Tuesday, Aug 4 2020 | Time 14:17 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भारतीय राखी ने चीन के राखी व्यापार को चार हजार करोड़ की लगाई चपत
  • आंध्र प्रदेश के प्रसिद्ध लोक गायक वंगापांडु का निधन
  • कोविड अस्पतालों में 50 हजार बेड तुरंत बनायें : योगी
  • पायलट की खट्टर के सुरक्षा चक्र से वापस लौटने पर ही कांग्रेस में वापसी संभव-सुरजेवाला
  • सीबीआई जांच की बिहार सरकार की सिफारिश गलत: मानेशिंदे
  • अयोध्या में भूमि पूजन को लेकर नेपाल की 579 किलोमीटर लंबी सीमा पर हाई अलर्ट
  • सारण में बाढ़ के पानी में डूबकर चिकित्सक और कंपाउंडर के मौत की आशंका
  • यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा का अंतिम परिणाम घोषित, प्रदीप सिंह को पहला स्थान
  • अयोध्या में सम्पन्न हुई रामार्चा पूजा
  • व्यापारी के खिलाफ महिला और तीन नाबालिग लड़कियों का देहशोषण का मामला दर्ज
  • कुवैत में फंसे भारतीयों को वापस लाने के मामले में सुनवाई टली
  • भविष्य निधि: दिल्ली पश्चिम कार्यालय ने किया सौ प्रतिशत दावों का निपटान
  • स्थिर रहे पेट्रोल-डीजल के दाम
  • लंदन के लिए सितंबर से उड़ान शुरू करेगी स्पाइसजेट
  • केकड़ी में कोरोना से दूसरी मौत
भारत


ड्रोन ऑपरेटरों को करनी होगी सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था

ड्रोन ऑपरेटरों को करनी होगी सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था

नयी दिल्ली 02 अगस्त (वार्ता) ड्रोनों ऑपरेटरों को इनकी उड़ान शुरू करने से पहले नागर विमानन सुरक्षा ब्यूरो (बीसीएएस) से सुरक्षा कार्यक्रम की मंजूरी लेनी होगी।

बीसीएएस ने एक आदेश में कहा है कि हर ऑपरेटर को दो किलोग्राम या इससे अधिक वजन के ड्रोन के परिचालन के लिए एक सुरक्षा कार्यक्रम बनाना होगा जिसमें रिमोट पायलटिंग स्टेशन और ड्रोन के दुरुपयोग और इसके सॉफ्टवेयर से छेड़छाड़ रोकने के उपायों का विवरण होगा। इस कार्यक्रम को ब्यूरो की मंजूरी मिलने के बाद ही ऑपरेटर ड्रोनों की उड़ान शुरू कर पायेगा।

आदेश में कहा गया है कि रिमोट पायलटिंग स्टेशन पर सिर्फ जरूरी कर्मचारियों की पहुँच होनी चाहिये। बायोमीट्रिक पहचान के आधार पर प्रवेश के लिए प्रणाली लगाने की सिफारिश की गई है। साथ ही वहाँ काम करने वाले सभी कर्मचारियों की पूरी जाँच के बाद ही उनकी नियुक्ति हो सकेगी। जहाँ ड्रोन रखे जायेंगे, उन स्थानों तक भी सीमित लोगों की पहुँच सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।

बीसीएएस ने कहा है कि ड्रोनों के सॉफ्टवेयर से किसी प्रकार की छेड़छाड़ न हो यह सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी भी ऑपरेटर की होगी। सुरक्षा कार्यक्रम में उसे यह बताना होगा कि ड्रोन हैक होने से रोकने के लिए उसने किसी प्रकार के साइबर सुरक्षा इंतजाम किये हैं। रिमोट पायलटिंग स्टेशन और ड्रोन रखने की जगह पर सीसीटीवी कैमरे लगाना अनिवार्य होगा। इसके बावजूद किसी प्रकार से सुरक्षा में सेंध की जानकारी होते ही बीसीएएस को इसके बारे में सूचित करना होगा।

सरकार ने देश में ड्रोनों के वाणिज्यिक परिचालन के लिए नियम तय कर दिये हैं। ड्रोनों के परिचालन के लिए इनका पंजीकरण अनिवार्य किया गया है। साथ ही उड़ान से पहले फ्लाइट प्लान नागर विमानन महानिदेशालय की वेबसाइट पर देनी होगी। भविष्य में बड़ी संख्या में ड्रोन के इस्तेमाल की संभावना को देखते हुए अभी से सुरक्षा संबंधी नियमों को पुख्ता बनाया जा रहा है। अच्छे उद्देश्यों के लिए ड्रोन के इस्तेमाल की जितनी संभावना है, उतना ही उसके दुरुपयोग का खतरा भी है।

अजीत, यामिनी

वार्ता

More News
भविष्य निधि: दिल्ली पश्चिम कार्यालय ने किया सौ प्रतिशत दावों का निपटान

भविष्य निधि: दिल्ली पश्चिम कार्यालय ने किया सौ प्रतिशत दावों का निपटान

04 Aug 2020 | 2:02 PM

नयी दिल्ली 04 अगस्त (वार्ता) कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के पश्चिम दिल्ली कार्यालय ने पिछले एक सौ दिन तक लगातार काम करते हुए शत प्रतिशत 91 हजार कोविड दावों को निपटान किया है और 140 करोड़ रुपए कामगारों को दिये हैं।

see more..
यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा का अंतिम परिणाम घोषित, प्रदीप सिंह को पहला स्थान

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा का अंतिम परिणाम घोषित, प्रदीप सिंह को पहला स्थान

04 Aug 2020 | 1:53 PM

नयी दिल्ली, 04 अगस्त (वार्ता) संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सिविल सेवा परीक्षा 2019 का अंतिम परिणाम मंगलवार को घोषित कर दिया जिसमें प्रदीप सिंह ने पहला स्थान हासिल किया, दूसरे स्थान पर जतिन किशोर और तीसरे स्थान पर प्रतिभा वर्मा रही हैं।

see more..
देशभर में 1,356 कोरोना टेस्ट लैब

देशभर में 1,356 कोरोना टेस्ट लैब

04 Aug 2020 | 1:39 PM

नयी दिल्ली 04 अगस्त (वार्ता) देशभर में काेरोना वायरस कोविड-19 की जांच करने वाले लैब की संख्या बढ़कर 1,356 हो गयी है।

see more..
कोरोना: वरिष्ठ नागरिकों की समुचित देखभाल का केंद्र को निर्देश

कोरोना: वरिष्ठ नागरिकों की समुचित देखभाल का केंद्र को निर्देश

04 Aug 2020 | 1:21 PM

नयी दिल्ली, 04 अगस्त (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने कोविड-19 महामारी के दौरान अकेले रह रहे वरिष्ठ नागरिकों की समुचित देखभाल करने के उपाय सुनिश्चित करने को लेकर केंद्र सरकार को मंगलवार को निर्देश दिया।

see more..
image