Friday, Aug 23 2019 | Time 08:14 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोदी-मेक्रों ने सीमा पार आतंकवाद को रोकने का अनुरोध किया
  • ट्रम्प ने जी-7 सम्मिट में आर्थिक मुद्दे पर बातचीत का अनुरोध किया
  • नाइजीरिया में सड़क हादसे में 17 की मौत
  • कश्मीर मामले पर तीसरे पक्ष को नहीं करनी चाहिए दखलंदाजी : मैक्रों
  • योगी कैबिनेट विस्तार के बाद मंत्रियों को उनका विभाग बांट दिया गया
  • सीमा पार आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में फ्रांस ने हमेशा साथ दिया : मोदी
  • पूर्वी कालिमैनटन में होगी इंडोनेशिया की नयी राजधानी
  • सिंधू-प्रणीत क्वार्टरफाइनल में, सायना,श्रीकांत और प्रणय हारे
  • योगी कैबिनेट विस्तार के बाद मंत्रियों को उनका विभाग बांट दिया गया
  • जोफ्रा के कहर से ऑस्ट्रेलिया 179 पर ढेर
  • पोलैंड में आकाशीय बिजली गिरने से 5 की मौत, कई घायल
  • तुषार वेलापल्ली जमानत पर रिहा
बिजनेस


जर्मनी ने किया भारतीय उद्योगपतियों को आमंत्रित

नयी दिल्ली 11 फरवरी (वार्ता) जर्मनी ने भारतीय उद्योगपतियों से अपने आॅटोमोबाइल, मैकेनिकल इंजीनियरिंग और आॅप्टिक क्षेत्र में निवेश का आह्वान करते हुए सोमवार को कहा कि इससे दोनों पक्षों को लाभ हो सकता है।
जर्मनी के तुरिंगिया प्रांत के आर्थिक मामले, विज्ञान तथा डिजीटल सोसाइटी मंत्री वोल्फगांग तीफेंसी ने आज यहां भारतीय उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय उद्योगपतियों के लिये जर्मनी में निवेश और सहयोग के व्यापक अवसर पर उपलब्ध हैं। इसके लिये भारतीय उद्याेगपतियों को आॅटोमोबाइल, मैकेनिकल इंजीनियरिंग और आॅप्टिक क्षेत्र की ओर ध्यान देना चाहिए। उन्हाेंने कहा कि तुरिंगिया प्रांत ने निवेश का प्रोत्साहन देने के लिये अनेक रियायतों और छूट देने की घोषणा की है जिसका फायदा भारतीय कारोबारियों को मिल सकता है। श्री तीफेंसी के साथ एक कारोबारी प्रतिनिधिमंडल भी भारत की यात्रा पर आया है।
श्री तीफेंसी ने कहा कि तुरिंगिया यूरोप के मध्य में स्थित है जिससे पूरे महाद्वीप में आसानी से जाया जा सकता है। प्रांत आप्टिक उद्योग का केंद्र है और विश्व में अग्रणी है। आॅटोमोबाइल उद्योग की प्रमुख कंपनियां डैमलर, ओपेल, मेगना, बोस, बीएमडब्लयू या बोर्ग वारनर इस प्रांत में हैं और इंजीनियरिंग मैकेनिकल उद्योग को बेहतर अवसर उपलब्ध कराती हैं। इसके अलावा प्रांत में 40 से अधिक विश्वविद्यालयों में 10 हजार से अधिक वैज्ञानिक शोध कर रहे हैं जो उद्योग के अनुरुप है।
भारत और जर्मनी के आपसी व्यापार में 2017 के दौरान 10 प्रतिशत कर इजाफ हुआ है। दोनों देशों के बीच आपसी निवेश में भी लगातार इजाफा हो रहा है।
सत्या अर्चना
वार्ता
More News
25 करोड़ रुपये के कारोबार वाले स्टार्टअप को मिलेगी आयकर छूट: सीबीडीटी

25 करोड़ रुपये के कारोबार वाले स्टार्टअप को मिलेगी आयकर छूट: सीबीडीटी

22 Aug 2019 | 7:01 PM

नयी दिल्ली 22 अगस्त (वार्ता) केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने गुरूवार को स्पष्ट किया कि 25 करोड़ रुपये के कारोबार वाले छोटे स्टार्टअप को शुरूआत से सात वर्षाें तक में से तीन वर्ष की आय शत प्रतिशत कर मुक्त होगी।

see more..
image