Sunday, Jul 5 2020 | Time 15:11 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हर्षवर्धन ने गुरुपूर्णिमा पर दी बधाई
  • देश में चार लाख से अधिक मरीज कोरोना संक्रमण मुक्त;रिकवरी दर 60 77 प्रतिशत
  • भूपेश बताए,रोजगार के लिए उनके ब्लू प्रिंट का क्या हुआ - रमन
  • बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट हमला विफल
  • इथियोपिया में दंगों में 166 लोगों की मौत
  • पुलिसकर्मियों की शहादत योगी सरकार की विफलता का परिणाम
  • मुरादाबाद में लुटेरों ने एटीएम से 16 लाख से ज्यादा लूटे
  • आवेश में आकर नहीं, सोच-समझकर की थी बेटी की हत्या
  • पंद्रहवें वित्त आयोग की बैठकें और वार्ताएं जियोमीट ऐप पर करने पर विचार:सिंह
  • कोरोना वैक्सीन लांच पर आईसीएमआर ने दी सफाई
  • अफगानिस्तान में पांच तालिबान आतंकवादी ढेर, आठ घायल
  • कोलकाता में आग से दो महिलाओं की मौत, बड़ा बाजार में भी लगी आग
  • पेरू में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 99 लाख के पार
  • टीएमसी ने निजी अस्पतालों के बिलों की जांच के लिए ऑडिटर टीम का गठन किया
  • हरियाणा में 142 नये मामले, 236 मरीज हुए ठीक
बिजनेस


विनिवेश का विरोध करेंगी महारत्न कंपनियाँ, अधिकारी संगठन

नयी दिल्ली 22 नवंबर (वार्ता) भारत पेट्रोलियम की पूरी हिस्सेदारी बेचने के मंत्रिमंडल के फैसले को गलत बताते हुये सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणनियों के अधिकारियों के संगठन और महारात्न कंपनियों के परिसंघ ने विरोध करने का फैसला किया है।
फेडरेशन ऑफ ऑल पीएसयू ऑफिसर्स (फोपो) और महारत्न कंपनी परिसंघ (कॉमको) की शु्क्रवार को यहाँ हुई संयुक्त बैठक में कहा गया, “यह फैसला गलत, पीछे की लौटने वाला और लोगों के खिलाफ है। बिना हिस्सेदारी बेचे या प्रबंधन स्थानांतरित किये पैसे जुटाने के वैकल्पिक उपायों पर विचार किये बिना यह फैसला किया गया।”
दोनों संगठनों की संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि लाभ कमा रही सार्वजनिक कंपनियों में विनिवेश के मंत्रिमंडल के फैसले के गुण-दोषों पर विचार करने के बाद कॉमको और फोपो ने सरकार के फैसले का पुरजोर विरोध करने का निर्णय लिया है।
उल्लेखनीय है कि मंत्रिमंडल की 20 नवंबर को हुई बैइक में भारत पेट्रोलियम में सरकार की पूरी 53.29 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। चार अन्य सार्वजनिक कंपनियों में भी विनिवेश् की मंजूरी दी गयी।
प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि सार्वजनिक कंपनियों ने सरकार की योजनाओं को लागू करने में पूर्व में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है। ये काफी दक्ष और मुनाफा कमाने वाली कंपनियाँ हैं। विनिवेश के फैसले से वर्षों में बना विश्वास और काम करने की भावना समाप्त हो जायेगी।
अजीत आशा
वार्ता
More News
रिलायंस ‘जियोमीट’ जूम से बेहतर: अमिताभ कांत

रिलायंस ‘जियोमीट’ जूम से बेहतर: अमिताभ कांत

05 Jul 2020 | 1:55 PM

नयी दिल्ली, 05 जुलाई (वार्ता) नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत ने रिलायंस जियो के वीडियो कांफ्रेंसिंग ऐप '‘जियोमीट’ की प्रशंसा करते हुए इसे ‘जूम’ से बेहतर बताया है।

see more..
लगातार छठे दिन स्थिर रहे पेट्रोल-डीजल के दाम

लगातार छठे दिन स्थिर रहे पेट्रोल-डीजल के दाम

05 Jul 2020 | 11:57 AM

नयी दिल्ली 05 जुलाई (वार्ता) पेट्रोल और डीजल के दाम रविवार को लगातार छठे दिन स्थिर रहे।

see more..
image