Wednesday, Dec 11 2019 | Time 16:39 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • टोक्यो ओलंपिक में रूसी एथलीटों का विरोध करेंगे अमेरिकी
  • पूरे देश में शिक्षा प्रणाली एक जैसी हो: योगी
  • 250 नये स्टोर खोलेगी जेनेरिक दवा विक्रेता कंपनी मेडिकार्ट
  • गुजरात पाठ्य पुस्तक मंडल के गोदाम से 42 लाख के पुस्तक गायब
  • श्रीनगर हवाई अड्डे पर उड़ानें पांचवे दिन भी स्थगित
  • सरकार की नीतियों के विरुद्ध 14 दिसम्बर को कांग्रेस की रैली
  • वकीलों का पीआईसी में उत्पात: चार मरीजों की मौत
  • पीएसएलवी का मिशन-50, नौ सैटेलाइट का सफल प्रक्षेपण
  • पैंथर्स को मात देकर गुजरात पहले स्थान पर
  • पैंथर्स को मात देकर गुजरात पहले स्थान पर
  • अजमेर में भाषा शिक्षण पर तीन दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन शुरु
  • राजस्थान सरकार के सहरिया क्षेत्र में पांच प्रतिशत आरक्षण को मंजूरी सहित कई अह्म फैसले
  • संस्कृत विश्वविद्यालय विधेयक लोकसभा में पेश
  • पीएसएलवी ने पचासवीं उड़ान में पीएसएलवी सी48 समेत नौ सेटेलाइट का सफलतापूर्वक किया प्रक्षेपण
  • सीएबी के खिलाफ त्रिपुरा, असम में प्रदर्शन से जनजीवन पर असर
मनोरंजन


राष्ट्रपिता गांधी की फिल्म बनी आकर्षण का केंद्र

पणजी, 21 नवंबर (वार्ता) राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वें जयंती वर्ष में उनपर बनी फिल्मों की डिजिटल प्रस्तुति समेत कई अनोखी डिजिटल कृतियाँ यहाँ चल रहे 50वें अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह में विशेष आकर्षण का केंद्र बनी है।
सूचना प्रसारण के सचिव अमित खरे और प्रसिद्ध फ़िल्म निर्माता सुभाष घई ने इस प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। राष्ट्रीय अभिलेखागार और सूचना प्रसारण द्वारा आयोजित इस प्रदर्शनी में सिनेमा के उद्भव विश्व सिनेमा और भारतीय सिनेमा के इतिहास के अतिरिक्त फ़िल्म समारोहों का इतिहास भी डिजिटल माध्यम से बहुत ही रोचक तरीके से बताया गया है और उसमे मल्टी मीडिया के माध्यम से तैयार किया गया है।
श्री खरे ने प्रदर्शनी का उद्घाटन करते हुए कहा कि आज की नई पीढ़ी अब इतिहास को डिजिटल माध्यम से जानना चाहती उसे ध्यान में रखते हुए हमने यह प्रदर्शनी तैयार की है ताकि आज लोग इस तरह भारतीय सिनेमा और अन्य भारतीय भाषाओं की फिल्मों के बारे में जानकारी मिल सके। आज जमाना टेक्नोलॉजी और नवाचार का है। इसका इस्तेमाल इस प्रदर्शनी में किया गया है। मसलन इसमे ऐसे मंडप बने है कि आप उसके भीतर खडे होकर हाथ हिलाए या मुस्कराए या कोई भाव भंगिमा व्यक्त करें तो स्वतः की आपकी फिल्म बन जाएगी। एक मण्डप में आप खड़े हों तो आपकी बारिश में भेजती हुई तस्वीर स्क्रीन पर दिखाई देगी यानी अब बारिश की शूटिंग के लिए बारिश की जरूरत नही। यह सब काम इस प्रदर्शनी में बखूबी दिखाया गया है। इस प्रदर्शनी में 17 इंस्टालशन्स हैं जिनमे सिनेमा का उद्भव और उसका विकड बताया गया है। इसमे मुख्यद्वार पर एलईडी का एक प्रवेश द्वार है। पुरानी फिल्मों के दुर्लभ पोस्टर स्वर्ण मयूर पुरस्कार विजन के फोटो के अलावा दर्शक खुद पुरस्कार लेते हुए अपनी तस्वीर को खिंचवा सकते है। 360 डिग्री का एक डिजिटल जोन है जिसमे खड़े होने पर आपकी फोटो मेल से आ जायेगी।
अरविंद, शोभित
वार्ता
More News
वजन घटाने वाली दवाओं का विज्ञापन नही करेंगी समीरा रेड्डी

वजन घटाने वाली दवाओं का विज्ञापन नही करेंगी समीरा रेड्डी

11 Dec 2019 | 12:02 PM

मुंबई 11 दिसंबर (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री समीरा रेड्डी ने वजन घटाने वाली दवाओं के विज्ञापन करने से इंकार कर दिया है।

see more..

11 Dec 2019 | 12:01 PM

see more..
बहुत सोच-समझ कर फिल्में बनायेंगी दीपिका

बहुत सोच-समझ कर फिल्में बनायेंगी दीपिका

11 Dec 2019 | 11:55 AM

मुंबई 11 दिसंबर (वार्ता) बॉलीवुड की डिंपल गर्ल दीपिका पादुकोण का कहना है कि वह बहुत सोंच-समझ कर फिल्मों का निर्माण करेंगी।

see more..
पेप्सी के लिये कैंपेन करेंगे सलमान खान!

पेप्सी के लिये कैंपेन करेंगे सलमान खान!

11 Dec 2019 | 11:34 AM

मुंबई 11 दिसंबर (वार्ता) बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान खान पेप्सी के लिये कैंपेन करने जा रहे हैं।

see more..
अपने रचित गीतों से देश भक्ति के जज्बे को बुंलद किया कवि प्रदीप ने

अपने रचित गीतों से देश भक्ति के जज्बे को बुंलद किया कवि प्रदीप ने

10 Dec 2019 | 1:26 PM

( पुण्यतिथि 11 दिसंबर ) मुंबई10 दिसंबर (वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में वीरों को श्रद्धांजलि देने के लिये कई गीतों की रचना हुयी है लेकिन देश प्रेम की भावना से ओप प्रोत रामचंद्र द्विवेदी उर्फ कवि प्रदीप के ‘ऐ मेरे वतन के लोगों जरा आंखो मे भर लो पानी ,जो शहीद हुये हैं उनकी जरा याद करो कुर्बानी’गीत बेमिसाल है।

see more..
image