Thursday, Nov 15 2018 | Time 10:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ट्रक की चपेट में आने से बैंककर्मी समेत दो लोगों की मौत
  • वसंत कुंज में मालकिन और नौकर की हत्या
  • भाजपा के लगभग पांच दर्जन नेता पार्टी से निष्कासित
  • सीरिया: हवाई हमले मेें इस्लामिक स्टेट के 20 आतंकवादियों की मौत
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 16 नवंबर)
  • थेरेसा मे को ब्रेक्सिट सौदे पर मंत्रिमंडल से मिली सहमति
  • रूस में भूकंप के झटके
  • अमेरिका में बस पलटने से दो की मौत, 44 घायल
  • सीरिया में हवाई हमले मेें 20 आईएस की मौत
  • टीआरएस ने 10 उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी की
  • कोविंद, मोदी ने जीसैट-29 उपग्रह के प्रक्षेपण पर बधाई दी
  • पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी हमलों का स्राेत : मोदी
  • सीटें नहीं मिली तो निर्दलीय के रूप में चुनाव लडेंगे: खान
विशेष Share

मोबाइल ऐप डेवलपर की बढ़ती मांग

मोबाइल ऐप डेवलपर की बढ़ती मांग

(अशोक सिंह)

नयी दिल्ली, 26 अप्रैल (वार्ता) मोबाइल के दिन प्रतिदिन बढ़ते इस्तेमाल से अब शायद ही कोई ऐसा कार्य क्षेत्र होगा जिसके लिए मोबाइल ऐप नहीं बनाया गया हो। देश-विदेश में हज़ारों एक्सपर्ट्स प्रतिदिन किसी न किसी सेवा अथवा प्रोडक्ट के लिए ऐप का विकास कर रहे हैं। विश्वभर में अरबों लोगों द्वारा मोबाइल का इस्तेमाल किया जा रहा है जिसकी वजह से विभिन्न कंपनियों द्वारा ऐप्स के माध्यम से उपभोक्ताओं और सेवा उपयोगकर्ताओं तक पहुंचना आसान हो गया है।

इनके जरिये ऐप यूजर्स अपनी आवश्यकता के अनुसार कंपनियों को आर्डर देते हैं और इसी के माध्यम से सेवाओं और उत्पादों की खरीदारी और धनराशि का भुगतान भी हो जाता है। इन ऐप्स के माध्यम से बहुत से कार्य किसी तरह की तकलीफ उठाये बिना हो जाते हैं और समय ही नहीं धन की भी बचत होती है। ई-कॉमर्स से जुड़ी कम्पनियाें ने तो अब अपनी वेबसाइट की बजाय सिर्फ ऐप के ज़रिये ही यूजर्स को सेवाएं प्रदान करना शुरू कर दिया है। शिक्षा संस्थान और बड़े-बड़े संगठनों के लिए भी ऐप विकसित करना ज़रूरत बन चुका है।

क्या है मोबाइल ऐप :- बुनियादी तौर पर ऐप एक प्रकार के छोटा कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जो मोबाइल फोन, टेबलेट अथवा घड़ियों तक में चलाया जाता है। प्रत्येक ऐप का खास तरह का लक्षित कार्यकलाप होता है। उदाहरण के लिए हेल्थकेअर, शॉपिंग, गेम्स आदि। कई ऐप्स तो मोबाइल फोन के साथ ही आते हैं जबकि अन्य ऐप्स को गूगल प्ले स्टोर इत्यादि से डाउनलोड कर इंस्टाल किया जाता है।

ट्रेनिंग :- इस फील्ड का एक्सपर्ट बनने के लिए विभिन्न प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज का जानकार होना सबसे पहली शर्त है। इनमें ऑब्जेक्टिव सी, सी++, जावा आदि प्रमुख हैं। शुरुआत जावा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से करनी चाहिए। कई कंपनियों में सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग के डिग्रीधारकों को ही जॉब के लिए आमंत्रित किया जाता है। कंप्यूटर साइंस की पृष्ठभूमि वाले युवा भी इस प्रोफेशन में आ सकते हैं।

व्यक्तिगत गुण :- इस क्षेत्र में तकनीकी दक्षता के साथ सृजनात्मक सोच का भी सफलता हासिल करने में काफी महत्त्व है। कंज्यूमर और कंपनी दोनों की आवश्यकताओं को समझते हुए मोबाइल ऐप का डिजाइन करना पड़ता है। इसके लिये अत्यंत सूक्ष्म स्तर पर जाकर प्रस्तावित ऐप की कार्यविधियों को समझने की ज़रूरत पड़ती है। संवेदनशीलता के आधार पर ही ऐसी बारीकियों को पकड़ा जा सकता है अन्यथा एक छोटी-सी गलती समूचे ऐप को बर्बाद करने के लिए काफी हो सकती है। उपभोक्ता अक्सर किसी भी नयी तकनीक को अपनाने में हिचकता है। इसके पीछे आमतौर पर कारण होता है असुविधा की आशंका। डेवलपर के लिए यह भी एक चुनौती होती है कि कैसे इसे अधिक से अधिक सुविधाजनक बनाया जाए। मोटे तौर पर कहा जा सकता है कि तकनीकी कुशलता के साथ मानवीय पहलुओं से भी भलीभांति परिचित होना इस तरह के काम में सफलता हासिल करने के लिए आवश्यक है।

दायित्व :- मोबाइल ऐप डेवलपर का मुख्य कार्य कंपनियों की ज़रूरत के अनुसार ‘टेलरमेड’ ऐप को विकसित करना है। इसके लिए वे निरंतर कंपनी के अधिकारियों से फीडबैक लेते रहते हैं और उनके अनुरूप सही तरह के ऐप को निर्मित करते हैं। ऐप के कारगर होने की जांच एवं पुष्टि की ज़िम्मेदारी भी उन पर ही होती है। ऐप के क्रियान्वयन में आने वाली किसी भी प्रकार की समस्या का निदान करने के लिए उनकी ही सेवाएं ली जाती हैं।

जॉब्स :- प्रायः मोबाइल ऐप डेवलपिंग के कार्य से जुड़ी कंपनियों में इस क्षेत्र के एक्सपर्ट्स को अपने यहां रखती हैं। कई कम्पनियां सीधे भी अपने ऐप्स को तैयार करने के लिए इन एक्सपर्ट्स को नियुक्त करती हैं। अनुभव और कार्य प्रवीणता के आधार पर कम्पनियों द्वारा इनकी सैलरी तय की जाती है। इस क्षेत्र में फ्रीलांसिंग के ज़रिये कमाई करने के अवसरों की कमी नहीं है।

भावी संभावनाएं:- इंटरनेट के तीव्र गति से बढ़ते प्रयोग ने भी मोबाइल ऐप्स के प्रचार-प्रसार में अहम भूमिका निभाई है। फिलहाल मोबाइल ऐप का का निर्माण काफी महंगा है लेकिन उम्मीद है कि तकनीकी प्रगति और इस क्षेत्र के एक्सपर्ट्स की संख्या में बढ़ोतरी के साथ इस खर्च में कमी आती जायेगी।

दुनियाभर में डिजिटल तकनीक के तेज़ी से बढ़ते प्रभाव को देखते हुए यह कहना गलत नहीं होगा कि आने वाले काफी समय तक मोबाइल ऐप्स के विशेषज्ञों की मांग बनी रहेगी। भारत जैसे विकासशील देश में तो अभी इसकी शुरुआत भर ही है। फिलहाल बहुराष्ट्रीय और शीर्ष देसी कम्पनिया ही मोबाइल ऐप्स का इस्तेमाल कर रही हैं लेकिन वह समय दूर नहीं जब कम नामी कंपनियों को भी स्पर्धा में बने रहने के लिए इस तकनीक का सहारा लेने को बाध्य होना पड़ेगा।

जय दिनेश

वार्ता

More News
मोबाइल ऐप डेवलपर की बढ़ती मांग

मोबाइल ऐप डेवलपर की बढ़ती मांग

26 Apr 2018 | 11:01 AM

नयी दिल्ली, 26 अप्रैल (वार्ता) मोबाइल के दिन प्रतिदिन बढ़ते इस्तेमाल से अब शायद ही कोई ऐसा कार्य क्षेत्र होगा जिसके लिए मोबाइल ऐप नहीं बनाया गया हो। देश-विदेश में हज़ारों एक्सपर्ट्स प्रतिदिन किसी न किसी सेवा अथवा प्रोडक्ट के लिए ऐप का विकास कर रहे हैं। विश्वभर में अरबों लोगों द्वारा मोबाइल का इस्तेमाल किया जा रहा है जिसकी वजह से विभिन्न कंपनियों द्वारा ऐप्स के माध्यम से उपभोक्ताओं और सेवा उपयोगकर्ताओं तक पहुंचना आसान हो गया है।

 Sharesee more..
सिन्ट्रोनेला की खेती से कम लागत में अच्छा मुनाफा

सिन्ट्रोनेला की खेती से कम लागत में अच्छा मुनाफा

18 Apr 2018 | 1:06 PM

नयी दिल्ली 18 अप्रैल (वार्ता) सौंदर्य प्रसाधनों , एंटी सेप्टिक क्रीम तथा सुगंधित रसायनों के निर्माण में काम आने वाली सिन्ट्रोनेला की खेती से कम लागत में अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है जिसे देखते हुये देश में इसकी खेती व्यावसायिक पैमाने पर की जाने लगी है ।

 Sharesee more..
रोगियों ही नहीं किसानों के लिये भी फायदेमंद है अनार

रोगियों ही नहीं किसानों के लिये भी फायदेमंद है अनार

04 Apr 2018 | 12:56 PM

नयी दिल्ली 04 अप्रैल (वार्ता) अपने लाल रंग के कारण देखने में आकर्षक और कई पाेषक तत्व से भरपूर अनार न केवल रोगों से लड़ने में सहायक है बल्कि इसकी खेती करने वाले किसानों के लिये भी यह बहुत फायदेमंद है।

 Sharesee more..
रेलवे भर्ती बोर्ड परीक्षा की कैसे करें तैयारी

रेलवे भर्ती बोर्ड परीक्षा की कैसे करें तैयारी

29 Mar 2018 | 10:59 AM

नयी दिल्ली, 29 मार्च (वार्ता) देश में सरकारी नौकरी पाने की तमन्ना रखने वाले युवाओं में आज भी रेलवे की जॉब्स का आकर्षण बरकरार है। विशेषतौर पर ऐसी स्थितियों में ,जब सरकारी नौकरियां समाप्त होती जा रही हैं और सरकार द्वारा लम्बे समय से खाली पड़े ज्यादातर पदों को या तो समाप्त घोषित कर दिया गया है अथवा उन्हें नहीं भरा जा रहा है ,रेलवे की जॉब्स पाने के महत्त्व को आसानी से समझा जा सकता है।

 Sharesee more..
कृषि में रोजगार की अपार संभावनायें लेकिन युवा बेरुख

कृषि में रोजगार की अपार संभावनायें लेकिन युवा बेरुख

19 Mar 2018 | 6:32 PM

बेंगलुरु 19 मार्च (वार्ता) आर्गेनिक खेती और हेल्दी फूडिंग के बढ़ते प्रचलन के कारण देश के कृषि क्षेत्र में रोजगार की संभावनायें बढ़ी हैं लेकिन युवाओं की इसमें दिलचस्पी काफी घट गयी है।

 Sharesee more..
image