Saturday, Dec 7 2019 | Time 07:16 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • झारखंड में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच दूसरे चरण का मतदान शुरू
  • ईरान ने जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका पर साधा निशाना
  • किंग सलमान ने अमेरिका के साथ सहयोग का दिया निर्देश
  • ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया समाप्त की जाय: व्हाइट हाउस
  • बगदाद में प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी, 16 की मौत, 47 घायल
  • बगदाद में गोलीबारी में पांच प्रदर्शनकारियों की मौत
खेल


विलियम्सन से प्रभावित शास्त्री

विलियम्सन से प्रभावित शास्त्री

नयी दिल्ली, 17 जुलाई (वार्ता) भारतीय क्रिकेट टीम के प्रमुख कोच रवि शास्त्री ने विश्वकप की उपविजेता टीम न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन के शांत और संयम व्यवहार की प्रशंसा की है।

न्यूजीलैंड से सेमीफाइनल में हारने के बाद भारतीय क्रिकेट टीम खिताबी मुकाबले से बाहर हो गयी थी। लेकिन लगातार दूसरे संस्करण में कीवी टीम को उपविजेता की ट्रॉफी से संतोष करना पड़ा। हैरानी की बात यह रही कि इस बार विश्वकप में न केवल 50 ओवर के निर्धारित खेल बल्कि सुपर ओवर में भी दोनों टीमें बराबरी पर रही थीं और केवल अधिक बाउंड्री के दम पर इंग्लैंड विजेता घोषित हो गया।

अाईसीसी के इस विवादास्पद नियम के बावजूद विलियम्सन ने विपक्षी इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन से हाथ मिलाकर उन्हें पहली बार विश्व विजेता बनने पर बधाई दी। दुनियाभर में इस परिणाम पर हैरानी जताई गयी है और न्यूजीलैंड की बराबरी से प्रशंसा हुई है। इसमें भारतीय कोच शास्त्री भी पीछे नहीं रहे जिन्होंने कीवी टीम के कप्तान के संयम और उनके बड़प्पन की तारीफ की है।

शास्त्री ने ट्विटर पर विलियम्सन के लिये लिखा,“ आपका संयम और बड़प्पन अविश्वसनीय है।” भारतीय कोच ने विलियम्सन की इसलिये भी अधिक सराहना की कि आईसीसी के नियम को लेकर हो रहे हो हल्ले और विवाद के बीच भी उन्होंने शांति से अपनी हार स्वीकार की और किसी तरह का कोई सवाल नहीं उठाया।

उन्होंने कहा,“ आपका पिछले 48 घंटों में संयम और चुप्पी कमाल का है। हम जानते हैं कि तुम्हारा एक हाथ उस विश्वकप पर था। आप केवल केन नहीं हो। आप कर सकते हो। गॉड ब्लेस।”

आईसीसी विश्वकप फाइनल के परिणाम पर दुनियाभर में चर्चा हो रही है लेकिन कीवी टीम के कप्तान ने इस पर कोई विवाद नहीं किया है। ओवर थ्रो के सवाल पर भी उन्होंने कहा,“ मैं इस तरह के किसी नियम से वाकिफ नहीं था। आपको अंपायरों पर विश्वास करना होता है। हमें नहीं पता था कि स्थिति यहां तक पहुंचेगी कि हम किसी बाउंड्री नियम के बारे में बात कर रहे होंगे। यह नियम तो पहले से ही बने हैं।”

 

More News
कूच बिहार: पहले दिन गेंदबाजों का जलवा

कूच बिहार: पहले दिन गेंदबाजों का जलवा

06 Dec 2019 | 11:41 PM

कानपुर 06 दिसम्बर (वार्ता) कृतज्ञ सिंह (14 रन पर तीन विकेट) और पूर्नांक त्यागी (43 रन पर तीन विकेट) के कातिलाना प्रदर्शन के दम पर मेजबान उत्तर प्रदेश ने कूच बिहार ट्राफी के पहले दिन शुक्रवार को राजस्थान की पहली पारी को 167 रनों पर समेट दिया और बाद में समीर रिजवी (62 नाबाद) के सराहनीय योगदान की बदौलत चार विकेट खोकर 103 रन बना लिये।

see more..
फेडरेशन खो-खो टीमों के प्रत्येक खिलाड़ी को देगा 5-5 लाख

फेडरेशन खो-खो टीमों के प्रत्येक खिलाड़ी को देगा 5-5 लाख

06 Dec 2019 | 11:41 PM

नयी दिल्ली, 06 दिसम्बर (वार्ता) केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने नेपाल में आयोजित 13वें दक्षिण एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पुरुष और महिला खो-खो टीमों को सम्मानित किया है जबकि भारतीय खो-खो महासंघ के अध्यक्ष सुधांशु मित्तल ने प्रत्येक खिलाड़ी को पांच-पांच लाख रुपये का नगद पुरस्कार देने की घोषणा की है।

see more..
भारत के दक्षिण एशियाई खेलों में 100 स्वर्ण के करीब

भारत के दक्षिण एशियाई खेलों में 100 स्वर्ण के करीब

06 Dec 2019 | 11:41 PM

काठमांडू, 06 दिसंबर (वार्ता) दक्षिण एशियाई खेलों की महाशक्ति भारत ने इन खेलों में १०० स्वर्ण पदक पूरे करने के करीब पहुंच गया है। भारत ने इन खेलों में शुक्रवार तक 90 स्वर्ण, 61 रजत और 27 कांस्य पदक जीत चुका है। भारत के 178 पदक हो गए हैं।

see more..
पीसीए ने अजय मेहरा और राकेश संघी का सम्मान किया

पीसीए ने अजय मेहरा और राकेश संघी का सम्मान किया

06 Dec 2019 | 9:29 PM

चंडीगढ़, 06 दिसंबर (वार्ता) पंजाब क्रिकेट संघ (पीसीए) ने पंजाब के पूर्व रणजी खिलाड़ी अजय मेहरा और सांख्यिकीविद दिवंगत राकेश संघी का सम्मान किया।

see more..
भारत ने बैडमिंटन में जीते 6 स्वर्ण सहित 10 पदक

भारत ने बैडमिंटन में जीते 6 स्वर्ण सहित 10 पदक

06 Dec 2019 | 9:29 PM

पोखरा, 06 दिसंबर (वार्ता) भारत ने 13वें दक्षिण एशियाई खेलों की बैडमिंटन प्रतियोगिता में अपनी श्रेष्ठता साबित करते हुए पुरुष और महिला एकल खिताब सहित कुल छह स्वर्ण पदक जीत लिए। भारत ने छह स्वर्ण, दो रजत और दो कांस्य पदक सहित कुल 10 पदक जीते। भारत ने व्यक्तिगत मुकाबलों से पहले टीम स्पर्धा में भी दोनों स्वर्ण जीते थे।

see more..
image