Saturday, Aug 8 2020 | Time 23:08 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बटलर और वोक्स के जांबाज अर्धशतकों से जीता इंग्लैंड
  • जीतू पटवारी के ट्वीट को लेकर विवाद, भाजपा ने अपनाया आक्रामक रुख
  • औरंगाबाद में कोरोना के 377 नये मामले, 13 की मौत
  • झारखंड में मिले 926 नये कोविड पॉजिटिव, संक्रमितों की संख्या 17 हजार के पार
  • कोझिकोड हवाई अड्डे से जुड़े मसलों का समाधान कर लिया गया था: पुरी
  • कोविड काल में व्यापारियों की राहत के लिए माल भाड़े में छूट
  • नागपुर में कोरोना के 659 नये मामले, 23 की मौत
  • कोरोना मामले साढ़े 21 लाख के पार, पौने 15 लाख से अधिक स्वस्थ
  • छत्तीसगढ़ में मिले 385 नए संक्रमित मरीज,तीन की मौत
  • संजय दत्त की तबीयत खराब, लीलीवती अस्पताल में भर्ती
  • औरंगाबाद में प्रेमी युगल की चाकू मारकर हत्या
  • राजस्थान में 1171 नये कोरोना संक्रमित, 11 और लोगों की मौत
  • सोमालिया में आत्मघाती विस्फोट से आठ मरे , 14 घायल
  • ओडिशा में निजी अस्पतालों को कोरोना मरीजों का इलाज के निर्देश
खेल


रानी के संघर्ष और उपलब्धि से मिलती है उम्मीद: राजविंदर

रानी के संघर्ष और उपलब्धि से मिलती है उम्मीद: राजविंदर

नयी दिल्ली, 07 जुलाई (वार्ता) भारत की सीनियर महिला हॉकी टीम में जगह बनाने के लिये बेताब पंजाब के नौशेहरा की राजविंदर कौर ने कहा कि उन्होंने भारतीय कप्तान रानी के संघर्ष से प्रेरणा ली है।

राजविंदर के पिता ऑटोरिक्शा चालक और मां गृहणी हैं। ऐसे में उनका जीवन में काफी संघर्षपूर्ण रहा है। उन्होंने कहा, “मैं एथलीट बनना चाहती थी। मैं दौड़ने में तेज थी लेकिन जब मैं नौवीं कक्षा में पढ़ रही थी तब मेरी सीनियर ने मुझे हॉकी खेलने की सलाह दी और तब मैंने उनकी बात पर अमल भी किया।”

उन्होंने कहा, “मुझे वर्ष 2017 में सीनियर राष्ट्रीय शिविर से जुड़ने का मौका मिला जहां मैंने कई शीर्ष खिलाड़ियों से बातचीत की। हर कोई मुश्किल परिस्थितियों से निकलकर यहां तक पहुंचा है और हर किसी की निजी कहानी प्रेरणादायी है लेकिन रानी जब युवा थी तब उनका संघर्ष और उपलब्धियां देखकर मेरे मन में भी आगे बढ़ने की उम्मीद जगी।” राजविंदर वर्ष 2017 के बाद से सीनियर राष्ट्रीय कोर संभावित समूह में नियमित होने के बाद धैर्यपूर्वक अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने का इंतजार कर रही हैं।

राजविंदर की तेजी और स्ट्राइकर के रूप में उनकी क्षमता को देखकर 2015 में घरेलू टूर्नामेंटों के दौरान राष्ट्रीय चयनकर्ताओं का ध्यान उनकी तरफ गया। इसके बाद उन्हें जूनियर राष्ट्रीय शिविर के लिये चुना गया और उन्हें 2016 में मलेशिया में अंडर-18 एशिया कप में खेलने का मौका मिला।

उन्होंने कहा, “जब मैंने 18 सदस्यीय टीम में अपना नाम नहीं देखा तो मुझे निराशा हुई, लेकिन मुझे पता है कि मेरे पास अभी भी बहुत समय है और मुख्य कोच शुअर्ड मरिने मेरी कमियों को रेखांकित करते हुए मुझे उचित सलाह देते हैं और मुझे उन कमियों को दूर करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।”

शुभम राज

वार्ता

More News
भारत के साथ बॉक्सिंग डे टेस्ट को एमसीजी में कराने की कोशिश करेंगे: सीए

भारत के साथ बॉक्सिंग डे टेस्ट को एमसीजी में कराने की कोशिश करेंगे: सीए

08 Aug 2020 | 9:42 PM

मेलबोर्न, 08 अगस्त (वार्ता) क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के अंतरिम मुख्य कार्यकारी अधिकारी निक होक्ली ने कहा है कि बोर्ड भारत के खिलाफ बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच को मेलबोर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजे) में कराने का हरसंभव प्रयास करेगा।

see more..
अगर मौका मिले तो फिर केकेआर के लिए खेलना चाहूंगा: भाटिया

अगर मौका मिले तो फिर केकेआर के लिए खेलना चाहूंगा: भाटिया

08 Aug 2020 | 9:31 PM

नयी दिल्ली, 08 अगस्त (वार्ता) पूर्व रणजी और आईपीएल खिलाड़ी रजत भाटिया का कहना है कि अगर उन्हें मौका मिले तो वह एक बार फिर आईपीएल टीम कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के लिए खेलना चाहेंगे।

see more..
कप्तान मनप्रीत सहित 5 हॉकी खिलाड़ी कोरोना से संक्रमित, साई की विशेष निगरानी

कप्तान मनप्रीत सहित 5 हॉकी खिलाड़ी कोरोना से संक्रमित, साई की विशेष निगरानी

08 Aug 2020 | 9:23 PM

नयी दिल्ली, 08 अगस्त (वार्ता) भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह सहित टीम के पांच खिलाड़ी बेंगलुुरु स्थित ट्रेनिंग शिविर में कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

see more..
image