Wednesday, May 22 2019 | Time 20:08 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • केंद्रीय मंत्री के गोद लिए गांव में दसवीं के 28 में से दो बच्चे हुए पास
  • हेलीकाॅप्टर सेवाएं स्थानीय लोगों के लिए बनीं मुसीबत
  • न्यायाधिकरण ने नौसेना प्रमुख की नियुक्ति संबंधी दस्तावेज तलब किये
  • श्रीलंका में आपातकाल की अवधि एक माह के लिए और बढ़ाई गई
  • इंडियन नेशनल को 3-0 से हराकर गढ़वाल हीरोज सेमीफाइनल में
  • नाइजीरिया में डाकुओं के हमले में 18 किसानों की मौत
  • फ्रांस में भारतीय वायु सेना की राफेल टीम के कार्यालय में तोड़ फोड़ का प्रयास
  • सिरसा स्वास्थ्य विभाग ने मुक्तसर में किया भ्रूण जांच गिरोह का भंडाफोड़
  • ईवीएम पर सियासी दलों की शंकाओं, संदेह को दूर करने की मांग
  • राकांपा के विधायक क्षीरसागर शिव सेना में शामिल
  • फ्लाइट लेफि्टनेंट भावना कंठ मिशन पर जाने के लिए तैयार
  • टॉप सीड गायत्री और प्रियांशु को आसान ड्रॉ
  • मध्यप्रदेश के पांच जिले लू की चपेट में तो अनेक स्थानों पर लू के हालात
  • चंपावत में शिक्षक ने छात्रा के साथ किया दुष्कर्म
  • अाेमानी लेखिका को जोखा अलहारती को बुकर पुरस्कार
बिजनेस


बैंक ऑफ इंडिया को अंतिम तिमाही में 252 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ

मुंबई, 16 मई (वार्ता) सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक आॅफ इंडिया ने वित्तीय वर्ष 2018-19 की अंतिम एवं चतुर्थ तिमाही में 252 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ अर्जित किया, जबकि पिछले वर्ष इसी तिमाही में बैंक को 3969 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था।
बैंक ऑफ इंडिया के प्रबंध निदेशक दीनबंधु मोहापात्रा ने परिणाम घोषित करने के बाद कहा कि वित्त वर्ष 2018-19 में बैंक को 5547 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ।
इस दौरान बैंक की संपत्ति गुणवत्ता में कुछ सुधार आया है। मार्च 2019 की समाप्ति पर बैंक की गैर- निष्पादित परिसंपत्तियां (एनपीए) घटकर 15.84 प्रतिशत रह गईं जबकि 31 मार्च 2018 को यह 16.58 प्रतिशत थीं। इसी प्रकार बैंक का शुद्ध एनपीए एक साल पहले के 8.26 प्रतिशत से घटकर 5.61 प्रतिशत रह गया।
एक साल पहले जहां बैंक ने 6699.23 करोड़ रुपये का प्रावधान किया था वहीं इस साल यह घटकर 1502.90 करोड़ रुपये रह गया।
त्रिपाठी, उप्रेती
वार्ता
image