Monday, Sep 21 2020 | Time 15:56 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बीसीसीआई को नया नियम लाना चाहिएः प्रीति जिंटा
  • बिजली विधेयक से राज्य सरकारों के मुफ्त बिजली कार्यक्रम प्रभावित होंगे: एआईपीईएफ
  • कर्नाटक में भद्रावती के विधायक कोरोना पॉजिटिव
  • जम्मू के सरकारी स्कूलों से विद्यार्थी नदारद
  • हालेप और प्लिसकोवा में ताज के लिए होगी भिड़ंत
  • हालेप और प्लिसकोवा में ताज के लिए होगी भिड़ंत
  • कृषि विधेेयक : कांग्रेस ने किया प्रदर्शन
  • कोरोना संक्रमितों को 30 मिनट में चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराएगा राज्य स्तरीय वॉर रुम-ड़ा शर्मा
  • नए कृषि सुधारों ने किसानों को ताकतवर गिरोहों से दिलाई आजादी : मोदी
  • यूएनजीए के लिए पुतिन का वीडियो संदेश पहले ही न्यूयॉर्क भेज दिया गया :क्रेमलिन
  • चेन्नई सर्राफा के भाव
  • मंडी और एमएसपी रहेगा, केवल कांग्रेस समेत विपक्षी दलों के झूठ की पोल खुलेगी: धनखड़
  • चीन ने समुद्री पर्यावरण पर निगरानी रखने के लिए नयी सेटेलाइट लॉन्च की
  • नई शिक्षा नीति कश्मीर के युवाओं का भविष्य निर्माण करेगी:डॉ निशंक
  • एमवे इंडिया ने मनाया राष्ट्रीय पोषण सप्ताह
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


सरकार शिक्षण संस्थानों मेंं सुधार के लिये प्रयासरत

चंडीगढ़, 09 दिसंबर(वार्ता) हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने कहा है कि राज्य सरकार अपने उच्चतर शिक्षा विभाग के संस्थानों में निरंतर सुधार के कदम उठाते हुए अगले वर्ष तक सभी राजकीय महाविद्यालयों को नैक(नेशनल एसेसमैंट एंड एक्रिडेशन कांऊसिल) से एक्रिडेशन करवाने के लिए संकल्पबद्ध है और इसके लिए एक योजना तैयार की गई है।
उन्होंने आज यहां कहा कि इन संस्थानों को एनआईआरएफ (नेशनल इंस्टीट्यूशनल रेंकिंग फ्रेमवर्क) से भी प्रमाणपत्र लेने की दिशा में ठोस प्रयास किए जा रहे हैं। उच्चतर शिक्षा विभाग प्रदेश के सभी उच्चतर शैक्षिक संस्थानों में समग्र सुधार की दिशा में कार्य कर रहा है और वर्तमान स्थिति में अभूतपूर्व परिवर्तन करने के लिए प्रयासरत है। विभाग ने ‘प्रयास’ नामक पोर्टल भी लांच किया है जो शैक्षिक संस्थानों की खामियों की पहचान करके उनको दुरूस्त करने में सहायता करेगा। इससे राजकीय महाविद्यालयों को नैक तथा एनआईआरएफ से मान्यता दिलवाने में मदद मिलेगी।
श्री पाल ने बताया कि ‘प्रयास’ पोर्टल की ग्रेडिंग में जहां 9 सरकारी महाविद्यालयों को ‘ए-प्लस’ ग्रेड, 24 महाविद्यालयों को ‘ए’ तथा 30 महाविद्यालयों को ‘बी-प्लस’ ग्रेड दिया गया है, सुधार की ओर यह एक सकारात्मक कदम माना जा रहा है। सरकार की कोशिश है कि वर्ष 2020 तक राज्य के सभी राजकीय महाविद्यालय नैक-ग्रेड हासिल कर सकें तथा साथ ही देश के टॉप-100 संस्थानों में से हरियाणा के कम से कम 5 संस्थान एनआईआरएफ का प्रमाण-पत्र लेने में भी सफल हो सकें।
शर्मा
वार्ता
image