Friday, Dec 6 2019 | Time 19:29 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गोवा में उर्दू काे तीसरी भाषा के रुप में पढाया जायेगा- मवहनन
  • निर्माता वैकल्पिक ईंधन से संचालित वाहन बनाएं : गडकरी
  • विदेशी मुद्रा भंडार पहली बार 450 अरब डॉलर के पार
  • साइबर अपराधियों ने जौहरी के 2़ 98 करोड़ रुपये उड़ाये
  • जम्मू-कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी ने शनिवार को पूर्ण जम्मू बंद की अपील की
  • राष्ट्रव्यापी जीएसटी हितधारक फीडबैक दिवस का आयोजन कल
  • जनहित के मुद्दों को लेकर फरवरी में होगी खाप महापंचायत
  • रेणुका सिंह गिनायेंगी 100 दिन की उपलब्धि
  • जल और हरियाली के बिना जीवन की परिकल्पना बेमानी : नीतीश
  • अविनाश खन्ना हरियाणा और गोवा प्रदेशाध्यक्षों के चुनाव हेतु पर्यवेक्षक नियुक्त
  • वित्त आयोग ने वर्ष 2020-21 के लिए रिपोर्ट वित्त मंत्री को सौंपी
  • आदि महोत्सव में 20 करोड़ रुपए की बिक्री
  • संवाद से रखी जाती है बेहतर भविष्य की नींव : मोदी
  • अजहरुद्दीन के नाम पर स्टैंड का अनावरण
  • अजहरुद्दीन के नाम पर स्टैंड का अनावरण
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


जालियांवाल बाग ट्रस्ट से कांग्रेस का आजीवन अध्यक्ष पद समाप्त: मलिक

जालियांवाल बाग ट्रस्ट से कांग्रेस का आजीवन अध्यक्ष पद समाप्त: मलिक

अमृतसर 19 नवंबर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष, राज्यसभा सांसद एवं जालियांवाल बाग़ ट्रस्ट के ट्रस्टी श्वेत मलिक ने जालियांवाल बाग़ से संबंधित राष्ट्रीय स्मारक संशोधन विधेयक पारित किये जाने का स्वागत करते हुए कहा कि किसी भी शहीदी स्थल पर किसी भी राजनीतिक दल का अाधिपत्य नहीं होना चाहिए।

श्री मलिक ने कहा कि राज्यसभा में पारित हुए राष्ट्रीय स्मारक संशोधन विधेयक में यह प्रावधान रखा गया है कि वर्षों से कांग्रेस अध्यक्ष के जालियांवाला बाग़ ट्रस्ट में चल रहे चेयरमैन पद को समाप्त किया जाए और उसकी जगह लोकसभा में सबसे बड़े विपक्षी दल के नेता को जगह मिलनी चाहिए। उन्होने कहा कि इस विधेयक के पारित होने से अब 72 वर्ष बाद कांग्रेस अध्यक्ष का ट्रस्ट में आजीवन पद खत्म हो गया है।

उन्होंने कहा कि देश की आजादी के लिए तथा अंग्रेजी सरकार के रौलेट एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हजारों मासूम निहत्थे लोगों पर जनरल डायर ने सैनिक कार्रवाई कर सैकड़ों लोगों की हत्या कर दी थी। अपने प्राण न्योछावर करने वाले शहीदों की धरती जालियांवाला बाग़ को देश-विदेश का हर आदमी नमन करने आता है और शहीदों को अपने श्रद्धासुमन अर्पित करता है। जालियांवाला बाग़ को विकसित करने और भारतीय तथा विदेशी सैलानियों को इसके इतिहास से रुबरु करवाने के लिए लगातार प्रयास जारी हैं।

श्री मलिक द्वारा सांस्कृतिक मंत्री महेश शर्मा की अध्यक्षता में ट्रस्ट द्वारा जालियांवाल बाग़ के विकास का ब्लू प्रिंट तैयार करके इसके विकास दस्तावेज को सर्वसम्मति से पारित कर दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र में कांग्रेस सरकार के समय इस ऐहासिक स्थल को नजरअंदाज किया जाता रहा है। उन्होंने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू जालियांवाल बाग़ के पहले ट्रस्टी भी थे। आजादी से लेकर 70 साल तक चली कांग्रेस सरकार में लम्बे समय से जालियांवाल बाग़ की स्थिति बहुत दयनीय बनी हुई थी और सैलनियों को बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ता था।

श्री मलिक ने बताया कि 2016 में ट्रस्टी बनाये जाने के बाद ट्रस्ट के प्रयासों से जालियांवाला बाग़ के विकास दस्तावेज पारित हो सके हैं। इससे संबंधित दिल्ली में एक उच्च-स्तरीय बैठक सांस्कृतिक मंत्री महेश शर्मा, प्रह्लाद पटेल, हरदीप सिंह पुरी की अध्यक्षता में जालियांवाला बाग के विकास से संबंधित आयोजित की गयी जिसमें श्री मलिक, तरलोचन सिंह पूर्व सांसद एवं ट्रस्टी, उषा शर्मा डायरेक्टर ज़नरल पुरातत्व विभाग, जुल्फकार अली क्षेत्रीय प्रमुख पुरातत्व विभाग तथा अन्य पदाधिकरियों ने भाग लिया तथा इस बैठक में आर्किटेक्ट वंदना राज द्वारा जालियांवाल बाग़ के विकास से संबंधित दस्तावेज प्रस्तुत किये जिन्हें सभी ने सर्वसम्मिति से पारित कर दिया।

सांसद ने बताया कि सैलानियों को इसके इतिहास से रुबरु करवाने के लिए अंग्रेजी, हिंदी और पंजाबी भाषा में 15 मिनट का ‘लाइट एन्ड शो’ कार्यक्रम भी शुरू करवाया जायेगा। उन्होंने कहा कि यहाँ पर सैलानियों के लिए वातानुकूलित विज़िटर गैलरी भी बनायी जाएगी जिसमें शहीदों के चित्र लगे होंगे ताकि सभी को उनकी पृष्ठभूमि की बारे में जानकारी मिल सके। बाग़ में स्थित ऐतिहसिक चिह्नों जैसे शहीदी कुआं, गोलियों के निशान और अन्य स्थलों को भी संरक्षित किया जायेगा, ताकि वे लम्बे समय तक सुरक्षित रह सकें। बाग़ में एक थ्री-डी थियेटर भी बनाया जा रहा है, जिसमें 10 मिनट का वित्तचित्र का प्रसारण किया जायेगा।

ठाकुर, यामिनी

वार्ता

image