Friday, Dec 6 2019 | Time 19:09 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अविनाश खन्ना हरियाणा और गोवा प्रदेशाध्यक्षों के चुनाव हेतु पर्यवेक्षक नियुक्त
  • वित्त आयोग ने वर्ष 2020-21 के लिए रिपोर्ट वित्त मंत्री को सौंपी
  • आदि महोत्सव में 20 करोड़ रुपए की बिक्री
  • संवाद से रखी जाती है बेहतर भविष्य की नींव : मोदी
  • अजहरुद्दीन के नाम पर स्टैंड का अनावरण
  • कारागार सुधार गृह हैं, इन्हें अपराध का गढ़ नहीं बनने दिया जाएगा:योगी
  • लालू की जमानत याचिका खारिज
  • राहत नहीं मिलने पर बंद हो सकती वोडाफोन आइडिया : बिरला
  • खट्टर का सात दिसम्बर को गुरूग्राम दौरा, देंगे अनेक परियोजनाओं की सौगात
  • विशेष अभियान में दो इन्सास राइफल समेत भारी मात्रा में कारतूस बरामद
  • छोटे कस्बों और ग्रामीण क्षेत्रों के पुलिस स्टेशन अव्वल
  • क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के सीईओ मोरोए निलंबित
  • कच्चे तेल में नरमी से रुपया मजबूत
  • एक्सपायरी इंजेक्शन से महिला की मौत पर परिजनों ने नर्सिंग होम में की तोडफोड़
  • 63वीं राष्ट्रीय शूटिंग प्रतियोगिता (रायफल/पिस्टल) शनिवार से
भारत


ब्रिक्स देशों में आगे बढ़ने की असीमित क्षमता: मधुकर

ब्रिक्स देशों में आगे बढ़ने की असीमित क्षमता: मधुकर

नयी दिल्ली 19 नवंबर (वार्ता) ब्रिक्स चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के महानिदेशक बी बी एल मधुकर ने कहा है कि ब्रिक्स देशों में आगे बढ़ने की ताकत और इनकी क्षमता असीमित है।

श्री मधुकर ने हाल ही संपन्न ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के बाद यहां कहा कि इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने न:न सिर्फ आतंकवाद के मुद्दे को जोर से उठाया है बल्कि उन्होंने फिट इंडिया मूवमेंट और जल संरक्षण के मुद्दे को भी उठाया। उन्होंने कहा कि आतंकवाद से अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचता है और इसके मद्देनजर श्री मोदी ने ब्रिक्स के मंच पर इस मुद्दे को उठाकर सभी सदस्य देशों से इससे निपटने में सहयोग की अपील की है।

उन्होंने कहा कि फिट इंडिया मूवमेंट और जल संरक्षण दोनों पर भारत में जोर शोर से काम हो रहा है और श्री मोदी ने इन दोनों मुद्दे को उठाकर सदस्य देशों से इस पर गौर करने की अपील की है। अभी पीने के पानी की बहुत बड़ी समस्या है। इसके मद्देनजर सभी देशों को इस पर ध्यान देने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि ब्रिक्स देशों के सभी सदस्य देशों ब्राजील, भारत, रूस, दक्षिण अफ्रीका और चीन में अपार संभावनायें हैं। इन देशों का तटीय क्षेत्र बहुत बड़ा है और ये इनका लाभ उठाने का अवसर मिलता है लेकिन इसकी चुनौतियां भी है। चीन दुनिया का सबसे बड़ा विनिर्माता देश है। इसी तरह से भारत प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अव्वल है और अभी विनिर्माण की ओर तेजी से बढ़ रहा है। ब्राजील कृषि के क्षेत्र में बहुत आगे है। यदि सभी सदस्य देश आपस में मिलकर एक साथ अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाये तो यह दुनिया में तेजी से आगे बढ़ेंगे।

श्री मधुकर ने कहा कि ब्रिक्स देशों को आपसी व्यवस्था को गति देने के लिए एक मुद्रा पर विचार करना चाहिए। जिस तरह से यूरोप के देशों ने यूरो को अपनाया है उसी तरह से ब्रिक्स देशों को एक मुद्रा अपनाने पर गंभीरता से विचार करना चाहिए।

शेखर

वार्ता

More News
सत्ता पक्ष ने ध्यान हटाने के लिए किया लोकसभा में हंगामा: कांग्रेस

सत्ता पक्ष ने ध्यान हटाने के लिए किया लोकसभा में हंगामा: कांग्रेस

06 Dec 2019 | 6:33 PM

नयी दिल्ली, 06 दिसम्बर (वार्ता) कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि बलात्कार की बढ़ती घटनाओं को लेकर सरकार के पास कोई जवाब नहीं है इसलिए भारतीय जनता पार्टी के सदस्यों ने ध्यान हटाने के लिए लोकसभा में हंगामा किया और विपक्ष की बात नहीं सुनी गयी।

see more..
मेडिकल नामांकन घोटाला: दिल्ली, लखनऊ में सीबीआई छापे

मेडिकल नामांकन घोटाला: दिल्ली, लखनऊ में सीबीआई छापे

06 Dec 2019 | 6:27 PM

नयी दिल्ली, 06 दिसम्बर (वार्ता) केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की टीम एक निजी मेडिकल कॉलेज में नामांकन घोटाले को लेकर दिल्ली एवं लखनऊ के कुछ ठिकानों पर सुबह से छापे मार रही है।

see more..
image