Thursday, Apr 2 2020 | Time 22:10 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मध्यप्रदेश में कोरोना मरीज की संख्या 107 हुयी, अब तक आठ की मौत
  • गुजरात में कोरोना वायरस संक्रमण का एक नया मामला
  • कोरोना: देश में संक्रमितों की संख्या दो हजार के पार
  • महाराष्ट्र में कोरोना से 19 की मौत, 416 संक्रमित
  • दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण मामले 293 हुए
  • जम्मू-कश्मीर में 4-जी इंटरनेट सेवा बहाली की अर्जी सुप्रीम कोर्ट में दायर
  • मोदी ने की प्रिंस चार्ल्स, अंगेला मर्केल से की बात
  • नीतीश ने बिहार के बाहर फंसे लोगों के खाते में हजार रुपये भेजने का दिया निर्देश
  • भारतीय फील्डिंग कोच श्रीधर ने दी चार लाख की मदद
  • भारतीय फील्डिंग कोच श्रीधर ने दी चार लाख की मदद
  • गुजरात में पेंशन के 221 करोड़ रुपए खातों में जमा
  • आईएमए ने जिला प्रशासन से सहयोग करने का दिया आश्वासन
  • नीतीश ने कोरोना जंग जीतने वाले तीन लोगों को दी बधाई
  • निजामुद्दीन क्षेत्र में मार्च में मौजूद थे असम के 700 से अधिक लोग
  • मध्यप्रदेश में कोरोना मरीज की संख्या 107 हुयी, अब तक आठ की मौत
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


रामलला जहां विराजमान वहीं पर मंदिर बनेगा: गोपाल दास

रामलला जहां विराजमान वहीं पर मंदिर बनेगा: गोपाल दास

ग्वालियर, 21 फरवरी (वार्ता) राम जन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष एवं वर्तमान मंदिर ट्रस्ट के मनोनीत अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास महाराज ने आज कहा है कि अयोध्या में रामलला जहां विराजमान है वहीं पर शीघ्र राममंदिर का निर्माण शुरू होगा।

महंत गोपाल दास यहां पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि मंदिर निर्माण के लिये अगली बैठक अब अयोध्या में होगी। उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिले हैं। उनसे मंदिर की शुरूआत करने का आग्रह किया गया है। उन्होंने कहा कि भूमि पूजन, शिलापूजन तो पहले ही हो चुका है। एक से छह माह के भीतर निर्माण प्रारंभ हो जायेगा। उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण के लिये जो पहले नक्शा बनाया गया था उसी में थोडा बहुत परिवर्तन कर मंदिर का निर्माण किया जायेगा।

ट्रस्ट में शामिल होने को लेकर विवाद की बातें सामने आने के बारे में पूछे जाने पर महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा कि इसमेें कोई विवाद नहीं है। यह सब व्यर्थ की बातें हैं। उन्होंने कहा कि अगली बैठक अयोध्या में होगी उसमें निर्मोही और दिगंबर अखाडों का भी उचित सम्मान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट द्वारा जो निर्धारित किया जायेगा वही होगा।

उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण के समय प्रधानमंत्री के साथ अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भी बुलाया जायेगा। इस अवसर पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को आमंत्रित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस कार्य में जो भी तन, मन धन से सहयोग करेगा और धार्मिक रूचि रखते हैं उन सभी को बुलाया जायेगा।

महंत ने कहा कि चंदे से मंदिर निर्माण कराने की बात ही नहीं है। भगवान के नाम पर जो देगा उसे स्वीकार किया जायेगा। इस अवसर पर सांसद ग्वालियर विवेक शेजवलकर उपस्थित थे।

सं नाग

वार्ता

image