Wednesday, Sep 18 2019 | Time 21:09 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • योगी एवं धर्मेन्द्र प्रधान ने किया बाटलिंग प्लान्ट का लोकार्पण
  • बिहार सरकार विवि परीक्षा में स्वर्ण पदक प्राप्त करने वालों को 31 हजार से करेगी सम्मानित : नीतीश
  • योगी एवं धमेन्द्र प्रधान ने किया उर्वरक कारखाने का निरीक्षण
  • बैंस की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज
  • ई-सिगरेट पर प्रतिबंध से स्वस्थ जीवन को बढ़ावा मिलेगा: हर्षवर्धन
  • बिहार भाजपा के नवनियुक्त अध्यक्ष संजय जायसवाल का पटना में भव्य स्वागत
  • बाबा जगन्नाथ सुरती वाले डेरे के महंत की हत्या, खेत से मिला शव
  • शिवानंद तिवारी के खिलाफ मानहानि मामले में संज्ञान
  • हत्या मामले में चाय दुकानदार को आजीवन कारावास
  • नाबालिग के साथ अप्राकृतिक यौनाचार एवं हत्या के मामले में दोषी को उम्रकैद
  • पंचायत चुनावों में आरक्षण देने की जनहित याचिका खारिज, सरकार को राहत
  • मुजफ्फरनगर में 12 तस्कर गिरफ्तार,एक करोड़ से अधिक की शराब आदि बरामद
  • सड़क हादसे में युवा किसान की मौत, भाई गम्भीर रूप से घायल
  • मोदी के विमान को अपने हवाई क्षेत्र से नहीं जाने देगा पाकिस्तान: कुरेशी
भारत


दिल्ली पर मंडराया बाढ़ का खतरा

दिल्ली पर मंडराया बाढ़ का खतरा

नयी दिल्ली, 19 अगस्त (वार्ता) हरियाणा के हथिनीकुंड बैराज से 40 साल बाद यमुना नदी में सबसे अधिक पानी छोड़े जाने के बाद दिल्ली में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है और जल स्तर 207 मीटर तक जाने का अनुमान है जिससे निचले इलाकों में स्थिति भयावह हो सकती है।

पहाड़ी क्षेत्रों और यमुना नदी के दायरे में आने वाले क्षेत्रों में पिछले कुछ दिनों से मूसलाधार बारिश से हथिनीकुंड बैराज से रविवार को 8.72 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। राष्ट्रीय राजधानी में यमुना नदी पर बने लोहे वाले पुल पर सोमवार सुबह जल स्तर खतरे के निशान को पार कर गया। इसे देखते हुए लोहे वाले पुल को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए सभी संबंधित विभागों की आपात बैठक बुलाई है, जिसमें खतरे से निपटने के लिए उठाये जाने वाले कदमों पर विचार किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि लोहे वाले पुल पर जल स्तर पर चेतावनी का निशान 204.50 मीटर है और आज अपराह्न 10 बजे तक यहां पर जल स्तर 204.80 मीटर हो गया। इसके कारण यमुना की तलहटी में रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर जाने के लिए कहा गया है। बारह बजे जल स्तर 204.88 मीटर को पार कर गया है ।

केंद्रीय गृह मंत्रालय की प्रवक्ता ने ट्वीट कर कहा है कि यमुना के दायरे में आने वाले क्षेत्रों में भारी वर्षा से यमुना नदी में बाढ़ का खतरा उत्पन्न हो गया है। प्रवक्ता के अनुसार आज शाम छह बजे तक लोहे वाले पुल पर जल स्तर 205.33 मीटर तक पहुंच जाने की आशंका है। पानी में लगातार वृद्धि की आशंका जताते हुए प्रवक्ता ने कहा कि 21 अगस्त को सुबह जल स्तर 207 मीटर तक पहुंच जाने का अनुमान है।

वर्ष 1978 में हथिनीकुंड बैराज से सात लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया था जिससे दिल्ली में भयंकर बाढ़ आई थी। यमुना के निचले इलाकों के अलावा माडल टाउन समेत कई पाश इलाके भी लबालब हो गए थे।

यमुना में संभावित बाढ़ को देखते हुए प्रशासन सतर्क हो गया है। प्रशासन मुनादी कर यमुना की तलहटी में बसे लोगों को वहां से सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कह रहा है। तलहटी से निकाले जाने वाले लोगों के लिए यमुना किनारे के पुश्तों पर टेंट लगाए गए हैं और करीब पांच हजार लोगों को निकाला जा चुका है।

प्रशासन ने 44 नावों के साथ ही 27 गोताखोरों की टीमों को अलग-अलग तैनात कर दिया है। अधिकारी खुद मौके पर जाकर स्थिति का जायजा ले रहे हैं जिससे कि किसी प्रकार की अनहोनी को टाला जा सके।

मिश्रा.श्रवण

वार्ता

More News
दिल्ली सरकार देगी दसवीं-बारहवीं के 3.14 लाख विद्यार्थियों का परीक्षा शुल्क

दिल्ली सरकार देगी दसवीं-बारहवीं के 3.14 लाख विद्यार्थियों का परीक्षा शुल्क

18 Sep 2019 | 8:43 PM

नयी दिल्ली 18 सितंबर (वार्ता) दिल्ली सरकार ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के दसवीं और बारहवीं के 3.4 लाख विद्यार्थियों का परीक्षा शुल्क देने की घोषणा की है।

see more..
एससी/एसटी कानून को लेकर केंद्र की याचिका पर  फैसला सुरक्षित

एससी/एसटी कानून को लेकर केंद्र की याचिका पर फैसला सुरक्षित

18 Sep 2019 | 8:31 PM

नयी दिल्ली, 18 सितंबर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने बुधवार को अनुसूचित जाति एवं जनजाति (एससी/एसटी)(अत्याचार निवारण) कानून पर गत वर्ष 20 मार्च के न्यायालय के फैसले के खिलाफ केंद्र सरकार की पुनर्विचार याचिका पर बुधवार को निर्णय सुरक्षित रख लिया।

see more..
छोटे उद्याेग हैं देश का भविष्य: पीयूष

छोटे उद्याेग हैं देश का भविष्य: पीयूष

18 Sep 2019 | 8:04 PM

नयी दिल्ली, 18 सितंबर (वार्ता) केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने छोटे उद्योगों को देश का भविष्‍य करार देते हुए बुधवार को कहा कि उद्योग जगत को ‘मेक इन इंडिया’ उत्‍पादों के ब्रांड मूल्‍य पर ध्‍यान केन्द्रित करना चाहिए।

see more..
image