Sunday, Jul 12 2020 | Time 17:08 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • धारावी में कोरोना को काबू करने में आरएसएस की अहम भूमिका : भाजपा
  • शिव सेना नेता सुधीर सूरी इंदौर से गिरफ्तार
  • जौनपुर में 08 महिलाओं सहित 23 और कोरोना पॉजिटिव,संख्या हुई 724
  • कोरोना के बढ़ते मामलों के लिए लोग जिम्मेदार : नारायणसामी
  • बिहार में कोरोना का महाविस्फोट, सरकार चुनाव कराने में मस्त : दीपंकर
  • संतकबीरनगर में 20 और कोरोना संक्रमित,संख्या हुई 386
  • युवक की हत्या : दलितों ने किया प्रदर्शन, शव उठाने से इंकार
  • अवैध हथियार के साथ दो गिरफ्तार
  • वडोदरा में शराबखोरी करते छह गिरफ्तार
  • जौनपुर में मुख्तार अंसारी के करीबी मछली कारोबारी की पौने चार करोड़ की संपत्ति कुर्क
  • दोराईस्वामी हो सकते हैं बंगलादेश में भारत के उच्चायुक्त
  • चालू वित्त वर्ष में विकास दर रिणात्मक 4 5 प्रतिशत रहेगी: फिक्की सर्वे
  • दुष्यंत करेगा जनता से किए सभी वायदे पूरे : नैना चौटाला
  • मधेपुरा में एक घर में लाखों की डकैती
  • अरुणाचल प्रदेश में कोरोना के छह नये मामले, संक्रमितों की संख्या 341 हुई
मनोरंजन


बहुमखी प्रतिभा के रूप मे पहचान बनायी देवेन वर्मा ने

बहुमखी प्रतिभा के रूप मे पहचान बनायी देवेन वर्मा ने

..जन्म दिवस 23 अक्तूबर के अवसर पर ..

मुंबई 22 अक्तूबर (वार्ता) हिंदी फिल्म जगत में देवेन वर्मा का नाम एक ऐसी शख्सियत के तौर पर लिया जाता है जिन्होंने न सिर्फ अभिनय की प्रतिभा बल्कि फिल्म निर्माण और निर्देशन से भी दर्शकों को अपना दीवाना बनाया है।

देवेन वर्मा का जन्म 23 अक्तूबर 1937 को हुआ। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा पुणे के नौवरसे वाडिया कॉलेज से पूरी की। साठ के दशक में बतौर अभिनेता बनने का सपना लेकर वह मुंबई आ गये। उन्होंने अपने करियर की शुरूआत वर्ष 1961 में यश चोपड़ा निर्देशित फिल्म धर्म पुत्र से की। बहुत कम लोगो को पता होगा कि इस फिल्म से ही अभिनेता शशि कपूर ने अपने सिने करियर की शुरूआत की थी। फिल्म टिकट खिड़की पर कामयाब तो हुयी

लेकिन देवेन वर्मा दर्शको का ध्यान अपनी ओर आकषिर्त करने में असफल रहे। वर्ष 1963 में देवेन वर्मा को बी.आर.चोपड़ा की फिल्म गुमराह में काम करने का अवसर मिला लेकिन इनसे उन्हें कोई खास फायदा नही पहुंचा।

वर्ष 1966 देवेन वर्मा के सिनेमा करियर के लिये अहम वर्ष साबित हुया। इस वर्ष उनकी देवर बहारे फिर भी आयेगी और अनुपमा जैसी फिल्में प्रदर्शित हुयी। इन फिल्मों में उनके अभिनय के विविध रूप देखने को मिले। फिल्मों की सफलता के बाद देवेन वर्मा दर्शको के बीच अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गये। वर्ष 1969 में प्रदर्शित फिल्म यकीन के जरिये देवेन वर्मा ने फिल्म निर्माण के क्षेत्र में भी कदम रख दिया। धमेन्द्र और शर्मिला टैगोर की मुख्य भूमिका वाली यह फिल्म टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुयी ।

वर्ष 1971 में देवेन वर्मा ने फिल्म नादान के जरिये निर्देशन के क्षेत्र में भी अपना रूख किया। आशा पारेख और नवीन निश्चल की मुख्य भूमिका वाली यह फिल्म टिकट खिड़की पर कामयाब नही हो सकी। वर्ष 1978 में प्रदर्शित फिल्म बेशर्म में देवेन वर्मा को सुपरस्टार अमिताभ बच्चन को निर्देशित करने का मौका मिला। लेकिन कमजोर

पटकथा और निर्देशन के कारण फिल्म टिकट खिड़की पर बुरी तरह से नकार दी गयी। लेकिन इस फिल्म में देवेन वर्मा ने तिहरी भूमिका निभाकर दर्शको को रोमांचित कर दिया।

     वर्ष 1983 देवेन वर्मा ने स्मिता पाटिल और राज किरण को फिल्म चटपटी और वर्ष 1989 में मिथुन चक्रवर्ती को लेकर दानापानी का निर्माण लेकिन दुर्भाग्य से यह फिल्म भी टिकट खिड़की पर कामयाब नही हो सकी। इन फिल्मों की असफलता से देवेन वर्मा को काफी आर्थिक क्षति हुयी और उन्होंने फिल्म निर्माण से तौबा कर ली। देवेन वर्मा ने कुछ फिल्मों में पार्श्वगायन भी किया है। वर्ष 1977 में प्रदर्शित फिल्म आदमी सड़क का में देवेन वर्मा ने आज मेरे यार की शादी है ..गीत गाया था जो आज भी शादी के मौके पर सुना जा सकता है।

वर्ष 1982 में प्रदर्शित फिल्म अंगूर देवेन वर्मा के करियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में शुमार की जाती है। इस फिल्म में उनके अभिनय का नया रूप देखने को मिला। शेक्सपीयर की कहानी कामेडी आफ एरर्स पर आधारित इस फिल्म में देवेन वर्मा और संजीव कुमार ने अपने दोहरे किरदार से उन्होंने दर्शको को हंसाते हंसाते लोटपोट कर दिया। देवेन वर्मा अपने सिने करियर में तीन बार फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। वर्ष 1975 में प्रदर्शित फिल्म चोरी मेरा काम में सर्वप्रथम उन्हें हास्य अभिनेता का फिल्म फेयर पुरस्कार दिया गया। इसके बाद वर्ष 1978 फिल्म चोर के घर चोर और वर्ष 1982 फिल्म अंगूर के लिये भी उन्हें सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता का फिल्म फेयर पुरस्कार प्राप्त हुआ।

देवेन वर्मा के करियर में उनकी जोड़ी अभिनेत्री अरूणा इरानी के साथ काफी पसंद की गयी। दोनो की जोड़ी ने अपने जबरदस्त हास्य अभिनय से दर्शको को दीवाना बना दिया। उनकी जोड़ी वाली फिल्मों में कुछ है बुड्ढा मिल गया, जिंदगी, अनपढ़, घर की लाज, आहिस्ता आहिस्ता, अंगूर, भोला भाला, नजराना, प्यार के दो प्रेमी, ज्योति, लेडिज टेलर, जुदाई, बेमिसाल, उल्टा सीधा, भागो भूत आया, प्रेम, प्रतिज्ञा आदि।

अपने कॉमिक अभिनय से दर्शकों को मंत्रमुग्ध करने वाले देवेन वर्मा 02 दिसंबर 2014 को इस दुनिया को अलविदा कह गये। देवेन वर्मा ने अपने सिने करियर में लगभग 125 फिल्मों में अभिनय किया है। उनके करियर की कुछ उल्लेखनीय फिल्मों में है मिलन, संघर्ष, खामोशी, मेरे अपने धुंध, 36 घंटे, कोरा कागज, इम्हितान, अर्जुन पंडित, कभी कभी, मुक्ति, खट्टा-मीठा, सौ दिन सास के, आप के दीवाने, सिलसिला, नास्तिक, साहेब, रंग-बिरंगी, युद्ध, झूठी, अलग अलग, प्यार के काबिल, बहुरानी, चमत्कार , अंदाज अपना-अपना, अकेले हम अकेले तुम, दिल तो पागल है, इश्क, कलकत्ता मेल आदि

More News
प्रदीप पांडे चिंटू की ‘दोस्ताना’ का फर्स्ट लुक आउट

प्रदीप पांडे चिंटू की ‘दोस्ताना’ का फर्स्ट लुक आउट

12 Jul 2020 | 1:25 PM

मुंबई 12 जुलाई (वार्ता) भोजपुरी सिनेमा के चॉकलेटी हीरो प्रदीप पांडे चिंटू की आने वाली फिल्म ‘दोस्ताना ’का फर्स्ट लुक आउट हो गया है।

see more..
फार्म हाउस पर फसल उगा रहे हैं सलमान

फार्म हाउस पर फसल उगा रहे हैं सलमान

12 Jul 2020 | 1:19 PM

मुंबई 12 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान इन दिनों अपने फार्म हाउस पर फसल उगा रहे हैं।

see more..
खुद बनाया करियर  : अभय देओल

खुद बनाया करियर : अभय देओल

12 Jul 2020 | 1:13 PM

मुंबई 12 जुलाई (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता अभय देओल ने फिल्म इंडस्ट्री में नपोटिज्म (भाई-भतीजावाद) को लेकर कहा है कि उन्होंने परिवार के साथ पहली फिल्म में काम किया लेकिन उसके बाद उन्होंने अपना करियर खुद बनाया।

see more..
कोरोना से संक्रमित अमिताभ बच्चन की हालत स्थिर

कोरोना से संक्रमित अमिताभ बच्चन की हालत स्थिर

12 Jul 2020 | 12:20 PM

मुंबई,12 जुलाई (वार्ता) कोरोना से संक्रमित सुपरस्टार अमिताभ बच्चन की हालत स्थिर है।

see more..
image