Sunday, Aug 18 2019 | Time 20:25 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • डिफेंडर कोथाजीत ने खेला 200वां अंतर्राष्टीय मैच
  • पाकिस्तान में विस्फोट में पांच मरे ,छह घायल
  • जेटली से एम्स में मुलाकात का सिलसिला रविवार को भी जारी
  • सूर्यकुण्ड धाम दर्शनीय एवं पर्यटन स्थल के रूप में होगा विकसित:योगी
  • पूर्वी मध्यप्रदेश में 24 घंटो में बारिश की झमाझम
  • फिरोजशाह कोटला में होगा विराट कोहली स्टैंड
  • समोलिया में अल-शबाब के दो आतंकवादी ढेर
  • आईएस ने अफगानिस्तान में हमले की जिम्मेदारी ली
  • दून पहुंचा शहीद संदीप थापा का पार्थिव शरीर, नम आखों से दी अंतिम विदाई
  • संगम तट लेटे बडे हनुमान को गंगा स्नान कराने को आतुर
  • वाइको अस्पताल में भर्ती
  • उत्तरकाशी में बादल फटने, तेजे बारिश से जानमाल का नुकसान
  • वाराणसी में गंगा का जलस्तर लाल निशान की ओर
  • हुड्डा ने छेड़े कांग्रेस से बगावत के सुर, कहा : अनुच्छेद 370 पर कांग्रेस भटक गई
लोकरुचि


मथुरा में शुरू हुई हेलीकॉप्टर से सप्तकोसी गोवर्धन परिक्रमा

मथुरा में शुरू हुई हेलीकॉप्टर से सप्तकोसी गोवर्धन परिक्रमा

 


मथुरा, 13 जुलाई  (वार्ता)उत्तर प्रदेश के मथुरा में मुड़िया पूनो मेंले के दौरान सप्तकोसी गोवर्धन परिक्रमा के लिये शनिवार से हेलीकॉटर सेवा शुरू हो जाने से वरिष्ठ नागरिकों को राहत मिली है।

         जिला पर्यटन अधिकारी डी0के0 शर्मा ने शनिवार को यहां बताया कि मुड़िया पूनो मेंला शुक्रवार से शुरू हो गया है। परिक्रमा के लिये हेलीकॉप्टर सेवा आज से शुरू हुई है। हेलीकाॅप्टर परिक्रमा के लिए तीर्थयात्रियों में, विशेषकर वरिष्ठ नागरिक और युवकों में बहुत उत्साह है। आज दोपहर तक 56 तीर्थयात्री हेलीकाॅप्टर से गोवर्धन परिक्रमा कर चुके हैं। हेलीकाॅप्टर परिक्रमा के लिए लाइन लगी हुई है।

    श्री शर्मा ने बताया कि एक चक्कर में पाइलट को छोड़कर सात लोग हेलीकाॅप्टर में बैठ जाते हैं।  लगभग सात से आठ मिनट में गिर्राज जी की हेलीकाॅप्टर परिक्रमा पूरी हो जाती है। इसके लिए प्रति यात्री तीन हजार किराया लिया जा रहा है।  उन्होंने बताया कि मौसम अनुकूल रहने पर यह परिक्रमा 16 जुलाई तक चलेगी।

उत्तर मध्य रेलवे आगरा मण्डल के डीसीएम/पीआरओ एस0के0 श्रीवास्तव ने बताया कि मेले के लिए यात्रियों की संख्या बढ़ने पर छह नई रेलगाड़ियां चलाने की जहां व्यवस्था की गई हैं।  चार रेलगाड़ियों को आगे तक बढ़ाने की व्यवस्था की गई है। एक जोड़ी नई रेलगाड़ीं मथुरा कासगंज रूट पर एवं दो जोड़ी मथुरा अलवर रूट पर चलेंगी तथा चार रेलगाड़ियों के यात्रा मार्ग को बढ़ा दिया गया है।

    उन्होंने बताया कि झांसी आगरा एवं ग्वालियर आगरा पैसेंजर को जहां मथुरा तक दोनो ओर बढ़ा दिया गया है। दिल्ली आगरा पैसेंजर को दोनों ओर ग्वालियर तक बढ़ा दिया गया है। यह सुविधा 18 जुलाई तक चालू रहेगी। सभी व्यवस्थाएं तीर्थयात्रियों की संख्या पर ही निर्भर करेंगी।

    श्री श्रीवास्तव ने बताया कि जहां मथुरा जंकशन स्टेशन पर दस अतिरिक्त टिकट खिड़कियां भीड़ बढ़ने पर खोली जाएंगी। इसके अलावा गोवर्धन, राधाकुंड एवं भूतेश्वर स्टेशनों में एक एक अतिरिक्त खिड़की खोली जाएगी।

सं भंडारी

वार्ता

More News
एक करोड़ से ज्यादा भक्तों ने किए अती वरदार भगवान के दर्शन

एक करोड़ से ज्यादा भक्तों ने किए अती वरदार भगवान के दर्शन

17 Aug 2019 | 4:49 PM

चेन्नई, 17 अगस्त (वार्ता) चेन्नई के कांचीपुरम में चल रहे भगवान अती वरदार उत्सव के आख़िरी दिन पाँच लाख से भी ज्यादा श्रद्धालु शामिल हुए। यह त्योहार 40 सालों में एक बार 48 दिनों तक मनाया जाता है।

see more..
आजादी के आंदोलन में इटावा स्थित चंबल के डाकुओं ने भी दिखाया देशप्रेम

आजादी के आंदोलन में इटावा स्थित चंबल के डाकुओं ने भी दिखाया देशप्रेम

16 Aug 2019 | 9:53 AM

इटावा, 14 अगस्त (वार्ता) शौर्य, पराक्रम और स्वाभिमान की प्रतीक उत्तर प्रदेश में इटावा स्थित चंबल घाटी के डाकुओं के आंतक ने भले ही देश की कई सरकारों को हिलाया हो लेकिन यह बहुत ही कम लोग जानते है कि यहां के डाकुओं ने अग्रेंजी हुकूमत के दौरान आजादी के दीवानों की तरह अपनी देशप्रेमी छवि से देशवासियो के दिलों में ऐसी जगह बनाई कि हम उन्हें स्वतंत्रता दिवस के दिन याद किये बिना रह नही पाते है।

see more..
चंबल में रक्षाबंधन के दिन ही मुठभेड मे प्रेमिका के साथ मारा गया था डाकू सलीम गूर्जर

चंबल में रक्षाबंधन के दिन ही मुठभेड मे प्रेमिका के साथ मारा गया था डाकू सलीम गूर्जर

14 Aug 2019 | 4:48 PM

इटावा, 14 अगस्त(वार्ता)चंबल घाटी का कुख्यात दस्यु सरगना सलीम गूर्जर साल 2006 में रक्षाबंधन के दिन अपनी प्रेमिका गीता के साथ उत्तर प्रदेश की इटावा पुलिस की मुठभेड मे मारा गया था।

see more..
रक्षा बंधन का त्यौहार मुंहबोली बहिनों ने शुरू किया

रक्षा बंधन का त्यौहार मुंहबोली बहिनों ने शुरू किया

14 Aug 2019 | 1:47 PM

पप्रयागराज ,14 अगस्त (वार्ता) “बहना ने भाई की कलाई से प्यार बाँधा है, प्यार के दो तार से संसार बाँधा है” भले ही ये गाना बहुत पुराना न हो पर भाई की कलाई पर राखी बाँधने का सिलसिला प्राचीन है जिसे मुंह बोली बहिनों ने शुरू किया।

see more..
image