Friday, Mar 5 2021 | Time 13:25 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पुड्डुचेरी में नौ करोड़ रुपये का 18 किलोग्राम सोना जब्त
  • आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों के वाहन पर हथगोला फेंका
  • अफगानिस्तान में हिमस्खलन से 14 लोगों की मौत, पांच घायल
  • विश्व में कोरोना संक्रमितों की संख्या 11 56 करोड़ के पार
  • महाराष्ट्र में कोरोना के सक्रिय मामलों में लगातार वृद्धि, केरल में घटे
  • मोदी ने बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की
  • बारामूला में तलाश एवं घेराबंदी अभियान शुरू
  • कोरोना के सक्रिय मामले और मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी
  • शिवराज को मोदी समेत वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने दीं जन्मदिन की शुभकामनाएं
  • नायडू ने की देश दुनिया में शांति समृद्धि की कामना
  • विदेशों में उबाल, देश में छठवें दिन ईंधन की कीमतों में टिकाव
  • अमेरिका में अर्थव्यवस्था के लिए 1 9 ट्रिलियन डॉलर का राहत पैकेज
  • ब्राजील में कोविड-19 से 2 60 लाख से अधिक लोगों की मौत
  • ताइवान को हथियारों की आपूर्ति करना आवश्यक : एडमिरल डैविडसन
भारत


दिल्ली में हिंसा की घटनाओं की निष्पक्ष जांच जरूरी : विपक्ष

दिल्ली में हिंसा की घटनाओं की निष्पक्ष जांच जरूरी : विपक्ष

नयी दिल्ली 28 जनवरी (वार्ता) कांग्रेस सहित करीब 16 विपक्षी दलों के नेताओ ने तीनों कृषि कानूनों को किसानों के हितों पर हमला बताते हुए आंदोलन को सही ठहराया और कहा कि दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा साजिश का हिस्सा है तथा इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।

कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस, नेशनल कॉन्फ्रेंस, द्रविड़ मुन्नेत्र कषगम, तृणमूल कांग्रेस, शिवसेना, समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, आरएसपी एवं पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी सहित 16 के नेताओं ने कहां की तीनों कानून किसानों पर थोपा जा रहा है और इसके विरोध में वे सभी दल संसद के बजट सत्र से पहले शुक्रवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के संयुक्त सदन में होने वाले अभिभाषण का बहिष्कार करेंगे।

बयान में कहा गया है कि किसान मिलकर तीन खेती विरोधी कानूनों के खिलाफ संघर्ष कर रहे हैं लेकिन भाजपा सरकार इन कानूनों को मनमाने ढंग से किसानों पर थोपकर लागू कर दिए हैं। ये कानून कृषि के लिए बड़ा खतरा हैं और इनसे करीब 60 प्रतिशत जनता एवं करोड़ों किसान, बंटाईदार और खेत मजदूर की आजीविका तबाह हो जाएगी।

बयान के मुताबिक किसानों का आंदोलन 64 दिनों से चल रहा है और इस दौरान 155 किसानों की जान जा चुकी है। यह आंदोलन प्रायः शांतिपूर्वक रहा लेकिन दुर्भाग्य से 26 जनवरी को दिल्ली में हिंसा की कुछ घटनाएं हुईं जिनका हर जगह एक स्वर और स्पष्ट रूप से निंदा हुई।

अभिनव.संजय

जारी.वार्ता

More News
मोदी ने बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की

मोदी ने बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की

05 Mar 2021 | 11:57 AM

नयी दिल्ली 05 मार्च (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की है।

see more..

05 Mar 2021 | 10:54 AM

see more..
कोरोना के सक्रिय मामले और मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी

कोरोना के सक्रिय मामले और मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी

05 Mar 2021 | 10:25 AM

नयी दिल्ली 05 मार्च (वार्ता) देश के कुछ राज्यों में कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण में पिछले कुछ समय से अचानक आयी तेजी के बीच सक्रिय मामलों में बढ़ोतरी जारी है और इस महामारी से मरने वाले लोगों की संख्या फिर 100 से अधिक हो गई है।

see more..
नायडू ने की देश दुनिया में शांति समृद्धि की कामना

नायडू ने की देश दुनिया में शांति समृद्धि की कामना

05 Mar 2021 | 10:15 AM

नयी दिल्ली 05 मार्च (वार्ता) उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने शुक्रवार को तिरुमाला में प्रभु वेंकटेश्वर के दर्शन किये और देश दुनिया के लिए समृद्धि और खुशहाली की कामना की।

see more..
image