Saturday, Aug 24 2019 | Time 21:00 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोबाइल लूटकांड का उद्भेदन, दो गिरफ्तार
  • मालगाड़ी के 17 डिब्बे पटरी से उतरे
  • मध्यप्रदेश में फिर भारी बारिश की चेतावनी
  • खेल जगत ने जेटली के निधन पर जताया शोक
  • खेल जगत ने जेटली के निधन पर जताया शोक
  • जन्माष्टमी पर द्वारका और डाकोर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़
  • आज साफ हो गया कि कश्मीर में हालात सामान्य नहीं हैं: राहुल
  • आदमपुर से तीन सगे भाई 22 अगस्त से लापता
  • अफगानिस्तान स्कूल ने छत्तीसगढ़ स्कूल को 8-1 से हराया
  • अफगानिस्तान स्कूल ने छत्तीसगढ़ स्कूल को 8-1 से हराया
  • जेटली के निधन पर उत्तराखंड में 25 अगस्त को राजकीय शोक
  • गुजरात के मुख्यमंत्री ने जेटली के निधन पर जतायाी शोक, अंतिम यात्रा में करेंगे शिरकत
  • जजपा प्रदेशाध्यक्ष बोले, टोहाना से ही लडूंगा विधानसभा चुनाव
  • पुड्डुचेरी में 150 रेहड़ी-पटरी वाले गिरफ्तार
  • जेटली के शोक में काली पट्टी बांध कर उतरे भारतीय खिलाड़ी
राज्य » अन्य राज्य » HDIE


भाजपा 303 पर विजयी, कांग्रेस को इस बार भी नहीं मिलेगा विपक्ष के नेता का पद

नयी दिल्ली 24 मई (वार्ता) लोकसभा की 542 सीटों पर हुये चुनाव की मतगणना पूरी हो गयी है और चुनाव आयोग ने सभी सीटों के परिणामों की आधिकारिक घोषणा कर दी है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) 303 सीट जीतकर प्रचंड बहुमत के साथ 17वीं लोकसभा में पहुँची है।
भाजपा की 303 सीट समेत उसके नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को कुल 352 सीटें मिली हैं।
भाजपा के बाद कांग्रेस 52 सीट जीतकर दूसरी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है, लेकिन लगातार दूसरी बार वह सदन में विपक्ष के नेता का पद हासिल करने से चूक गयी। इससे पहले 2014 के चुनाव में उसे 44 सीटें मिली थीं और सदन में किसी को भी विपक्ष के नेता का दर्जा नहीं दिया गया था। नियमों के अनुसार, विपक्ष के नेता का पद हासिल करने के लिए पार्टी के पास सदन में कम से कम 10 प्रतिशत सदस्य होना जरूरी होता है।
द्रविड़ मुनेत्र कषगम् को 23, तृणमूल कांग्रेस और वाईएसआर कांग्रेस को 22-22, शिवसेना को 18, जनता दल (यूनाइटेड) को 16, बीजू जनता दल को 12 और बहुजन समाज पार्टी को 10 सीटें मिली हैं। अन्य कोई भी दल दहाई अंक के आँकड़े को भी नहीं छू सका।
तेलंगाना राष्ट्र समिति के खाते में नौ सीटें आयीं। लोक जन शक्ति पार्टी को छह, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और समाजवादी पार्टी को पाँच-पाँच, तेलुगू देशम पार्टी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग और नेशनल काॅन्फ्रेंस को तीन-तीन, शिरोमणि अकाली दल, एआईएमआईएम, अपना दल (सोनेलाल) और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी को दो-दो तथा आम आदमी पार्टी, आजसु पार्टी, अन्‍नाद्रमुक, एआईयूडीएफ, जनता दल (सेक्युलर), झारखण्ड मुक्ति मोर्चा, केरल कांग्रेस (एम), मिजो नेशनल फ्रंट, नागालैंड पीपुल्स फ्रंट, नेशनल पीपुल्‍स पार्टी, नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी, रिवॉल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी, सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा और विदुथलाई चिरूथईगल काच्ची को एक-एक सीट पर जीत मिली है। अन्य चार सीट निर्दलीय के खाते में गयी हैं।
अजीत सत्या
वार्ता
image