Tuesday, Oct 22 2019 | Time 02:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • यमन में हवाई हमले में चार लोगों की मौत
  • रुस की अदालत ने बांध टूटने के मामले में तीन लोगों को हिरासत में भेजा
  • घाना में कार दुर्घटनाग्रस्त, छह की मौत, 12 घायल
  • बंगाल में एनआरसी लागू नहीं किया जाएगा : ममता
  • आदर्श चुनाव संहिता उल्लंघन मामले में कांग्रेस सांसद जमानत पर छूटे
भारत


यूएनआई ने कर्नाटक में समाचार सेवा पर लगाया अस्थायी विराम

यूएनआई ने कर्नाटक में समाचार सेवा पर लगाया अस्थायी विराम

नयी दिल्ली, 16 जून (वार्ता) देश की प्रमुख संवाद समिति यूनाइटेड न्यूज ऑफ इंडिया (यूएनआई) ने बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका ( बीबीएमपी) की ओर से प्रताड़ित किये जाने और ‘प्रेस पर हमले’ के विरोध में रविवार को कर्नाटक में अस्थायी रूप से अपनी अंग्रेजी और कन्नड समाचार सेवा रोक दी।

बीबीएमपी की ओर से शहर के वसंतनगर स्थित यूएनआई भवन को खाली कराने की लगातार मिल रही धमकियों के परिप्रेक्ष्य में संवाद समिति ने यह कदम उठाया है। बीबीएमपी का कहना है कि जिस जमीन पर यूएनआई का भवन बना हुआ है,उसकी लीज अवधि समाप्त हो गयी है।

बीबीएमपी के एक अधिकारी ने कार्यालय आकर यूएनआई, बेंगलुरू कार्यालय के स्थानीय प्रभारी से कहा कि यदि समाचार एजेंसी स्वत: भवन को खाली करने से इन्कार करेगी तो उसे खाली करा लिया जायेगा।

बेंगलुरु में यूएनआई भवन 1986 में बनाया गया था जिसका उद्घाटन तत्कालीन राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह ने किया था। समाचार एजेंसी हालांकि 2013 में समाप्त हुई लीज अवधि का नवीनीकरण करने का 2010 से ही बीबीएमपी से आग्रह कर रही है लेकिन बीबीएमपी ने राष्ट्रीय संवाद समिति यूएनआई की इस मामले में कोई मदद नहीं की।

इसके विपरीत बीबीएमपी अधिकारियों ने यूएनआई के स्थानीय अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। यूएनआई कर्मियों से कहा गया कि उन्हें कार्यालय से बाहर कर दिया जायेगा। बीबीएमपी ने हालांकि अपने दावे के समर्थन में अब तक कोई उचित नोटिस या कोई सरकारी आदेश पेश नहीं किया है।

इस मसले पर हाल के घटनाक्रमों और बीबीएमपी अधिकारियों के ‘प्रेस विरोधी’ रवैये के विरोध में यूएनआई प्रबंधन ने कर्नाटक में समाचार सेवा अस्थायी रूप से बंद करने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि संवाद समिति ने दिसंबर 2018 में अपनी यूएनआई कन्नड समाचार सेवा शुरू की है जो देश की किसी समाचार एजेंसी की ओर से शुरू की गयी ऐसी पहली सेवा है। यूएनआई कन्नड न्यूज सर्विस प्रिंट और विजुअल मीडिया के साथ-साथ राज्य और केन्द्र सरकार को अपनी सेवायें प्रदान करती है।

इस मामले में कर्नाटक सरकार, मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री और अन्य वरिष्ठ मंत्रियों को अनेक प्रतिवेदन दिये गये हैं लेकिन यूएनआई के आग्रह पर अब तक कोई विचार नहीं किया गया है।

श्रवण जितेन्द्र

वार्ता

More News
भारतीय परिपेक्ष्य में इतिहास लिखने की जरुरत:नायडु

भारतीय परिपेक्ष्य में इतिहास लिखने की जरुरत:नायडु

21 Oct 2019 | 11:32 PM

नयी दिल्ली 21 अक्टूबर (वार्ता) उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने भारतीय भाषाओं की समृद्धि पर जोर देते हुए सोमवार को कहा कि भारत का इतिहास भारतीय परिपेक्ष्य में लिखा जाना चाहिए।

see more..
अश्विनी करेंगे ब्रिक्स स्वास्थ्य सम्मेलन में शिरकत

अश्विनी करेंगे ब्रिक्स स्वास्थ्य सम्मेलन में शिरकत

21 Oct 2019 | 11:16 PM

नयी दिल्ली 21 अक्टूबर (वार्ता)केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ब्राजील के क्यूरीटीबा में ब्रिक्स देशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के नौंवे सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे।

see more..
आरे कॉलोनी मामले में अगली सुनवाई तक यथास्थिति बरकरार

आरे कॉलोनी मामले में अगली सुनवाई तक यथास्थिति बरकरार

21 Oct 2019 | 11:00 PM

नयी दिल्ली 21 अक्टूबर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने मुंबई की आरे कॉलोनी में पेड़ों की कटाई के मामले में यथास्थिति बरकरार रखने का आदेश दिया है।

see more..
महाराष्ट्र, हरियाणा में भाजपा की लहर

महाराष्ट्र, हरियाणा में भाजपा की लहर

21 Oct 2019 | 9:39 PM

नयी दिल्ली 21 अक्टूबर (वार्ता) महाराष्ट्र और हरियाणा के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) दो तिहाई से भी अधिक बहुमत के साथ दोबारा सत्ता में लौटती नजर आ रही है।

see more..
image