर ही मौत हो गयी। इस जघन्य अपराध को अंजाम देने के बाद छात्र राजू मोबाइल के साथ फरार हो गया था।

संजय, रवि

वार्ता

image