Tuesday, Jun 2 2020 | Time 18:06 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भामाशाहों को विद्यालयों में सहयोग के लिए प्रेरित किया जाए-डोटासरा
  • शमी ने प्रवासी मजदूरों को खाने के पैकेट और मास्क बांटे
  • देश में कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर 48 07 प्रतिशत
  • डब्ल्यूएचओ ने अमेरिका के योगदान की सराहना की
  • बंगलादेश में कोरोना मामलों की संख्या 50000 के पार
  • भागलपुर में हिंसक झड़प मामले में दो गिरफ्तार, एक घायल की मौत
  • राष्ट्रीय शिक्षा नीति में हो कोविड जैसी परिस्थिति के निपटने के उपाय: अभाविप
  • लागत कम करने के लिए पुराने विमान वापस करेगी इंडिगो
  • भारत-तिब्बत सीमा विसैन्यीकृत हो : लोबसांग सांगये
  • कोविड-19 के बीच नौकरी से हटाए जाने के विरोध में स्वास्थ्य विभाग के कच्चे कर्मचारी आंदोलन की राह पर
  • एमएसपी पर कृषि उपज खरीद नहीं करने वालों को दंडित किया जाए : भाकियू
  • ऊबर के हर राइड से पहले कार को किया जाएगा सैनिटाइज
  • प्रदर्शनकारी की मौत के बाद पुलिस प्रमुख हटाये गये
  • कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए अब बिहार के शहरी क्षेत्र में भी बंटेगा मास्क
राज्य » उत्तर प्रदेश


न्यायापालिका के कर्मचारी एक दिन के बेसिक वेतन की मदद का ऐलान

प्रयागराज, 28 मार्च (वार्ता) कोरोना वायरस के प्रकोप से निपटने में मदद के लिए उत्तर प्रदेश की न्यायपालिका के सभी कर्मचारियों एवं अधिकािरयों ने एक दिन के बेसिक वेतन की कटौती कर प्रधानमंत्री राहत कोष में देने का ऐलान किया है।
इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस के अनुमोदन से इलाहाबाद हाईकोर्ट सहित इसके अधीन प्रदेश की सभी अदालतों के कर्मचारयों, अधिकारियों के एक दिन के बेसिक वेतन की कटौती की जायेगी। यह धनराशि प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा होगी। इसका अनुमोदन मुख्य न्यायाधीश गोविन्द माथुर ने कर दिया है।
महानिबंधक अजय कुमार श्रीवास्तव द्वारा सभी जिला जजों एवं विशेष कार्याधिकारियों को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि अप्रैल में मिलने वाले मार्च माह के वेतन से कटौती सुनिश्चित की जायं तथा कड़ाई से पालन कर हाईकोर्ट को सूचित किया जाये।
ऐसा ही निर्देश कामर्शियल कोर्ट, वाहन दुर्घटना दावा अधिकरण एवं भूमि अधिग्रहण व पुनर्वास अधिकरण के पीठासीन अधिकारियों को भी दिया गया है। यह निर्देश हाईकोर्ट के नियंत्रणाधीन सभी कोर्ट के अधिकारियों व कर्मचारियों पर लागू होगा।
सं तेज
वार्ता
image