Tuesday, Jul 7 2020 | Time 20:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तमिलनाडु में कोरोना के 3616 नये मामले, 65 और की मौत
  • तमिलनाडु में कोरोना मामले 1 18 लाख के पार, मृतकों की संख्या 1636 हुई
  • निर्मली में बनेगा आरपीएफ का नया चेक पोस्ट
  • उत्तर 24 परगना में 14 दिनों का संपूर्ण लाॅकडाउन
  • जौनपुर में तीन पुलिसकर्मियों सहित 11 और कोरोना पॉजिटिव,संख्या 622
  • फिलीपींस में कोरोना के 1540 नये मामले
  • कोरोना काल में एक शादी बन गई स्वास्थ्य विभाग की मुसीबत
  • महाराष्ट्र में कोरोना मामले 2 17 लाख के करीब, रिकवरी दर 54 6 फीसदी
  • महाराष्ट्र में पुलिसकर्मी ने की आत्महत्या
  • चतरा में सैनिक के पिता को पीट-पीट कर किया अधमरा
  • दिल्ली में कोरोना के 2008 नये मामले , मृतक संख्या 3165 पहुंची
  • बहराइच में नल में करंट उतरने से ससुर एवं बहू की मृत्यु,बचाने में बेटा भी झुलसा
  • पश्चिम चंपारण में मोटरसाइकिल और ट्रक की टक्कर में दो की मौत
  • महाराष्ट्र में कोरोना के 5134 रिकॉर्ड नये मामले, 224 और की मौत
  • महाराष्ट्र में कोरोना मामले 2 17 लाख के पार, मृतकों की संख्या हुई 9250
राज्य » अन्य राज्य


राजनीति में कमल हासन का हाल शिवाजी गणेशन जैसा ही होगा: पलानीस्वामी

राजनीति में कमल हासन का हाल शिवाजी गणेशन जैसा ही होगा: पलानीस्वामी

चेन्नई, 12 नवंबर (वार्ता) तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई के पलानीस्वामी ने अन्नाद्रमुक की आलोचना किए जाने पर मक्कल निधि मैयम के संस्थापक और मशहूर अभिनेता कमल हासन पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि राजनीति में उनका हश्र शिवाजी गणेशन की तरह ही होगा।

श्री पलानीस्वामी ने मंगलवार को कहा कि अगर वह यह दावा करते हैं कि राज्य की राजनीति में शून्य पैदा हो गया है तो उन्होंने हाल ही में नांगूनेरी और वीरावांदी सीटों पर हुए उपचुनाव में हिस्सा क्यों नहीं लिया था।

उन्होंने कहा, “ कमल हासन बहुत बड़े अभिनेता हैं और वह यह बताए कि मई में हुए लोकसभा चुनावों में उन्हें कितने वोट मिले थे। फिल्मों में उनके लिए अवसर कम होते जा रहे हैं और इसी वजह से उन्होंने राजनीतिक पार्टी का गठन किया था।”

श्री पलानीस्वामी ने कहा कि श्री हासन यह प्रचार करते हैं कि उन्होंने लोगों के कल्याण के लिए अनेेेक काम किए हैं लेकिन उन्हें बताना चाहिए कि कौन से काम किए गए हैं।

श्री पलानीस्वामी ने कहा,“ हर कोई जानता है कि जब फिल्माें के सुपरस्टार शिवाजी गणेशन ने राजनीतिक पार्टी की शुरुआत कर चुनावों का सामना किया था तो उनका क्या हाल हुआ था और कमल हासन का भी यही हाल हाेगा। कमल हासन को तो यह जानकारी भी नहीं है कि राज्य में कितनी पंचायतें,नगर निगम और नगरपालिकाएं हैं।”

राज्य में पांच हजार करोड़ रुपए की विभिन्न परियोजनाओं में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से कटौती के बारे में एक सवाल के जवाब में श्री पलानीस्वामी ने कहा कि ऐसा जमीन अधिगृहीत करने और इसके स्वामित्व में देरी से हुआ है और यह सब जनता के विरोध तथा जनहित याचिकाओं के चलते हुआ है।

जितेन्द्र.श्रवण

वार्ता

image