Sunday, Mar 29 2020 | Time 07:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चीन में कोविड-19 के 477 मरीजों को अस्पताल से मिली छुट्टी
  • अमेरिका में न्यूयॉर्क सहित चार राज्यों के लिए यात्रा परामर्श
  • अमेरिका में कोविड-19 से संक्रमितों की संख्या 2000 के पार पहुंची
  • सऊदी अरब में यात्रा, कर्मचारियों के कार्यस्थल पर आने पर लगी रोक की अवधि बढ़ी
  • पोप फ्रांसिस नहीं हैं कोरोना वायरस से संक्रमित
  • इटली में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या पहुंची 10000 के पार
  • यूनान में कोरोना संक्रमितों की संख्या पहुंची 1000 के पार
  • जम्मू-कश्मीर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 33 हुई
भारत


दिल्ली पुलिस जवानों को स्वत:संज्ञान लेने का आदेश

दिल्ली पुलिस जवानों को स्वत:संज्ञान लेने का आदेश

नयी दिल्ली, 26 फरवरी (वार्ता) दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिल्ली पुलिस काे नागरिकता (संशोधन) कानून (सीएए) को लेकर हिंसा का स्वत: संज्ञान लेने का बुधवार को आदेश दिया।

न्यायालय में घायलों को तुरंत उचित मेडिकल सुविधा मुहैया कराने और उन्हें अस्पतालों तक सुरक्षित पहुंचाने की अपील को लेकर याचिका दायर की गयी थी। याचिकाकर्ता ने कहा कि दिल्ली में बड़े पैमाने पर हुई हिंसा में सैकड़ों लोग घायल हुए हैं जो बड़े अस्पतालों में इलाज के लिए नहीं जा पा रहे हैं।

उच्च न्यायालय ने दिल्ली पुलिस काे सीएए को लेकर भड़की हिंसा के दौरान घायल हुए सभी लोगों की सुरक्षा और इलाज सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।

न्यायमूर्ति एस मुरलीधर और न्यायमूर्ति अनूप जे भंभानी की खंडपीठ ने याचिका पर तत्काल सुनवाई के बाद दिल्ली पुलिस को सभी घायलों को इलाज के लिए सरकारी अस्पतालों तक सुरक्षित मार्ग मुहैया कराने का निर्देश दिया। न्यायालय ने कहा कि इस स्तर पर सबसे बड़ी चिंता घायलों की सुरक्षा तथा यह सुनिश्चित करना है कि उन्हें जीटीबी अस्पताल, एलएनजेपी अस्पताल या मौलाना आजाद अथवा किसी अन्य सरकारी अस्पताल में पहुंचने के लिए सुरक्षित मार्ग मिल सके।

न्यायालय ने कहा कि आदेश को दिल्ली में गुरु तेग बहादुर और लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्पतालों के चिकित्सा अधीक्षकों को प्रेषित किया जाए और अनुपालन रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा जाये।

गौरतलब है कि सीएए को लेकर सोमवार को भड़की हिंसा के कारण दिल्ली में 20 से अधिक लोगों की मौत हो गयी और 200 से अधिक लोग घायल हो गये हैं।

गौरतलब है कि सीएए को लेकर सोमवार को भड़की हिंसा के कारण दिल्ली में 20 से अधिक लोगों की मौत हो गयी और 200 से अधिक लोग घायल हो गये हैं।

संजय.श्रवण

वार्ता

More News
गडकरी का टोल संचालकों से पैदल यात्रियों को भोजन-पानी देने का आग्रह

गडकरी का टोल संचालकों से पैदल यात्रियों को भोजन-पानी देने का आग्रह

28 Mar 2020 | 11:54 PM

नयी दिल्ली, 28 मार्च (वार्ता) सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने टोल प्लाजा संचालकों तथा अन्य लोगो से 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बाद पैदल अपने घरों को लौटने को मजबूर लोगों को भोजन, पानी आदि उपलब्ध कराने का आग्रह किया है।

see more..
गौड़ा ने प्रधानमंत्री राहत कोष में एक करोड़ रुपए दिए

गौड़ा ने प्रधानमंत्री राहत कोष में एक करोड़ रुपए दिए

28 Mar 2020 | 10:55 PM

नयी दिल्ली 28 मार्च (वार्ता) रसायन एवं उर्वरक मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा ने कोरोना वायरस से सुरक्षा एवं उपचार के लिए अपना एक माह का वेतन और सांसद निधि से एक करोड़ रुपए की राशि देने की घोषणा की है ।

see more..
लॉक डाउन के बावजूद आंनद विहार में जुटे हजारों प्रवासी मजदूर

लॉक डाउन के बावजूद आंनद विहार में जुटे हजारों प्रवासी मजदूर

28 Mar 2020 | 10:46 PM

नयी दिल्ली, 28 मार्च (वार्ता) लॉकडाउन के दौरान गरीब मजदूर और बेसहारा लोगों की मदद के लिए सरकार की ओर से भले ही तरह तरह की योजनाओं की घोषणा की गई हो लेकिन अपने वतन जाने के लिए हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर आज आनंद विहार बस अड्डे के पास पहुंच गए है।

see more..
बड़ी संख्या में प्रवासी मज़दूरों का पलायन शर्मनाक : राहुल

बड़ी संख्या में प्रवासी मज़दूरों का पलायन शर्मनाक : राहुल

28 Mar 2020 | 8:59 PM

नयी दिल्ली, 28 मार्च (वार्ता) कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रवासी मज़दूरों का 21 दिन के लॉकडाउन के कारण बड़ी संख्या में पैदल अपने घरों को पलायन करने को गंभीर स्थिति बताते हुए कहा है कि यह शर्मनाक है कि सरकार के पास इस संकट से निपटने की कोई योजना नही है।

see more..
image