Thursday, Oct 17 2019 | Time 08:31 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • फिलीपींस में भूकंप से मरने वालों की संख्या 5 हुई
  • इराक ने आईएस के कई आतंकवादी हिरासत में लिए
  • अमेरिकी सांसद तुर्की के खिलाफ प्रतिबंध लगाने पर प्रस्ताव पेश करेंगे
  • सऊदी अरब में सड़क हादसे में 35 की मौत
  • ईयू द्वारा अमेरिकी कंपनियों पर डिजिटल टैक्स से ट्रंप नाखुश
  • फिलीपींस में भूकंप से एक की मौत,कई घायल
  • भाजपा ने देश को कांग्रेस के चंगुल से बचाया : स्मृति ईरानी
  • सीरिया में सैन्य गठबंधन ने अपने सैन्य शिविर को नष्ट किया
भारत


तीन तलाक विधेयक पारित कराना सरकार की बडी चुनौती

तीन तलाक विधेयक पारित कराना सरकार की बडी चुनौती

नयी दिल्ली, 16 जून (वार्ता) संसद के सोमवार से शुरु हो रहे सत्र में नयी सरकार के समक्ष तीन तलाक सहित दस महत्वपूर्ण अध्यादेशों को पारित कराने की चुनौती होगी ,वहीं विपक्षी दल सरकार को किसानों, बेरोजगारी, धर्मनिरपेक्षता, इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन जैसे कई मुद्दों पर घेरने का प्रयास करेगी।

प्रचंड जीत के साथ दूसरी बार सत्ता में आई मोदी सरकार ने संसद के पहले ही सत्र में तीन तलाक जैसे महत्वपूर्ण विधेयक को लाने का फैसला किया है जिसे पारित कराना उसके लिए एक बड़ी चुनौती होगी। तीन तलाक पर सरकार दो बार अध्यादेश लायी लेकिन इसे संसद से पारित कराने में असफल रही। इस पर पहला अध्यादेश पिछले वर्ष सितंबर में तथा दूसरा इस साल फरवरी में लाया गया था।

विपक्षी दल कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी के साथ ही कई अन्य विपक्षी दल पहले से ही तीन तलाक विधेयक का विरोध करते रहे हैं लेकिन इस बार भारतीय जनता पार्टी के महत्वपूर्ण सहयोगी जनत दल यू ने भी इसको लेकर विरोध शुरू कर दिया है इसलिए सरकार के समक्ष इसे पारित कराने की बडी चुनौती है।

कांग्रेस शुरु से इस विधेयक में आवश्यक संशोधन कराने की बात करती रही है और इस बार भी उसका कहना है कि कुछ संशोधनों के बाद भी इसमें खामियां हैं। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि कांग्रेस ने तीन तलाक पर कई बुनियादी बातें उठाई थी। उनमें से कई मुद्दों पर सरकार ने उनकी बात मान ली है लेकिन अभी भी परिवार की वित्तीय सुरक्षा सुनिश्चित करना जैसे कुछ मुद्दों का समाधान बाकी है।

लोकसभा में सोमवार और मंगलवार को चुनकर आए सभी सदस्यों को शपथ दिलायी जाएगी और बुधवार को 17वीं लोकसभा के लिए अध्यक्ष का चुनाव किया जाएगा। राज्यसभा का सत्र 20 जून से शुरू होना है और उसी दिन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दोनों सदनों को संयुक्त रूप से संबोधित करेंगे। उसके बाद राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा होगी। चार जुलाई को आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाएगा और पांच जुलाई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पेश करेगी।

अभिनव जितेन्द्र

जारी वार्ता

More News
कांग्रेस के कर्नाटक से रास सदस्य राममूर्ति का इस्तीफा

कांग्रेस के कर्नाटक से रास सदस्य राममूर्ति का इस्तीफा

16 Oct 2019 | 10:30 PM

नयी दिल्ली/बेंगलुरू, 16 अक्टूबर (वार्ता) कांग्रेस के कर्नाटक से राज्यसभा सांसद के सी राममूर्ति ने पार्टी में समस्याओं के समाधान के लिए बदलाव नहीं लाने का आरोप लगाते हुए बुधवार को उच्च सदन से इस्तीफा दे दिया।

see more..
संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवम्बर से शुरू होने की संभावना

संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवम्बर से शुरू होने की संभावना

16 Oct 2019 | 10:13 PM

नयी दिल्ली, 16 अक्टूबर (वार्ता) संसद का शीतकालीन सत्र अगले महीने की 18 तारीख से शुरू होकर दिसंबर के तीसरे सप्ताह चक चलने की संभावना है।

see more..
मंदी पर सरकार ने नहीं सुनी अभिजीत बनर्जी की बात  : चिदम्बरम

मंदी पर सरकार ने नहीं सुनी अभिजीत बनर्जी की बात : चिदम्बरम

16 Oct 2019 | 9:46 PM

नयी दिल्ली, 16 अक्टूबर (वार्ता) कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा पूर्व वित्त मंत्री पी चिदम्बरम ने बुधवार को कहा कि नोबेल पुरस्कार से सम्मानित अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी ने जब आर्थिक मंदी के प्रति आगाह किया था तो सरकार में किसी ने उनकी बात ही नहीं सुनी।

see more..
जस्टिस मिश्रा को सुनवाई से अलग करने की अर्जी पर बुधवार को फैसला

जस्टिस मिश्रा को सुनवाई से अलग करने की अर्जी पर बुधवार को फैसला

16 Oct 2019 | 9:29 PM

नयी दिल्ली, 16 अक्टूबर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय भूमि अधिग्रहण कानून में मुआवजे से संबंधित प्रावधानों की वैधता की सुनवाई करने वाली संविधान पीठ से न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा को अलग करने के अनुरोध पर अगले बुधवार को आदेश सुनायेगा।

see more..
अयोध्या विवाद: सुनवाई पूरी, फैसला सुरक्षित

अयोध्या विवाद: सुनवाई पूरी, फैसला सुरक्षित

16 Oct 2019 | 8:40 PM

नई दिल्ली, 16 अक्टूबर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद में बुधवार को फैसला सुरक्षित रख लिया।

see more..
image