Thursday, Feb 20 2020 | Time 15:41 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बस हादसे में मारे गये यात्रियों की मौत पर मोदी ने जताया शोक
  • ट्राईसाईक्लाजोल और बूप्रोफेजिन पर रोक के फैसले को वापस ले सरकार: एसीएफआई
  • हर घर में शुद्ध पेेयजल पहुंचाया जायेगा
  • दिव्या ने जीता स्वर्ण, भारत की झोली में छठा पदक
  • जीव संस्कृति का इस्तेमाल कर होगा प्रवासी प्रजातियों का संरक्षण
  • टाईसाईक्लाजोल और बूप्रोफेजिन पर रोक के फैसले को वापस ले सरकार: एसीएफआई
  • ट्रैक्टर पलटने से चार की मौत दस घायल
  • चिन्मयानंद की जमानत पर रिहाई के खिलाफ पीड़िता पहुंची सुप्रीम कोर्ट, सोमवार को सुनवाई
  • पूर्व मंत्री खुर्शीद अहमद और विधायक उदय लाल को विस में श्रद्धांजलि
  • कांग्रेस ने बागी विधायकों को फिर जनादेश प्राप्त करने की दी चुनौती
  • फसल बीमा प्रीमियम कटौती किसान के पेट पर लात : कांग्रेस
  • श्रीलंका नौसेना की गोलीबारी में भारतीय मछुआरा घायल
  • हरियाणा विस का सत्र चार मार्च तक, बजट 28 फरवरी को
  • निशाना लगाने के लिए शादी से पहले ही लड़कियां दहेज में मांगती है बंदूक
  • एनएमडीसी के सीएमडी बिजनेस लीडरशिप पुरस्कार से सम्मानित
राज्य » राजस्थान


राजस्थान में अच्छे मानसून से बांध लबालब

जयपुर, 20 अगस्त (वार्ता) राजस्थान में अच्छे मानसून के कारण बांधों में पानी की अच्छी आवक हो चुकी है तथा लगभग एक महीने तक मानसून और रहेगा1
बांधों में भराव की स्थिति के बारे में राज्य जल संसाधन आयोजन विभाग के मुख्य अभियंता श्री केडी सांदू ने बताया कि राज्य में 22 बृहद बांध हैं। 20 अगस्त तक इनकी कुल भराव क्षमता 8104 मिलियन क्यूबिक मीटर के विरूद्ध 7085 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी की आवक हुई है। यह कुल भराव क्षमता का 87.4 प्रतिशत है। अब तक कोटा बैराज, माही बजाज सागर, हारो, बीसलपुर, मोरेल, गुढा, सोमकमला अम्बा, जवाहर सागर बांध और जाखम बांध पूर्ण रूप से भर गए हैं। बीसलपुर बांध के लबाबल होने से जयपुर, अजमेर और टोंक के लोगों में काफी हर्ष है।
श्री सांदू ने बताया कि राज्य में कुल 810 बांधों में से 285 बांध पूर्ण रूप से भर गए हैं और 357 बांधों में आंशिक रूप से पानी की आवक हुई है तथा 168 बांध अभी भी रिक्त हैं। राज्य में बांधों की कुल भराव क्षमता का 77.16 प्रतिशत भराव प्राप्त हो चुका है, जबकि इसी समय पर पिछले वर्ष कुल भराव मात्र 46 प्रतिशत ही था।
उन्होंने बताया कि राज्य में कोटा व उदयपुर सम्भागों में स्थित बांधों में सबसे अधिक जल की आवक हुई है, जबकि जयपुर व जोधपुर सम्भाग के बांधों में आवक अपेक्षाकृत कम रही है। कोटा और उदयपुर सम्भागों के बांधों में 80 प्रतिशत से अधिक का भराव प्राप्त हो चुका है ।
राज्य में 20 अगस्त तक की औसत वर्षा 385 मिली मीटर के विरूद्ध 548 मिली मीटर वर्षा हुई है जो कि औसत से लगभग 42 प्रतिशत अधिक है। अब तक की वर्षा के अनुसार राज्य के 8 जिलों में औसत से अत्यधिक, 12 जिलों में औसत से अधिक, 8 जिलों में सामान्य वर्षा और 5 जिलों अलवर, श्री गंगानगर, हनुमानगढ़, जैसलमेर और करौली में औसत से कम वर्षा दर्ज की गई।
पारीक मनोज
वार्ता
image