Thursday, Apr 2 2020 | Time 21:58 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • महाराष्ट्र में कोरोना से 19 की मौत, 416 संक्रमित
  • दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण मामले 293 हुए
  • जम्मू-कश्मीर में 4-जी इंटरनेट सेवा बहाली की अर्जी सुप्रीम कोर्ट में दायर
  • मोदी ने की प्रिंस चार्ल्स, अंगेला मर्केल से की बात
  • नीतीश ने बिहार के बाहर फंसे लोगों के खाते में हजार रुपये भेजने का दिया निर्देश
  • भारतीय फील्डिंग कोच श्रीधर ने दी चार लाख की मदद
  • गुजरात में पेंशन के 221 करोड़ रुपए खातों में जमा
  • आईएमए ने जिला प्रशासन से सहयोग करने का दिया आश्वासन
  • नीतीश ने कोरोना जंग जीतने वाले तीन लोगों को दी बधाई
  • निजामुद्दीन क्षेत्र में मार्च में मौजूद थे असम के 700 से अधिक लोग
  • मध्यप्रदेश में कोरोना मरीज की संख्या 107 हुयी, अब तक आठ की मौत
  • जालंधर में प्रवासी मजदूरों का डाटाबेस तैयार करने का आदेश
  • कोरोना संकट को हराने के लिए सरकार के निर्देशों का पालन करें: जोशी
  • ठाणे में डॉक्टर कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया
  • कोरोना पाॅजिटिव मिलने के बाद अम्बामाता थाना क्षेत्र में कर्फ्यू
राज्य » उत्तर प्रदेश


बरेली में 28 फरवरी को बीरता के लिये 15 जवानों को मिलेगा गैलेंट्री अवॉर्ड

बरेली, 27 फरवरी(वार्ता)उत्तर भारत एरिया के मध्य कमान की ओर से उत्तर प्रदेश के बरेली में 28 फरवरी को सेना के 15 उन जवानों और अधिकारियों को सम्मानित किया जाएगा जिन्होंने जम्मू-कश्मीर में देश के दुश्मनों का मुकाबला करते हुए जान की बाजी लगाने में पल भर भी संकोच नहीं किया।
उत्तर भारत एरिया सेंट्रल कमांड की रक्षा जनसंपर्क अधिकारी गार्गी मलिक ने “यूनीवार्ता” को गुरूवार को यहां बताया कि वीरता और अदम्य साहस के लिए बरेली स्थित जूनियर लीडर एकेडमी के कारगिल हॉल में 15 जवानों और अधिकारियों को गैलेंट्री अवॉर्ड यानी सेना मेडल से नवाजा जाएगा। उन्होंने बताया कि सेंट्रल कमांड के लेफ्टिनेंट जनरल जनरल इकरूप सिंह घुमन समारोह के मुख्य अतिथि होंगे।
उन्होंने बताया कि समारोह में गैलेंट्री अवॉर्ड के लिए उन 15 जवानों का चयन किया गया है। जवानों ने जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के हमलों को नाकाम करने के लिए सूझबूझ और तत्परता दिखाते हुए जान की बाजी तक लगा दी और आतंकियों को मार गिराया। इनमें से कई गंभीर रूप से घायल हुए। सेंट्रल कमांड का यह समारोह अब तक लखनऊ में होता था। पहली बार इसके लिए बरेली को चुना गया है। उत्तर भारत एरिया की सभी सैन्य यूनिटों में अपने जांबाज जवानों को सम्मानित करने के लिए बेहद भव्य समारोह की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इसमें वीरगति को प्राप्त हुए एक जवान को मरणोपरांत सेना मेडल से नवाजा जाएगा। जवान न सिर्फ मेडल से नवाजे जाएंगे बल्कि आतंकियों से हुए मुकाबले की स्मृतियों को भी साझा करेंगे।
रक्षा जनसंपर्क अधिकारी गार्गी मलिक ने बताया कि इसमें राष्ट्रीय राइफल्स (गढ़वाल रेजीमेंट) के मेजर रितेश संगवान, द कॉर्प्स ऑफ इंजीनियर/राष्ट्रीय राइफल्स की नौंवी बटालियन के मेजर योगेश पांडेय, द कॉर्प्स ऑफ
इंजीनियर/राष्ट्रीय राइफल्स की फर्स्ट बटालियन के मेजर सोहम भट्टाचार्जी, पैराशूट रेजीमेंट की 23वीं बटालियन के मेजर शक्ति सिंह, बिहार रेजीमेंट/47वीं राष्ट्रीय राइफल्स बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर मेजर रवि कुमार, 23वीं बटालियन पैराशूट रेजीमेंट के हवलदार भूपेंद्र सिंह, छठी बटालियन गढ़वाल राइफल्स के हवलदार नागेंद्र सिंह, 23वीं बटालियन पैराशूट रेजीमेंट के लांस हवलदार संदीप कुमार, नायक दलजीत सिंह, 23वीं बटालियन पैराशूट रेजीमेंट के लांस नायक सोमवीर, 50वीं राष्ट्रीय राइफल्स बटालियन और कुमाऊं रेजीमेंट के सिपाही सुशील सिंह कलकोटी, छठी बटालियन गढ़वाल राइफल्स के राइफलमैन प्रीतम सिंह, गढ़वाल राइफल्स और चार विकास स्पेशल ग्रुप के पैराट्रूपर आशुतोष सिंह, पैराशूट रेजीमेंट और 31वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स के पैराट्रूपर गुरविंदर सिंह को मेडल से नवाजा जाएगा। लांस हवलदार विजय कुमार को मरणोपरांत सेना मेडल दिया जाएगा।
सं भंडारी
वार्ता
image