Thursday, Sep 19 2019 | Time 20:39 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • एसटीएफ ने इनामी हत्यारोपी को प्रयागराज से किया गिरफ्तार
  • झारखंड के बांस कारीगर जाएंगे वियतनाम और चीन : रघुवर
  • कोलकाता एवं जयपुर के बीच साप्ताहिक विशेष ट्रेन
  • नीतीश ने गंगा नदी के बढ़े जलस्तर का किया निरीक्षण, अधिकारियों को अलर्ट रहने का दिया निर्देश
  • एमएसएमई के फंसे हुए कर्ज को अगले वर्ष 31 मार्च तक एनपीए घोषित नहीं किया जायेगा: सीतारमण
  • अपनी रणनीति पर पुनर्विचार करे इस्पात उद्योग : प्रधान
  • बैंककर्मी से लूट मामले में एक गिरफ्तार, 3 40 लाख बरामद
  • सुप्रियो पर वामपंथी छात्रों का हमला,राज्यपाल ने मांगी रिपोर्ट
  • डेरे के महंत की हत्या के आरोप में चेला गिरफ्तार
  • जालौन :बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की स्थिति और अन्य व्यवस्थाओं का अधिकारियों ने लिया जायजा
  • चित्रकूट पुलिस ने मुठभेड़ में किया एक लाख के इनामी डकैत को गिरफ्तार
  • कोलकाता एवं जयपुर के बीच साप्ताहिक विशेष ट्रेन
  • नौसेना को स्कोर्पिन श्रेणी की दूसरी पनडुब्बी खंडेरी मिली
  • हरीश रावत के स्टिंग मामले में सीबीआई कल सौंपेगी जांच रिपोर्ट
  • डी के श्रीवास्तव चुने गये आईडीए के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष
लोकरुचि


राधारमण मंदिर में खूब बही श्रद्धा,भक्ति और संगीत की त्रिवेणी

राधारमण मंदिर में खूब बही श्रद्धा,भक्ति और संगीत की त्रिवेणी

मथुरा, 18 मई (वार्ता) वृन्दावन के सप्त देवालयों में प्राचीन राधारमण मंदिर में शनिवार को श्रद्धा, भक्ति एवं संगीत की त्रिवेणी उस समय प्रवाहित होती रही जब मंदिर के मुख्य विग्रह का दूध, दही, बूरा, शहद, घी, औषधियों, वनौषधियों एवं महाऔषधियों से तीन घंटे से अधिक समय तक अभिषेक किया गया।

मंदिर के मुख्य विगृह का आज प्राकट्योत्सव था तथा इसके लिए पहले मंदिर के सेवायत यमुना तट पर जाकर वहां से यमुनाजल लाकर अभिषेक कार्यक्रम की शुरूआत की। अभिषेक के दौरान देशी विदेशी भक्तों द्वारा अनवरत रूप से जहां हरिनाम संकीर्तन किया गया वहीं मंदिर का जगमोहन वैदिक मंत्रों की मधुर घ्वनि से गुंजायमान होता रहा।

मंदिर के सेवायत आचार्य दिनेश चन्द्र गोस्वामी ने बताया कि अभिषेक कार्यक्रम समाप्त होने के बाद मुख्य विगृह के काजल लगाना, यज्ञोपवीत धारण कराना,राई लोन उतारना आदि कार्यक्रम उसी प्रकार सम्पन्न हुए जिस प्रकार एक नवजात शिशु के जन्म पर किये जाते हैं।

इस कार्यक्रम का जहां वह अंश महत्वपूर्ण था जिसमें अभिषेक के बाद गोस्वामीगणों ने वात्सल्य भाव से नन्दबाबा के रूप में कान्हा को दीर्घ आयु का आशीर्वाद दिया वहीं वह अंश भी अति महत्वपूर्ण था जहां श्रंगार के बाद गोस्वामियों ने दास्य भाव से ठाकुर से प्रार्थना की कि उनके चरणों में उनकी यानी गोस्वामियों की अनवरत भक्ति बनी रहे।

उन्होंने बताया कि राधारमण मंदिर का मुख्य श्री विगृह स्वयं प्राकट्य होने के कारण चमत्कारी है। नेपाल की गंडकी नदी में स्नान के दौरान गोपाल भट्ट गोस्वामी को यह मूल विगृह आकाशवाणी होने के बाद प्राप्त हुआ था। चैतन्य महाप्रभु साक्षात राधारमण महराज हैं जिसके अंतःकरण में कृष्ण और वाह्य परिकर में राधारानी विराजमान हैं।

गोस्वामी दिनेशचन्द्र के अनुसार लाला को गर्मी न लगे इसलिए राजभोग आरती घी की बत्ती की जगह फूलों से की गई तथा दूसरे चरण की सेवा में ठाकुर के लिए भव्य फूल बंगला बनाकर 56 भोग ठाकुर को अर्पित किया गया था। आज ठाकुर को तिल एवं गुड़ का विशेष भोग वर्ष में एक बार ही लगाया गया।

सेवा के दोनो ही चरणों में ठाकुर ने जगमोहन में विराजमान होकर भक्तों को जहां दर्शन दिया वहीं मंदिर में दिन भर भक्ति रस की गंगा में हजारों भक्तों ने अवगाहन किया।

सं प्रदीप

वार्ता

More News
मथुरा में अनन्त चतुर्दशी पर 12 सितम्बर को होगा प्रथम छप्पन भोग महोत्सव

मथुरा में अनन्त चतुर्दशी पर 12 सितम्बर को होगा प्रथम छप्पन भोग महोत्सव

08 Sep 2019 | 2:24 PM

मथुरा, 08 सितम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के मथुरा में इस वर्ष का प्रथम छप्पन भोग महोत्सव अनन्त चतुर्दशी के अवसर पर 12 सितंबर को गिर्राज जी की तलहटी में आयोजित किया जा रहा है।

see more..
राधारानी का मंदिर खुलने पर सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने किए दर्शन

राधारानी का मंदिर खुलने पर सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने किए दर्शन

06 Sep 2019 | 3:32 PM

विदिशा, 06 सितंबर (वार्ता)मध्यप्रदेश के विदिशा में वर्ष भर के इंतजार के बाद राधाष्टमी पर आज राधारानी मंदिर के पट खुलने पर सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने दर्शन किए।

see more..
राधाष्टमी की पूर्व संध्या पर बरसाना में श्रद्धालुओं का रेला

राधाष्टमी की पूर्व संध्या पर बरसाना में श्रद्धालुओं का रेला

05 Sep 2019 | 2:26 PM

मथुरा, 5 सितंबर (वार्ता) राधाष्टमी पर वैसे तो ब्रज का कोना कोना राधामय हो जाता है पर राधारानी की क्रीडास्थली होने के कारण बरसाना में तीर्थयात्रियों का जमघट लग जाता है। राधाष्टमी छह सितंबर को इस बार मनाई जा रही है।

see more..
जख्मी और बेसहारा पशुओं की मदर टेरेसा हैं झांसी की निर्मला वर्मा

जख्मी और बेसहारा पशुओं की मदर टेरेसा हैं झांसी की निर्मला वर्मा

04 Sep 2019 | 2:51 PM

झांसी 04 सितम्बर (वार्ता) “ मदर टेरेसा” एक ऐसा नाम जिसके सामने में आते ही असीम ममता और मानव सेवा की भावना से परिपूर्ण एक ऐसी महिला की छवि जहन में उभरती है जिसने नि:स्वार्थ भाव से अपना पूरा जीवन लोगों की मदद में गुजार दिया।

see more..
इटावा सफारी के लिये करना होगा इंतजार

इटावा सफारी के लिये करना होगा इंतजार

02 Sep 2019 | 6:34 PM

इटावा, 02 सितम्बर (वार्ता) चंबल की छवि बदलने को बेताब इटावा सफारी पार्क का दीदार के लिये दर्शकों को अभी और इंतजार करना पड़ सकता है।

see more..
image