Tuesday, Jul 16 2019 | Time 13:28 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • वाहनों की खुदरा बिक्री 5 4 प्रतिशत घटी
  • बाक्सिंग लीजेंड पेर्नेल की कार दुर्घटना में मौत
  • सरकार गिरने के भय से अध्यक्ष इस्तीफा स्वीकार नहीं कर रहे: याचिकाकर्ता
  • छत्तीसगढ़ में 24 करोड़ खर्च करने के बाद भी होटल प्रबंध संस्थान नही हो सका है शुरू
  • ‘जीरो बजट खेती’ का उद्देश्य किसानों की आय बढ़ाना : रूपाला
  • दिल्ली में सुबह का मौसम सुहाना
  • चीन द्वारा घुसपैठ के मुद्दे पर कांग्रेस का लोकसभा से बहिर्गमन
  • मोदी ने ‘गुरु पूर्णिमा’ पर गुरुओं के प्रति श्रद्धा जतायी
  • मार्क एस्पर अमेरिका के नया रक्षा मंत्री मनोनीत
  • डाक विभाग की परीक्षा रद्द करने की मांग को लेकर राज्यसभा में कागज फाड़े गये
  • हंगामें के कारण राज्यसभा की कार्यवाही दो बजे तक स्थगित
  • दुतीचंद को राज्यसभा में बधाई
  • नीरज शेखर का राज्यसभा से इस्तीफा
  • डाक विभाग की परीक्षा रद्द करने की मांग को लेकर राज्यसभा में हंगामा
राज्य » राजस्थान


बारिश से हुई मौतों पर भेड़ पालकों को मिलेगा 50 लाख रुपये मुआवजा

बारिश से हुई मौतों पर भेड़ पालकों को मिलेगा 50 लाख रुपये मुआवजा

जयपुर, 20 जून (वार्ता) राजसथान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चित्तौड़गढ़ जिले में मंगलवार को भारी बारिश के कारण 800 भेड़ों की तालाब में डूबने से हुई मौतों के प्रभावित भेड़ पालकों को केन्द्र सरकार की ओर से पशुधन हानि पर देय सहायता राशि से अधिक मुआवजा देने की घोषणा की है।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार श्री गहलोत ने प्रत्येक भेड़ पालक को अधिकतम 60 भेड़ों तक प्रति भेड़ 6 हजार रुपये की सहायता देने के निर्देश दिए। यह मुआवजा राशि लगभग 50 लाख रुपये होगी। उन्होंने भेड़ पालकों की कमजोर आर्थिक स्थिति को देखते हुए उन्हें संबल प्रदान करने के लिए उनको केन्द्र सरकार के एसडीआरएफ दिशा-निर्देशों के अनुसार देय सहायता राशि से अधिक मुआवजा देने का निर्णय लिया है। उन्होंने चित्तौड़गढ़ जिला क्लेक्टर को निर्देश दिए कि सहायता राशि जल्द से जल्द संबंधित भेड़ पालकों को हस्तांतरित करने की व्यवस्था की जाए।

उल्लेखनीय है कि एसडीआरएफ दिशा-निर्देशों के अनुसार आपदा राहत के रूप में लघु एवं सीमांत किसानों को अधिकतम 30 छोटे पशुओं के लिए प्रति पशु 3 हजार रुपये सहायता देय है। लेकिन मुख्यमंत्री ने इस प्रकरण में अधिकतम पशु संख्या 30 के स्थान पर 60 और मुआवजा राशि 3 हजार रुपये प्रति पशु से बढ़ाकर 6 हजार रुपये कर दी है। एसडीआरएफ मानदंड के अतिरिक्त देय सहायता राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष से वहन की जाएगी, जिस पर लगभग 50 लाख रुपये खर्च होंगे।

More News
स्कूली वाहनों की जांच के विरोध में बाल वाहिनी सेवा बंद

स्कूली वाहनों की जांच के विरोध में बाल वाहिनी सेवा बंद

16 Jul 2019 | 12:34 PM

अजमेर, 16 जुलाई (वार्ता) राजस्थान में अजमेर शहर में संचालकों द्वारा बाल वाहिनी सेवा आज बंद करने से बच्चों के साथ साथ अभिभावकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा।

see more..
गंगनहर में पानी के उताव चढ़ाव से रुष्ट किसानों ने किया प्रदर्शन

गंगनहर में पानी के उताव चढ़ाव से रुष्ट किसानों ने किया प्रदर्शन

15 Jul 2019 | 11:32 PM

श्रीगंगानगर, 15 जुलाई (वार्ता) राजस्थान में श्रीगंगानगर जिले को सिंचित करने वाली गंगनहर (बीकानेर नहर) में आज पंजाब से पानी का एकाएक उतार-चढ़ाव होने से किसान विचलित हो गये जबकि जल संसाधन विभाग के अधिकारियों में हड़कम्प मच गया।

see more..
बस ऑपरेटर्स संगठनों ने मंत्री से टेक्स दर प्रतिस्पर्धात्मक रखने का अनुरोध किया

बस ऑपरेटर्स संगठनों ने मंत्री से टेक्स दर प्रतिस्पर्धात्मक रखने का अनुरोध किया

15 Jul 2019 | 11:27 PM

जयपुर, 15 जुलाई (वार्ता) राजस्थान के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास से सोमवार को विभिन्न निजी बस ऑपरेटर्स यूनियन के प्रतिनिधियों ने मुलाकात करके बजट में यात्री वाहनों पर लगाए गए कर को प्रतिस्पर्धात्मक रखने का अनुरोध किया।

see more..
दौसा जिले में किसान फिर आंदोलन की राह पर

दौसा जिले में किसान फिर आंदोलन की राह पर

15 Jul 2019 | 11:27 PM

जयपुर 15 जुलाई (वार्ता) राजस्थान में गुर्जर आन्दोलन के कारण सुर्ख़ियो में रहे दौसा जिला अब किसान आन्दोलन के कारण एक बार फिर सुर्खियों में आता दिखाई दे रहा है।

see more..
image